'सचिन को 100वें शतक से रोकने के बाद मुझे और अंपायर को मिली मौत की धमकियां'

किस्सा क्रिकेट का: जब Sachin Tendulkar को आउट करने पर Tim Bresnan को मिली थी धमकी | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्ली: सचिन तेंदुलकर और रिकॉर्ड्स एक दूसरे के पूरक हैं। लिटिल मास्टर ने अपने करियर के दौरान कई रिकॉर्ड बनाए। एक शानदार करियर में, दो दशकों से अधिक समय तक, तेंदुलकर ने आसानी से रन बनाए और उनके रन-स्कोरिंग आंकड़े उनकी योग्यता साबित करते हैं। भारत के लिए 200 टेस्ट और 463 एकदिवसीय मैचों में, उन्होंने क्रमशः 15921 और 18426 रन बनाए।

100 शतक सचिन के करियर की सबसे बड़ी खूबी-

100 शतक सचिन के करियर की सबसे बड़ी खूबी-

तेंदुलकर के करियर का एक आकर्षण उन शतकों की संख्या थी, जो उन्होंने बनाए थे। टेस्ट मैचों में तेंदुलकर के कुल 51 शतक और एकदिवसीय मैचों में 49 शतक किसी भी बल्लेबाज द्वारा सर्वाधिक शतकों के विश्व रिकॉर्ड हैं। 2011/12 तेंदुलकर का 100वां शतक दुनिया में चर्चा का विषय था।

बाबर आजम की तकनीक में है एक दोष, उम्मीद है मिस्बाह को पता होगा: आमिर सोहेल

91 के स्कोर पर आउट हो गए सचिन-

91 के स्कोर पर आउट हो गए सचिन-

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2011 विश्व कप के खेल के दौरान अपना 99वां अंतरराष्ट्रीय शतक स्कोर करने के बाद, तेंदुलकर ने 2011 में केवल एक बार 90 रन का आंकड़ा छुआ। ऐसा लग रहा था कि इंग्लैंड के खिलाफ उस मैच में तेंदुलकर अपने करियर का 100वां शतक चुराकर इतिहास रचने वाले थे। हालांकि, वह टिम ब्रेसनन के सामने आउट हो गए थे।

उस पल को याद करते हुए, अंग्रेज गेंदबाज ब्रेसनन ने कहा कि उन्हें और अंपायर रॉड टकर को तेंदुलकर को अपना 100 वां अंतरराष्ट्रीय शतक लाने का मौका ना देने के लिए मौत की धमकी मिली।

टिम ब्रैसनेन और अंपायर रॉड टकर को मिली मौत की धमकियां-

टिम ब्रैसनेन और अंपायर रॉड टकर को मिली मौत की धमकियां-

"वह 99 अंतरराष्ट्रीय शतकों पर थे और उस श्रृंखला में कोई रेफरल नहीं था क्योंकि बीसीसीआई ने तब ये सिस्टम पसंद नहीं किया था। यह सीरीज के आखिरी टेस्ट में ओवल में था। यह गेंद, वैसे भी शायद लेग को मिस कर रही थी, और अंपायर टकर, ने उसे आउट दे दिया। वह 80 ऊपर [91] पर खेल रहे थे , निश्चित रूप से उन्हें (शतक) मिलने वाला था। हम श्रृंखला जीत गए और दुनिया में नंबर एक पर चले गए, "उन्होंने यॉर्कशायर क्रिकेट: कवर ऑफ पॉडकास्ट पर कहा।

T20, ODI और टेस्ट- श्रीसंत ने बताया कौन सा फॉर्मेट है उनको सबसे ज्यादा पसंद

सुरक्षा गार्ड तक रखना पड़ गया-

सुरक्षा गार्ड तक रखना पड़ गया-

ब्रेसनन ने खुलासा किया कि उन्हें ट्विटर पर मौत की धमकी मिली और अंपायर टकर को लोगों ने उनके घर के पते पर लिखा है। टकर को भी मौत की धमकी मिली और कई प्रशंसकों ने उन्हें लिखा कि गेंद लेग स्टंप को मिस कर रही थी। स्थिति इस हद तक उत्पन्न हुई कि टकर को पुलिस सुरक्षा प्राप्त करनी पड़ी।

फिर एशिया कप में किया सचिन ने 100वां शतक पूरा

फिर एशिया कप में किया सचिन ने 100वां शतक पूरा

"हम दोनों को मौत की धमकियां मिलीं, मुझे और इस अंपायर को, हमें बहुत समय तक मौत की धमकियां मिलीं। मुझे ट्विटर पर मिली और अंपायर को उनके घर के पते पर, दोस्त उसके बाद तो मुझे भी सुरक्षा गार्ड और सुरक्षा का सामान रखना पड़ा।"

तेंदुलकर ने आखिरकार 2012 में बांग्लादेश के खिलाफ एशिया कप में अपना शतक पूरा किया और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 टन का स्कोर हासिल किया। मास्टर ब्लास्टर ने अक्टूबर 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की और वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना अंतिम टेस्ट खेला।

घर पर रहकर जॉम्बी जैसी हो गई है इस शानदार क्रिकेटर की बॉडी, बोले- पूरे 4 हफ्ते लगेंगेघर पर रहकर जॉम्बी जैसी हो गई है इस शानदार क्रिकेटर की बॉडी, बोले- पूरे 4 हफ्ते लगेंगे

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, June 7, 2020, 22:31 [IST]
Other articles published on Jun 7, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X