ऋषभ पंत बोले- मुझे रिकाॅर्ड से कोई मतलब नहीं, मैं टीम के लिए खेलता हूं

अहमदाबाद : इंग्लैंड के खिलाफ चाैथे टेस्ट में भारत ने पहली पारी में 7 विकेट खोकर 294 रन बनाते हुए 89 रनों की मजबूत बढ़त हासिल कर ली है। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब टीम 200 स्कोर के अंदर ढेर होती हुई दिख रही थी, लेकिन मध्यक्रम में बल्लेबाजी करने आए ऋषभ पंत ने सारा खेल बदलकर रख दिया। पंत ने तूफानी पारी खेल सबका दिल जीत लिया। उन्होंने 118 गेंदों में 101 रनों की पारी खेली, जिसमें उन्होंने 13 चौके और 2 छक्के लगाए। हालांकि अहमदाबाद की पिच पर रन बनाना आसान नहीं था। वहीं शतकीय पारी खेलने के बाद पंत ने कहा कि वह अपने लिए नहीं, बल्कि टीम के लिए खेलते हैं।

IND vs ENG : ऋषभ पंत ने ठोका धमाकेदार शतक, खतरे में पड़ा धोनी का रिकाॅर्ड

रिकाॅर्ड से मतलब नहीं

रिकाॅर्ड से मतलब नहीं

पंत ने कहा, '' मुझे खुशी है कि मैंने टीम के लिए एक अहम पारी खेली है। मैं हमेशा ही सोचता हूं कि टीम के लिए मेरा योगदान काम आए मुझे निजी रिकॉर्ड से कोई मतलब नहीं है।'' पंत से जब सवाल किया गया कि आपकी क्या मानसिकता थी जब आप खेलने के लिए मैदान पर उतरे। पंत ने कहा, ''"मैं रोहित के साथ साझेदारी बनाने की योजना बना रहा था, तो मेरे दिमाग में यही बात थी। मैं सोच रहा था कि मैं पिच का आकलन करूंगा और फिर अपने शॉट्स खेलूंगा। अगर गेंदबाज अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं तो उसका सम्मान करें और सिंगल लें और यही मेरे दिमाग में था।''

मुश्किल स्थिति में खेलना है पसंद

मुश्किल स्थिति में खेलना है पसंद

23 वर्षीय वाशिंगटन सुंदर के साथ 7वें विकेट के लिए 113 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी हुई, जिसने अपना तीसरा टेस्ट अर्धशतक बनाया। पंत ने इसपर कहा, "मुझे मुश्किल स्थिति खेलना पसंद है और मैं सिर्फ गेंद देखता हूं और प्रतिक्रिया देता हूं। यह मेरे खेल की नीति है। टीम की योजना इंग्लैंड के 206 रनों के पार पहुंचाने की थी, और फिर अधिक से अधिक रन हासिल करने की थी। उसके बाद हमें रिवर्स-फ्लिक्स खेलने थे, लेकिन अगर भाग्य आपके रास्ते पर जा रहा है तो आप रिस्क ले सकते हैं।'' पंत ने कहा, "मुझे खुला खेलने का लाइसेंस मिला है, लेकिन मुझे स्थिति का आकलन करना होगा और खेल को आगे बढ़ाना होगा। मैं बस टीम को जिताना चाहता हूं और अगर भीड़ का मनोरंजन होता है, तो मुझे खुशी है।"

पंत की वजह से रहा पलड़ा भारी

पंत की वजह से रहा पलड़ा भारी

बता दें कि एक समय भारत ने 146 रनों पर 6 विकेट गंवा दिए थे। ऐसा लग रहा था कि भारत बड़ा स्कोर करने में नाकाम हो जाएगा, लेकिन तभी पंत ने तेज खेल खेलते हुए भारत का पलड़ा भारी कर दिया। पंत को वाशिंगटन सुंदर का साथ मिला। सुंदर दिन का खेल समाप्त होने तक 117 गेंदों में 60 रन बनाकर नाबाद हैं। उनका साथ अक्षर पटेल दे रहे हैं जो 11 रन बनाकर नाबाद हैं। अब देखना यह बाकी कि क्या सुंदर भी अपना शतक पूरा कर पाएंगे या नहीं। उनका अभी तक सर्वश्रेष्ठ स्कोर 85 है।

ऋषभ पंत की पारी देख खुश हुए साैरव गांगुली, कर दी बड़ी भविष्यवाणी

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, March 5, 2021, 19:28 [IST]
Other articles published on Mar 5, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X