गेल, रसेल ने मुझसे कहा था, भारत नहीं चाहता पाकिस्तान WC सेमीफाइनल में जाए: मुश्ताक अहमद

नई दिल्ली: 2019 विश्व कप के दौरान टूर्नामेंट में पाकिस्तान का भाग्य उनके कट्टर प्रतिद्वंद्वी भारत पर निर्भर था क्योंकि भारत अगर मेजबान इंग्लैंड को हरा देता तो पाकिस्तान के पास टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचने के चांस बन रहे थे।

बर्मिंघम में 7 विकेट पर इंग्लैंड के 337 के विशाल स्कोर का पीछा करने में विफल रहने के बाद भारतीय टीम यह मुकाबला 31 रनों से हार गई और पाकिस्तान टीम के साथ उनके उत्साही प्रशंसकों को भी निराशा हाथ लगी।

भारत और धोनी की मंशा पर पाकिस्तान में सवाल-

भारत और धोनी की मंशा पर पाकिस्तान में सवाल-

रन चेज के दौरान भारतीय टीम के तरीके पर सीमा पार के लोगों ने सवाल उठाए। एम एस धोनी और केदार जाधव अंत तक नाबाद रहे लेकिन भारत जीत नहीं सका। सोशल मीडिया पर धोनी को लेकर भी काफी शोर-शराबा हुआ और इसी प्लेटफॉर्म पर यह बात उड़ी कि शायद पाकिस्तान को बाहर करने के लिए भारतीय टीम जीतना ही नहीं चाहती थी।

'झूठ बेपर्दा सच को मिटा नहीं सकता': हसीन जहां ने शमी के साथ शेयर की टॉपलेस फोटो

बेन स्टोक्स की 'ऑन फायर' ने लगाई आग-

बेन स्टोक्स की 'ऑन फायर' ने लगाई आग-

उन सब अफवाहों को तब हवा मिल गई जब इंग्लैंड के विश्व कप के नायक बेन स्टोक्स ने अपनी आत्मकथा 'ऑन फायर' लिखी। ऑलराउंडर ने इतना लिखा कि वह पिछले साल अपने विश्व कप के खेल के दौरान भारत की रन-चेज रणनीति से चकित था, जिसमें उन्होंने विराट कोहली और रोहित शर्मा के दृष्टिकोण को "रहस्यमय" पाया और रन चेस के दौरान महेंद्र सिंह धोनी से "कोई इरादा नहीं" देखा।

मुश्ताक अहमद ने किया दावा-

मुश्ताक अहमद ने किया दावा-

पाकिस्तान मीडिया ने स्टोक्स की आत्मकथा का यह अंश उठाते हुए भारतीय टीम की मंशा पर सवाल करने शुरू कर दिए। हालांकि, बेन स्टोक्स ने खुद स्पष्ट किया कि उनके शब्दों को गलत तरीके से पेश किया गया है। अब पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर मुश्ताक इस मामले पर अगले लेवल की बात करने लगे हैं। मुश्ताक ने विंडीज के तीन खिलाड़ियों का नाम लेकर भारत पर आरोप लगाया है। बता दें विश्व कप में मुश्ताक विंडीज टीम के ही साथ थे।

ईशांत ने डेब्यू सीरीज में जहीर से उधार लिए जूते, पेसर ने अपने चर्चित रिएक्शन पर भी किया खुलासा

गेल, रसेल और होल्डर ने मुझसे ये बात कही-

गेल, रसेल और होल्डर ने मुझसे ये बात कही-

हालात ने अब एक नया मोड़ ले लिया है और पूर्व स्पिनर मुश्ताक अहमद ने दावा किया है कि आंद्रे रसेल, क्रिस गेल और जेसन होल्डर ने उन्हें बताया था कि भारत नहीं चाहता था कि पाकिस्तान 2019 विश्व कप के सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करे और इसलिए इंग्लैंड के खिलाफ जानबूझकर अपना मैच हार गया । मुश्ताक अहमद पिछले साल विश्व कप में वेस्टइंडीज के साथ काम कर रहे थे। पाकिस्तानी पत्रकार ने मुश्ताक के हवाले से यह जानकारी एक ट्वीट के जरिए दी है।

अब्दुल रज्जाक ने कहा- इसमें कोई शक नहीं-

अब्दुल रज्जाक ने कहा- इसमें कोई शक नहीं-

एक और पूर्व क्रिकेटर पाकिस्तान, अब्दुल रज्जाक ने अपनी कठोर टिप्पणियों के साथ आना जारी रखा है। रज्जाक ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि भारत जानबूझकर इंग्लैंड से हार गया। उन्होंने कहा कि धोनी सिर्फ गेंदों को रोक रहे थे जबकि वह छक्के के लिए अपना बल्ला घुमा सकते थे।

मांकडिंग की वजह से इस अंग्रेज क्रिकेटर ने अपनी वर्ल्ड टेस्ट XI से हटाया अश्विन का नाम

पाकिस्तान के एक प्रमुख समाचार चैनल से बात करते हुए, पूर्व अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी ने कहा कि उन्हें इसमें कोई संदेह नहीं है कि भारत ने पाकिस्तान को आगे नहीं बढ़ने देने के लिए जानबूझकर मैच गंवा दिया।

क्या लिखा है स्टोक्स ने-

क्या लिखा है स्टोक्स ने-

भारत के लिए उस मैच में पीछा करने के लिए कुल 338 सेट किया गया था। रोहित शर्मा के एक शतक और विराट कोहली के एक अर्धशतक के बाद भी, टीम ने 31 रनों की हार देखी। लेकिन, भारत के हाथ में पांच विकेट बाकी थे और आखिरी पांच ओवरों में धोनी की मंशा पर कई विशेषज्ञों ने सवाल उठाए थे। अगर भारत वह मैच जीत जाता, तो इंग्लैंड विश्व कप के नॉकआउट चरणों में क्वालीफाई करने में विफल हो जाता। इसके बजाय, पाकिस्तान नॉकआउट के लिए क्वालीफाई करने के लिए सबसे आगे होता। हाल ही में, यह बेन स्टोक्स थे जिनकी किताब ने उस मैच के बारे में एक बार फिर से बात शुरू की। ऑल राउंडर ने अपनी पुस्तक ऑन फायर में कहा कि जिस तरह से भारतीयों ने उस मैच में बल्लेबाजी की, वह इंग्लिश पक्ष के लिए थोड़ा अजीब था।

धोनी-जाधव और कोहली-रोहित की जोड़ी पर की थी बात-

धोनी-जाधव और कोहली-रोहित की जोड़ी पर की थी बात-

स्टोक्स ने लिखा था, "यकीनन, जिस तरह से एमएस धोनी ने पारी खेली थी, वह अजीब था। तब भारत को जीत के लिए 11 ओवरों में 66 रन चाहिए थे। वह छक्कों की तुलना में सिंगल पर अधिक भरोसा दिखा रहे थे। एक दर्जन गेंदें शेष रहते हुए भी भारत जीत सकता था। ... उनका (धोनी) या उनके साथी केदार जाधव ने कोई जज्बा ही नहीं दिखाया। मेरे लिए, जबकि जीत अभी भी संभव है। फिर रोहित शर्मा और विराट कोहली ने जिस तरह से खेला वह रहस्यमय था। मुझे पता है कि हमने इस दौरान शानदार गेंदबाजी की, लेकिन जिस तरह से उन्होंने अपनी बल्लेबाजी की वह विचित्र लग रहा था। '

T20 में गेल से कहीं बेहतर बल्लेबाज हैं वार्नर- हरभजन ने बताई इसकी बड़ी वजहT20 में गेल से कहीं बेहतर बल्लेबाज हैं वार्नर- हरभजन ने बताई इसकी बड़ी वजह

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, May 31, 2020, 9:51 [IST]
Other articles published on May 31, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X