बांग्लादेश के हीरो ने कहा- अगली पीढ़ी को प्रेरित करेगी ये जीत, तामिम ने लिखी दिल छूने वाली पोस्ट

नई दिल्लीः बांग्लादेश के तेज गेंदबाज और माउंट माउंगानुई टेस्ट जीत के हीरो, इबादत हुसैन ने अपनी टीम की जीत में 6 विकेट लेकर बहुत अहम भूमिका निभाई। हुसैन की टीम ने वो काम किया जिसको करने का सपना हर एशियाई टीम देखती है। यहां तक की दुनिया पर राज कर रही भारतीय टीम भी अपने पिछले कीवी दौरे पर टेस्ट मैच नहीं जीत पाई थी लेकिन बांग्लादेश ने न्यूजीलैंड को उसकी ही धरती पर टेस्ट मैच में मात दे दी।

हुसैन ने बुधवार को कहा कि विश्व टेस्ट चैंपियन न्यूजीलैंड पर बांग्लादेश की ऐतिहासिक जीत देश के क्रिकेटरों की भावी पीढ़ी को प्रेरित करेगी। टेस्ट क्रिकेट में अपने इतिहास में पहली बार ब्लैक कैप्स को हराकर बांग्लादेश ने न्यूजीलैंड में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच जीता।

 इबादत हुसैन वायु सेना के अधिकारी हैं

इबादत हुसैन वायु सेना के अधिकारी हैं

अपने खेल के शुरुआती दिनों में वॉलीबॉल खेलने वाले इबादत हुसैन वायु सेना के अधिकारी हैं। उन्होंने मंगलवार की शाम को तेज गेंदबाजी में न्यूजीलैंड की बल्लेबाजी इकाई की कमर तोड़ दी। उन्होंने दूसरी पारी में 6 विकेट लिए जिसके चलते न्यूजीलैंड का स्कोर 147/5 से 169 रनों पर ऑल-आउट हो गया। इबादत ने 6/46 का आंकड़ा हासिल किया। इस प्रदर्शन के बाद माउंट माउंगानुई में पहला टेस्ट जीतने के लिए बांग्लादेश को सिर्फ 40 रनों की जरूरत थी और 2 विकेट खोकर मेहमान टीम ने यह मुकाबला जीत लिया।

शार्दुल ने रहाणे-पुजारा की बैटिंग की तारीफ की, बॉलिंग में बताया- बेस्ट आना तो अभी बाकी है

हुसैन ने कहा, "हम पिछले 11 साल से यहां आए हैं और एक भी मैच नहीं जीता है। जब हम इस बार आए तो हमने एक लक्ष्य निर्धारित किया और हमने खुद से कहा कि हम इसे कर सकते हैं। न्यूजीलैंड टेस्ट चैंपियन है और अगर हम उन्हें हराते हैं तो यह अगली पीढ़ी को भी ऐसा ही करने के लिए प्रेरित करेगा।"

महान जीत में महान योगदान दिया-

महान जीत में महान योगदान दिया-

इस बीच, इबादत ने कहा कि उन्होंने अपने ट्रेडमार्क "सैल्यूट सेलिब्रेशन" का आनंद लिया। जब भी वे बल्लेबाज को पवेलियन भेजते तो सेल्युट मारकर जश्न मनाते। वायु सेना के साथ अपने कार्यकाल के दौरान वॉलीबॉल खेलने वाले इबादत ने 6 साल पहले ही प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना शुरू किया था।

उन्होंने कहा, "मैं बांग्लादेश वायु सेना का एक जवान हूं, इसलिए मुझे पता है कि सेल्युट कैसे करते हैं। यह एक लंबी कहानी थी, वॉलीबॉल से क्रिकेट तक। मैं क्रिकेट का आनंद ले रहा हूं।"

तामिम और शाकिब के बिना मिली जीत-

तामिम और शाकिब के बिना मिली जीत-

बांग्लादेश के सलामी बल्लेबाज और वनडे कप्तान तमीम इकबाल ने भी इस जीत पर अपनी टीम को बधाई दी। तमीम ने कप्तान मोमिनुल की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह कप्तान ही थे जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में बांग्लादेश की मुश्किल यात्रा के दौरान भी अपनी टीम पर विश्वास करना बंद नहीं किया।

इस मुकाबले में भी मोमिनुल ने पहली पारी में कप्तानी पारी खेली जिन्होंने पहली पारी में 88 रन बनाए थे और बांग्लादेश को 458 रनों तक पहुंचाने में अहम योगदान दिया। इसके दम पर बांग्लादेश को पहली पारी में 130 रनों की बढ़त मिली थी।

बांग्लादेश की टीम न्यूजीलैंड में तामिम इकबाल और शाकिब अल हसन जैसे खिलाड़ियों के बिना खेल रही है जो चोट के चलते बाहर रहे हैं। ऐसे में टीम का यह प्रयास वाकई में काबिलेतारीफ है।

तामिम ने मोमिनुल हक के लिए लिखी पोस्ट-

तमीम ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा, "जब टीम खराब दौर से गुजरी, जब किसी को टीम पर विश्वास नहीं था, जब खिलाड़ियों को खुद पर शक हुआ, तो एक शख्स था जिसने अभी भी विश्वास नहीं खोया था।"

"वह विश्वास करता रहा और सभी में यह विश्वास जगाने की कोशिश की कि 'हम कर सकते हैं, हम निश्चित रूप से कर सकते हैं'। बुरे दिन और खराब प्रदर्शन थे। लेकिन उन्होंने टीम पर विश्वास नहीं खोया। टेस्ट क्रिकेट के लिए उनकी भावनाएं अपार हैं और वह इस फॉर्मेट को सबसे अधिक प्राथमिकता देते हैं।

"हमारे टेस्ट कप्तान मोमिनुल हक के लिए हैट्स ऑफ।"

अब 9 जनवरी से क्राइस्टचर्च में दूसरे टेस्ट में दोनों टीमें आमने-सामने होंगी तो बांग्लादेश न्यूजीलैंड पर अधिक दबाव डालने की उम्मीद कर रहा होगा।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, January 5, 2022, 12:08 [IST]
Other articles published on Jan 5, 2022
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X