इस कारण टूट गया सुशांत का क्रिकेटर बनने का सपना, वरना धोनी के साथ खेलते क्रिकेट

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम को 2 बार विश्व चैम्पियन बनाने का कारनामा करने वाले पूर्व कप्तान एमएस धोनी के जीवन पर बनी फिल्म में माही का किरदार निभाने वाले सुशांत सिंह राजपूत ने रविवार (14 जून) को अपने बांद्रा स्थित घर में आत्महत्या कर ली। धोनी के किरदार को सुशांत सिंह राजपूत ने जिस तरह से फिल्मी पर्दे पर जीकर दिखाया उस तरह से शायद ही कोई अन्य अभिनेता उनके किरदार को निभा पाता। सुशांत की एक्टिंग ने फैन्स के दिलों पर एक अलग तरह की छाप छोड़ी।

और पढ़ें: Video: जब धोनी बनने के चक्कर में फंस गये थे सुशांत, छूट गई थी माही की हंसी

उन्होंने फिल्मी पर्दे पर धोनी के किरदार को जिस तरह से निभाया उसे देखकर कोई नहीं बता सकता कि वो असल जिंदगी में एक प्रोफेशनल क्रिकेटर नहीं हैं। जहां फिल्मी पर्दे पर धोनी के किरदार को निभाना अन्य एक्टर्स के लिये बड़ी चुनौती साबित होता वहीं सुशांत के लिये यह रोल उनकी तुलना में आसान रहा।

और पढ़ें: जब फिल्मी पर्दे पर 'धोनी' बनते हुए टूट गई थी सुशांत की उंगली, इस खिलाड़ी ने दी थी ट्रेनिंग

इस कारण सुशांत के लिये रील लाइफ में धोनी बनना रहा आसान

इस कारण सुशांत के लिये रील लाइफ में धोनी बनना रहा आसान

इसका मुख्य कारण था कि सुशांत बचपन से ही एक क्रिकेटर बननाा चाहते थे और भारतीय टीम के लिये खेलने का सपना रखते थे।

सुशांत ने क्रिकेट को अपनी जिंदगी मानते हुए कई सालों तक क्रिकेट भी खेला और ट्रेनिंग भी की। वह नेशनल लेवल के क्रिकेटर भी थे हालांकि वह अपने सपने को बतौर करियर आगे लेकर न चल सके, जिसके चलते वह क्रिकेटर के बजाय एक्टर बन गये नहीं तो शायद आज वह भी भारतीय टीम का हिस्सा बन सकते थे।

इस वजह से छोड़ा क्रिकेट

इस वजह से छोड़ा क्रिकेट

सुशांत ने इस बात का खुलासा साल 2016 में डेक्कन क्रॉनिकल को दिये अपने इंटरव्यू में किया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि वह भारतीय टीम के लिये खेलना चाहते थे लेकिन घर में सबसे छोटा होने और इकलौता बेटा होने के नाते वह रिस्क नहीं ले सकते थे और इसीलिये उन्हें क्रिकेट छोड़ना पड़ा।

उन्होंने कहा,' 4 बहनों के बीच मैं इकलौता भाई था और घर में सबसे छोटा भी था। मेरी बहन मीतु एक स्टेट लेवल क्रिकेटर है जबकि मैंने भी काफी कम उम्र में बैट पकड़ लिया था। मैंने जूनियर लेवल पर राष्ट्रीय स्तर का क्रिकेट खेला था। जब मैं 8वीं क्लास में था तब मैंने क्रिकेट को बतौर करियर अपनाने के बारे में सोचा था लेकिन परिवार के दबाव के चलते नहीं कर सका। मेरी एकेडमी को मुझसे करने को उम्मीद थी लेकिन मुझे क्रिकेट बतौर करियर चुनना थोड़ा जोखिम भरा लगा। मुझे परिवार की उम्मीदों पर खरा उतरना था लेकिन मैं शायद खुद को उस स्तर का नहीं समझ रहा था।'

धोनी के बड़े फैन थे सुशांत

धोनी के बड़े फैन थे सुशांत

सुशांत ने आगे बताया था कि यही वो पल था जब उन्होंने क्रिकेट को छोड़कर इंजीनियरिंग को अपनाया। हालांकि बाद में वह एक्टिंग में उतर गये।

इस दौरान सुशांत का क्रिकेट को लेकर प्यार कभी भी कम नहीं हुआ। वह धोनी के बहुत बड़े फैन रहे और करीब 10 सालों से उनके खेल को फॉलो कर रहे थे। क्रिकेट के प्रति उनके जुनून और पुराने दिनों की ट्रेनिंग ने सुशांत के लिये धोनी के किरदार को पर्दे पर जीवंत करने में काफी मदद की।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, June 14, 2020, 17:52 [IST]
Other articles published on Jun 14, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X