पहले ही टूटने लगा है कीवी टीम का वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप टाइटल डिफेंड करने का सपना

नई दिल्लीः जब न्यूजीलैंड की टीम ने पिछले साल भारत को हराकर वर्ल्ट टेस्ट चैम्पियनशिप जीती थी तब सबको लगा था कि यह एक ऐसी टीम को ईनाम मिला है जिसने क्रिकेट में पिछले कई सालों से बहुत मेहनत करके खुद को काफी आगे उठाया था।

दरअसल तब कीवियों का टेस्ट मैचों में आधिपत्य इस फैक्ट पर भी टिका था कि वे अपने घर में शेर की तरह खेले। उन्होंने वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के पहले चक्र में अधिकतर टेस्ट अपने घरों पर जीते जबकि विदेशी धरती पर पांच टेस्ट मैचों में उनको केवल एक ही जीत नसीब हुई थी।

बांग्लादेश ने बहुत तगड़ा झटका दिया

बांग्लादेश ने बहुत तगड़ा झटका दिया

अब कीवी टीम को बांग्लादेश ने बहुत तगड़ा झटका दिया जब न्यूजीलैंड ने अपने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप खिताब की रक्षा करते हुए नए साल के मौके पर अपना पहला टेस्ट मैच गंवा दिया। इससे पहले कीवी टीम पिछले साल के अंत में भारत के घर भी हारी थी और उन्होंने अपने अभी तक संभावित 36 अंकों में केवल 4 ही अंक जुटाए हैं जिसके चलते वह वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप टेबल में थर्ड लास्ट पोजीशन पर बने हुए हैं।

न्यूजीलैंड की टीम को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2021 23 के बीच में 6 सीरीज खेलनी है और वे सभी दो मैचों की श्रंखलाएं हैं। इसका मतलब यह भी है कि कीवी टीम को जितने मुकाबले खेलनी है उसका लगभग एक क्वार्टर वे खेल भी चुके हैं। हालांकि भारत के खिलाफ उनका जो मुकाबला हुआ वह काफी कठिन था लेकिन बांग्लादेश ने जिस तरीके से उनको हराया वह काफी हैरान करने वाला है और अपने घर पर न्यूजीलैंड के प्रदर्शन में गिरावट का भी सूचक है।

ICC Test Rankings: बुमराह ने बनाई टॉप-10 में जगह, विराट कोहली नीचे खिसके

न्यूजीलैंड की मुश्किल डगर-

न्यूजीलैंड की मुश्किल डगर-

अब न्यूजीलैंड को दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के खिलाफ अपने घर में मुकाबले खेलने हैं व इंग्लैंड और पाकिस्तान के खिलाफ विदेशी धरती पर मैच खेलने हैं। ब्लैक कैप्स उम्मीद करेंगे कि वे बांग्लादेश को दूसरे टेस्ट मैच में हरा दें और श्रीलंका का सूपड़ा साफ कर दें लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मुकाबला करना उनके लिए एक मुश्किल चुनौती हो सकती है। न्यूजीलैंड की टीम ने दक्षिण अफ्रीका को अभी तक टेस्ट सीरीज में कभी नहीं हराया है। वैसे तो डीन एल्गर की टीम अपने संघर्ष के दौर से गुजर रही है लेकिन उन्होंने भारत के खिलाफ मौजूदा सीरीज में यह दिखाया है कि अभी भी उनका पेस अटैक दुनिया में घातक है।

न्यूजीलैंड टीम को इसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ मुकाबला करना है जो एक परफेक्ट टाइम पर हो रहा है क्योंकि अंग्रेज एशेज सीरीज में करारी हार के बाद वापस खेलने के लिए तैयार होंगे। इसके अलावा न्यूजीलैंड की टीम ने साल 2021 में नॉन डब्लूटीसी सीरीज भी इंग्लैंड की धरती पर जीती थी।

खराब शुरुआत का मतलब ये है-

खराब शुरुआत का मतलब ये है-

लेकिन फिर पाकिस्तान के खिलाफ न्यूजीलैंड का मुकाबला और भी मुश्किल चुनौती है क्योंकि बाबर आजम की टीम ने बांग्लादेश के खिलाफ बहुत शानदार तरीके से 2-0 से जीत दर्ज की और डब्ल्यूपीसी साइकिल में उनके मुकाबले बाकी टीमों की तुलना में थोड़े से सरल दिखाई देते हैं और यह टीम फाइनल में पहुंचने के लिए डार्क हॉर्स कही जा सकती है।

न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान का दौरा 2002 से नहीं किया है लेकिन साल 2018 में उन्होंने पाकिस्तान को संयुक्त अरब अमीरात में हराया था और 2011 से लेकर अब तक पाकिस्तान के खिलाफ कोई सीरीज नहीं हारी है।

न्यूजीलैंड की खराब शुरुआत का मतलब यह है कि अब आगे के लिए गलतियों की गुंजाइश बहुत कम है लेकिन यह भी नहीं पता है कि फाइनल में पहुंचने के लिए कीवी टीम को कितने अंक चाहिए, जैसा कि पिछली बार न्यूजीलैंड को 70 पीसीटी चाहिए थे।

बांग्लादेश के हीरो ने कहा- अगली पीढ़ी को प्रेरित करेगी ये जीत, तामिम ने लिखी दिल छूने वाली पोस्ट

अंकों का खेल-

अंकों का खेल-

अगर कीवी टीम अपने आने वाले सभी मुकाबले जीत लेती है तो वह बहुत अच्छी स्थिति में होंगे और तब उनके 79.5 पीसीटी होंगे लेकिन एक या दो हार उनको बुरी तरह से प्रभवित कर सकती है। केवल एक हार के बाद भी न्यूजीलैंड 71.8 पीसीटी पर खिसक जाएगा जिसके चलते वे 70 की नाजुक सीमा के आसपास खड़े होंगे और अगर वह आने वाले मैचों में अपराजेय भी रहते हैं लेकिन दो ड्रा और 8 जीत के बावजूद भी उनके पीसीटी 69.2 होंगे और यह वही अंक हैं जो पिछली बार ऑस्ट्रेलिया को फाइनल में जगह दिलाने में नाकाम साबित हुए थे।

भारत-ऑस्ट्रेलिया के सामने इस बार टिकना मुश्किल

भारत-ऑस्ट्रेलिया के सामने इस बार टिकना मुश्किल

मतलब साफ है कि अगर न्यूजीलैंड को फर्स्ट डब्लूटीसी साइकिल की प्वाइंट टैली को मैच करना है तो उनको कम से कम इंग्लैंड या पाकिस्तान के खिलाफ सूपड़ा साफ करना होगा। हम यह भी कहना चाहेंगे कि नई डब्लूटीसी साइकिल में पुरानी डब्लूटीसी साइकिल की तुलना में कम अंकों की जरूरत भी हो सकती है।

भारतीय क्रिकेट टीम ने अपनी दोनों शुरुआती सीरीज में अंक चटकाने में कामयाबी हासिल की है और वे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा दौरे पर भी अधिकतम अंक हासिल करने की ओर दिखाई दे रहे हैं। भारत को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के तहत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने घर में भी मुकाबला करना है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, January 5, 2022, 18:15 [IST]
Other articles published on Jan 5, 2022
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X