क्या कोच चुनने के लिए विराट से मांगी गई थी राय, कपिल देव ने दिया जवाब

नई दिल्ली। रवि शास्त्री एक बार फिर भारतीय टीम के नए हेच कोच चुने गए हैं। शास्त्री इस पद के लिए पहले से ही दावेदार थे। कपिल देव कपिल देव की अध्यक्षता वाली क्रिकेट सलाहकार समिति ने शास्त्री को फिर से टीम का कोच चुनने का फैसला सुनाया है। पिछली बार यानि कि साल 2017 में जब शास्त्री को कोच चुना गया था तो बाद में विवाद उठा कि विराट कोहली के जिद्द पर उन्हें कोच चुना गया था। लेकिन इस बार कोहली की नए कोच सिलेक्शन में कोई भी भूमिका नहीं रही।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने लिया अहम फैसला, मिस्बाह उल हक को दी बड़ी जिम्मेदारी

नहीं ली गई कोहली से सलाह

नहीं ली गई कोहली से सलाह

शास्त्री को कोच चुनने के बाद कपिल ने प्रेस कांफ्रेंस दाैरान इस बात पर जोर दिया कि शास्त्री को चुनने के लिए कोहली से कोई सलाह नहीं ली गई, यह पैनल का फैसला है। उनसे पूछा गया कि क्या कोच चुनने के लिए कोहली से राय ली गई? इसका जवाब देते हुए कपिल देव ने कहा "कोच के लिए हमने कप्तान विराट कोहली से कोई इनपुट नहीं लिया, अगर हमने ऐसा किया तो हमें पूरी टीम से इनपुट लेना होता।"

ऐसे हुआ चयन

ऐसे हुआ चयन

2017 में सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण की चयन समिति द्वारा शास्त्री का चयन किया गया था। इस बार कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी की समिति को भारत की पुरुष क्रिकेट टीम के कोच चुनने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। कपिल देव ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, "सीएसी के तीनों सदस्‍यों ने अपने-अपने स्‍तर पर इंटरव्‍यू करने के बाद मार्किंग की। हम तीनों ने एक-दूसरे से नहीं पूछा कि आपने किसको कितने मार्क्‍स दिए। हमने जब अपने-अपने नतीजे देखें तो सामने आया कि टॉम मूडी तीसरे नंबर पर रहे। न्‍यूजीलैंड के माइक हेसन काफी प्रतिभावान हैं, लेकिन वह दूसरे नंबर पर रहे। भारतीय टीम के मौजूदा कोच रवि शास्‍त्री इस रेस में नंबर-1 पर रहे और वह इसी पद पर अपना काम जारी रखेंगे।"

VIDEO : जब ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ने रवि शास्त्री से कहा, मैं तेरा सिर फोड़ दूंगा

2021 तक रहेंगे कोच

2021 तक रहेंगे कोच

बता दें कि शास्त्री का भारतीय टीम के साथ यह चौथा कार्यकाल होगा। वह बांग्लादेश के 2007 के दौरे के समय कुछ समय के लिए कोच बने थे। इसके बाद वह 2014 से 2016 तक टीम निदेशक और 2017 से 2019 तक मुख्य कोच रहे। अब वो 2021 तक इस पद पर रहेंगे। जुलाई 2017 से भारत ने 21 टेस्ट में से 13 में जीत दर्ज की। टी-20 मुकाबलों में तो प्रदर्शन और भी बेहतर रहा जहां भारत ने 36 में से 25 मैचों में जीत दर्ज की। एकदिवसीय में भी भारतीय टीम 60 में से 43 मुकाबले जीतकर आगे रही।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, August 16, 2019, 19:24 [IST]
Other articles published on Aug 16, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X