CWG 2018: मीराबाई चानू ने दिलाया भारत को पहला गोल्ड, 48kg वेटलिफ्टिंग में मारी बाजी

Posted By:
CWG 2018: मीराबाई चानू ने दिलाया भारत को पहला गोल्ड, 48kg वेटलिफ्टिंग में मारी बाजी

गोल्ड कोस्ट। भारत की मीराबाई चानू ने 48 किलोग्राम भार वर्ग में भारत को वेटलिफ्टिंग में गोल्ड मेडल दिलाया है। ये भारत का 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में पहला गोल्ड मेडल है। 2017 की वर्ल्ड चैंपियन मीराबाई चानू ने कुल 196 किलोग्राम भार उठाकर इतिहास रचा है। महिलाओं के 48 किलो ग्राम वेटलिफ्टिंग डिवीजन में चानू ने गोल्ड मेडल जीता। चानू को पहले से ही गोल्ड मेडल का प्रमुख दावेदार माना जा रहा है।

स्नैच राउंड में पहले उन्होंने 80, फिर 84 और तीसरी बार में 86 किलो भार उठा कर अपने लिए स्वर्ण पदक सुरक्षित किया। इसके साथ ही उन्होंने अपना खुद का ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है। स्नैच कैटगरी में वो पहले ही 8 किलो भार अधिक उठाने में आगे चल रही थीं। 86 किलो भार उठा कर उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स का रिकॉर्ड भी कायम किया है।

23 वर्षीय चानू ने 48 किलोग्राम के अपने वजन से करीब चार गुना ज्यादा वजन यानी 194 किलोग्राम उठाकर पिछले साल वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में गोल्ड जीता।

8 अगस्त 1994 को जन्मी और मणिपुर के एक छोटे से गाँव में पली बढ़ी मीराबाई बचपन से ही काफी हुनरमंद थीं। 11 साल में वो अंडर-15 चैंपियन बन गई थीं और 17 साल में जूनियर चैंपियन। जिस कुंजुरानी को देखकर मीरा के मन में चैंपियन बनने का सपना जागा था, अपनी उसी आइडल के 12 साल पुराने राष्ट्रीय रिकॉर्ड को मीरा ने 2016 में तोड़ा था- 192 किलोग्राम वजन उठाकर।

21वें कॉमनवेल्थ में अब तक की बात करें तो ये भारत का दूसरा मेडल है। इससे पहले भारत का खाता सिल्वर मेडल से खुला। वेटलिफ्टर गुरूराजा ने भारत को पहला मेडल दिलाया। गुरुराजा ने कुल 249 किलोग्राम उठाकर सिल्वर मेडल जीत लिया और देश को पहला पदक दिलाया। गोल्ड मेडल मलेशिया के इजहार अहमद ने जीता। श्रीलंका के चतुरंगा लकमल ने ब्रॉन्ज जीता था।

Story first published: Thursday, April 5, 2018, 11:50 [IST]
Other articles published on Apr 5, 2018

MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट