Test : वो 3 खिलाड़ी, जो इंग्लैंड के खिलाफ ले सकते हैं हनुमा विहारी की जगह

नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) ने चार मैचों की टेस्ट सीरीज में तीन मैच खेले हैं। भारतीय टीम के कई खिलाड़ी श्रृंखला में चोटिल हो गए हैं। इसलिए, ब्रिस्बेन में खेले जाने वाले चौथे टेस्ट मैच में, भारतीय टीम को प्लेइंग इलेवन का चयन करने में कठिनाई होगी। तीसरे टेस्ट (Test) के लिए ड्रॉ में अहम भूमिका निभाने वाले हनुमा विहारी भी चौथे मैच से चूक जाएंगे। उन्हें हैमस्ट्रिंग की चोट है।

इससे साफ है कि वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ना ही आखिरी टेस्ट खेलेंगे, बल्कि फरवरी में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज भी नहीं खेलेंगे। इसलिए, भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में हनुमा विहारी को किसी अन्य खिलाड़ी के साथ बदलना होगा जो विहारी की तरह भारतीय टीम की पारी में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सके। इसलिए आज हम इस लेख से जानने जा रहे हैं, जिसे विहारी के स्थान पर तीन खिलाड़ियों में से एक माना जा सकता है।

वो 3 महान कप्तान, जिन्होंने कभी भारत में एक भी टेस्ट नहीं जीता

1. श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer)

1. श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer)

भारत के युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने अभी तक अपना टेस्ट डेब्यू नहीं किया है। लेकिन, उन्होंने सीमित ओवरों में अपना कमाल दिखाया है। इसलिए, वह इंग्लैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट श्रृंखला में अपने टेस्ट करियर की परिणति को चिह्नित कर सकते हैं। श्रेयस अय्यर ने घरेलू क्रिकेट में कुल 54 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं। उन्होंने 92 पारियों में बल्लेबाजी की। जिसमें उन्होंने 52.18 की औसत से 4592 रन बनाए हैं। उन्होंने 12 शतक और 23 अर्द्धशतक बनाए हैं। उनका उच्चतम स्कोर 202 है। इसलिए उन्हें विहारी के स्थान पर पदार्पण का अवसर दिया जा सकता है।

2. मनीष पांडे (Manish Pandey)

2. मनीष पांडे (Manish Pandey)

भारत के स्टार मध्यक्रम के बल्लेबाज मनीष पांडे को विहारी की जगह माना जा सकता है। वह इस पद के प्रबल दावेदार हैं। हालांकि, उन्होंने अभी तक टेस्ट में पदार्पण नहीं किया है। इसलिए उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ इस मैच में पदार्पण का मौका मिल सकता है। उन्होंने सीमित ओवरों के मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। उन्होंने घरेलू क्रिकेट में कर्नाटक टीम के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट भी खेला है। उन्होंने 91 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं। जिसमें उन्होंने 142 पारियों में बल्लेबाजी की है। उन्होंने 51.11 की औसत से 5389 रन बनाए हैं। इस बीच, उन्होंने 19 शतक और 29 अर्द्धशतक बनाए हैं। इसलिए मनीष पांडे को टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण का मौका दिया जा सकता है।

3. अंकित बावने (Ankit Bawne)

3. अंकित बावने (Ankit Bawne)

स्टार बल्लेबाज अंकित बावने, जो महाराष्ट्र के लिए मध्य क्रम में बल्लेबाजी कर रहे हैं, भारतीय टीम के लिए एक विकल्प हो सकते हैं। अंकित बावने कई सालों से भारतीय टीम में जगह बनाने का इंतजार कर रहे हैं। अंकित बावने को हमेशा रणजी ट्रॉफी में बल्लेबाजी करते देखा गया है। उन्होंने मध्यक्रम में महाराष्ट्र के लिए 101 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं। जिसमें उन्होंने 51.34 की औसत से 6675 रन बनाए हैं। उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अब तक 19 शतक और 36 अर्द्धशतक बनाए हैं। इसलिए, उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में भारतीय टीम में मौका मिल सकता है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, January 14, 2021, 11:29 [IST]
Other articles published on Jan 14, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X