क्या ड्रीम 11 चाइनीज फर्म है? जानें कंपनी, इसके मालिक, निवेशक, धोनी जैसे ब्रांड एंबेसडर की जानकारी

IPL 2020: Dream 11 Title sponsor of IPL 2020 relationship with china | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्ली: ड्रीम 11 को मंगलवार (18 अगस्त) को आईपीएल 2020 के लिए 222 करोड़ रुपये में टाइटल स्पॉन्सरशिप का अधिकार मिला है। और इस समय हर कोई एक बड़ा सवाल पूछ रहा है: 'क्या ड्रीम 11 एक चीनी फर्म है?' आखिरकार, यह विवो का चीनी कनेक्शन ही था जिसके चलते बात यहां तक आगे बढ़ी की आईपीएल होने से ठीक पहले विवो ने टाइटल स्पान्सर बनने से खुद ही अपना पल्ला झाड़ लिया। यहां MyKhel ड्रीम 11 पर एक नई जानकारी दे रहा है, जो आईपीएल 2020 का प्रायोजक बना है।

1. ड्रीम 11: कंपनी का जाकारी

1. ड्रीम 11: कंपनी का जाकारी

ड्रीम 11 एक चीनी फर्म है? खैर, इसका जवाब है- नहीं। उन लोगों के लिए जो ऑनलाइन गेमिंग से परिचित हैं और वर्चुअल फंतासी XI को चुनते रहते हैं, यह कंपनी कोई अनजान नहीं है। कंपनी का वर्थ रेट 736 करोड़ रुपये है और यह एक विदेशी नाम नहीं है। इसकी स्थापना 2012 में हर्ष जैन और भावना सेठ द्वारा की गई थी और वे भारत में काल्पनिक खेलों के क्षेत्र में एक बड़ा नाम हैं। 2019 में, वे 'यूनिकॉर्न क्लब' में प्रवेश करने वाली पहली भारतीय गेमिंग कंपनी बन गए। '

2. ड्रीम 11 कंपनी ने किन-किन लोगों ने निवेश किया है-

2. ड्रीम 11 कंपनी ने किन-किन लोगों ने निवेश किया है-

इस सेक्शन में हम ड्रीम 11 का चीनी लिंक पा सकते हैं। उनके पास Steadview, Kalaari Capital, Think Investments, Multiples Equity और Tencent जैसे कई निवेशक हैं, जो संयोग से एक चीनी फर्म है। हालांकि, यह मामूली हिस्सेदारी है। टेनसेंट दुनिया की सबसे बड़ी गेमिंग कंपनी है और यह शेन्जेन, चीन में स्थित है, और ड्रीम 11 में लगभग 10 प्रतिशत इसका शेयर है।

हार्दिक ने किया नताशा को 'किस', इंस्टाग्राम ने हटाई फोटो, कहा- ये गाइडलाइंस के खिलाफ है

3. ड्रीम 11 विवाद

3. ड्रीम 11 विवाद

2017 में एक विवाद खड़ा हो गया था जब ड्रीम 11 की वैधता को उच्च न्यायालय में और बाद में उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी गई थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि यह सट्टेबाजी को बढ़ावा देता है। लेकिन अदालतों ने ड्रीम 11 के संचालन को कौशल, ज्ञान और ध्यान आकर्षण पर केंद्रित पाया और देश में इसके कामकाज की अनुमति दी।

4. ड्रीम 11 के ब्रांड एंबेसडर

4. ड्रीम 11 के ब्रांड एंबेसडर

एमएस धोनी उनके सबसे बड़े ब्रांड एंबेसडर हैं। आईसीसी विश्व कप 2019 से नौ क्रिकेटरों - जोस बटलर, बेन स्टोक्स, जॉनी बेयरस्टो, फाफ डु प्लेसिस, क्विंटन डी कॉक, कैगिसो रबाडा, आंद्रे रसेल, जेसन होल्डर और केन विलियमसन के साथ भी कंपनी ने भागीदारी की है।

5. अन्य लीग जिनको ड्रीम 11 स्पॉन्सर करता है-

5. अन्य लीग जिनको ड्रीम 11 स्पॉन्सर करता है-

ड्रीम 11 ने दुनिया भर के खेलों में कई हाई-प्रोफाइल लीग के साथ करार किया है। उनमें शामिल हैं: कैरेबियन प्रीमियर लीग, इंडियन सुपर लीग, नेशनल बास्केटबॉल लीग (एनबीए), प्रो कबड्डी लीग। इसके अलावा, उन्होंने ICC, BBL, WBBL और इंटरनेशनल हॉकी फेडरेशन के साथ भी टाई किया है।

भारतीय स्पिनर ने कहा- धोनी के रहते मेरा 50 प्रतिशत काम पहले ही हो जाता था

6. ड्रीम 11 को आईपीएल 2020 का प्रायोजन कैसे मिला-

6. ड्रीम 11 को आईपीएल 2020 का प्रायोजन कैसे मिला-

बीसीसीआई को भारत-चीन गतिरोध के मद्देनजर चीनी स्मार्टफोन प्रमुख विवो के साथ साझेदारी टूटने के बाद आईपीएल 2020 के लिए एक नया प्रायोजक ढूंढना पड़ा। ड्रीम 11 ने बाइजूस के साथ मैदान में प्रवेश किया, जो पहले से ही टीम इंडिया का किट स्पॉनसर है, साथ ही अनअकाडमी जो एक ऑनलाइन शिक्षण मंच है, भी इस रेस में शामिल था। जबकि योग गुरु बाबा रामदेव और टाटा संस के स्वामित्व वाली कंपनी पतंजलि ने रुचि फॉर्म ने प्रतियोगिता में प्रवेश नहीं किया। ड्रीम 11 ने 222 करोड़ रुपये की बोली लगाई, बायजू की बोली 201 करोड़ रुपये की थी, जबकि अनअकाडमी की 171 करोड़ रुपये की बोली लगी।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Wednesday, August 19, 2020, 10:59 [IST]
Other articles published on Aug 19, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X