'रनों की बजाय गेंदबाजी पर ध्यान देना होगा', जडेजा को पूर्व स्पिनर ने दी सलाह

नई दिल्ली। इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में भारत के लिए चीजें बहुत अच्छी नहीं चल रही हैं। टॉस जीतकर और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला करने के बाद, विराट कोहली की अगुवाई वाली भारत ने एक सुनहरा मौका गंवा दिया और केवल 78 रन पर आउट हो गया। इसके अलावा, टीम में कुछ खिलाड़ियों के चयन और बहिष्कार ने विशेषज्ञों और प्रशंसकों को भारत की रणनीति पर सवाल उठाने के लिए मजबूर दिया है।

'रूट से युवा काफी कुछ सीख सकते है, उसकी सादगी सबसे अलग है', जानिए किसने कहा'रूट से युवा काफी कुछ सीख सकते है, उसकी सादगी सबसे अलग है', जानिए किसने कहा

जडेजा दूसरे टेस्ट में नहीं ले पाए विकेट

जडेजा दूसरे टेस्ट में नहीं ले पाए विकेट

ऑलराउंडर रवि अश्विन का तीन टेस्ट से बाहर होना सबसे चर्चित विषयों में से एक है। कोहली ने रवींद्र जडेजा को उनकी जगह पहल दी है और अब तक 4 तेज गेंदबाज व एक स्पिनर के साथ उतरे हैं। हालांकि, जडेजा इंग्लैंड के खिलाफ अभी तक 3 विकेट ही ले सके हैं। जडेजा ने तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड की पहली पारी में सबसे ज्यादा 31 ओवर फेंके, लेकिन व 88 रन देकर सिर्फ दो विकेट ही ले सके। जब खेल के तीनों विभागों में जडेजा की क्षमता की बात आती है तो इसमें कोई संदेह नहीं है, लेकिन सीरीज में उनका जो प्रभाव पड़ा है, वह टीम के तेज गेंदबाजों की तुलना में कम है। और इसलिए कई पूर्व क्रिकेटरों को भरोसा था कि वह तीसरे टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे। जडेजा दूसरे टेस्ट में तो एक भी विकेट नहीं ले सके थे जिसमें भारत ने 151 रन से जीत दर्ज की थी।

रनों की बजाय विकेट लेने पर ज्यादा ध्यान देना होगा

रनों की बजाय विकेट लेने पर ज्यादा ध्यान देना होगा

भारत के पूर्व स्पिनर मनिंदर सिंह को लगता है कि ऑलराउंडर को रन बनाने की बजाय हमेशा विकेट लेने पर ध्यान देना चाहिए। मनिंदर ने आगे विस्तार से बताया कि कप्तान और कोच को स्पिनर को स्पष्ट शब्दों में बताना चाहिए और उन्हें टीम के लिए विकेट लेने होंगे। मनिंदर सिंह ने ईएसपीएनक्रिकइंफो को बताया, "क्या होता है कि कभी-कभी, यह कप्तान और कोच होते हैं जो आपको वह आत्मविश्वास देते हैं। मैंने पिछले 20-25 वर्षों से देखा है कि भारतीय स्पिनरों को रन बनाने की इच्छा रहती है और मुझे नहीं पता कि यह कप्तान या कोच द्वारा उन्हें यह एहसास देने के कारण है कि इन परिस्थितियों में उन्हें केवल रन बनाने की आवश्यकता है।" उन्होंने आगे कहा, "जबकि मुझे लगता है कि जडेजा और अश्विन आपको किसी भी तरह की पिच पर विकेट दिलाने के लिए काफी अच्छे हैं क्योंकि वे अच्छे गेंदबाज हैं और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहे हैं। अब कप्तान ही है जो आत्मविश्वास दे सकता है कि आपको रनों की बजाय विकेट लेने पर ज्यादा ध्यान देना होगा।"

कप्तान और कोच को स्पष्ट होना चाहिए

कप्तान और कोच को स्पष्ट होना चाहिए

भारत के पूर्व स्पिनर ने अश्विन से जुड़ी एक पुरानी घटना को आगे याद किया जब उन्होंने टीम के साथ दौरा किया, जहां एमएस धोनी कप्तान थे। उस समय अश्विन ने मनिंदर से कहा था कि उनकी भूमिका किफायती ओवर फेंकने की है। उन्होंने कहा, "मुझे याद है कि आर अश्विन जब महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में अपने पहले दौरे के लिए ऑस्ट्रेलिया गए थे, तो उन्होंने वापस आकर एक इंटरव्यू में कहा था कि मेरी भूमिका विकेट लेने की थी। अब, उसे यह एहसास किसने दिया? कप्तान और कोच ने।" उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि अगर कप्तान और कोच अधिक सकारात्मक हैं, तो वे अपने सभी गेंदबाजों से कहेंगे कि हम आपसे विकेट की उम्मीद करते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस तरह की सतह पर गेंदबाजी कर रहे हैं।"

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 भविष्यवाणी
Match 7 - October 20 2021, 03:30 PM
नामीबिया
Netherlands
Predict Now

Story first published: Friday, August 27, 2021, 12:56 [IST]
Other articles published on Aug 27, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X