3 भारतीय गेंदबाज जिन्होंने विदेशी सरजमीं पर ठोंका शतक, शर्मनाक हार से बचाया

नई दिल्ली। क्रिकेट के इतिहास में किसी भी टीम के लिये अपनी विदेशी पिचों की तुलना में घरेलू सरजमीं पर रन बनाना और मैच जीतना आसान होता है। इतना ही नहीं खिलाड़ियों का प्रदर्शन भी अपने घऱ में ज्यादा बेहतर होता है। मौजूदा समय में 90 प्रतिशत टीमों का यही हाल है, शायद ही कुछ ऐसी टीमें होंगी जो विदेशी सरजमीं पर जाकर शानदार प्रदर्शन करें और अपनी टीम के लिये जीत हासिल कर सकें। ऐसे में अगर कोई बल्लेबाज विदेशी सरजमीं पर जाकर अपनी बल्लेबाजी का दम दिखाता है और शतक-दोहरा शतक लगाता है तो उसकी बहुत तारीफ होती है और अगर यही काम कोई गेंदबाज करे तो यह बिल्कुल अविश्वसनीय लगता है।

और पढ़ें: सौरव गांगुली ने IPL 2020 को लेकर तोड़ी चुप्पी, बताया- क्या होगा भविष्य

पर क्या आप जानते हैं कि भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास में एक नहीं बल्कि 3 गेंदबाजों ने यह कारनामा किया है और विदेशी धरती पर जहां टीम के बड़े-बड़े बल्लेबाज लड़खड़ा रहे थे वहां पर इन गेंदबाजों ने न सिर्फ अच्छी बल्लेबाजी की बल्कि शतक भी लगाया। इतना ही नहीं कई अहम मौकों पर इन खिलाड़ियों की शानदार पारी के चलते टीम को शर्मनाक हार को झेलने से राहत मिल गई। आइये एक नजर उन भारतीय गेंदबाजों पर डालते हैं:

और पढ़ें: जसप्रीत बुमराह ने बताया दोबारा क्रिकेट शुरु होने पर क्या करेंगे सबसे ज्यादा मिस

रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin)

रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin)

इस फेहरिस्त में भारतीय क्रिकेट टीम के ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन का नाम शामिल है जिन्होंने अपनी शानदार गेंदबाजी के साथ-साथ टेस्ट क्रिकेट में कई बार अहम पारियां खेलकर भारतीयय टीम को मुश्किलों से बचाया है। टेस्ट क्रिकेट में अश्विन ने अब तक 4 बार शतक लगाने का काम किया है। आपको यह जानकर हैरान होगी कि अश्विन के बल्ले से निकले यह चारों शतक वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के खिलाफ लगाया है जिसमें से 2 घरेलू सरजमी पर और 2 विदेशी सरजमीं पर लगाये हैं।

अश्विन ने सबसे पहले साल 2016 में वेस्टइंडीज दौरे पर अपना विदेशी शतक जमाया था। नॉर्थ साउंड के मैदान पर खेले गए इस पहले मैच में अश्विन ने 113 रन की शानदार पारी खेली थी। इसके बाद ग्लोस आइसलेट के मैदान पर अश्विन ने 118 रन की पारी के साथ अपना दूसरा विदेशी शतक लगाया था।

अनिल कुंबले (Anil Kumble)

अनिल कुंबले (Anil Kumble)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच और कप्तान अनिल कुंबले का नाम भी इस फेहरिस्त में शुमार है। अपनी शानदार स्पिन गेंदबाजी के लिये मशहूर अनिल कुंबले के नाम टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय खिलाड़ी बनने का रिकॉर्ड है, हालांकि गेंदबाजी के साथ-साथ पूर्व कप्तान ने अपने बल्ले का भी जौहर दिखाया है और इंग्लैंड के खिलाफ 2007 में शतक जमाने का काम किया। अनिल कुंबले की इस शतकीय पारी के कमाल के चलते भारतीय टीम ने 2007 में 21 सालों में पहली इंग्लैंड की सरजमीं पर कोई टेस्ट सीरीज जीती थी।

ओवल के मैदान पर खेले गये तीसरे टेस्ट मैच में अनिल कुंबले ने एमएस धोनी के साथ साझेदारी निभाई और नाबाद 110 रनों की पारी खेली। टेस्ट क्रिकेट में 619 विकेट लेने वाले अनिल कुंबले दुनिया में सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर काबिज हैं।

अजीत अगरकर (Ajit Agarkar)

अजीत अगरकर (Ajit Agarkar)

विदेशी सरजमीं पर शतक लगाने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में तीसरा और आखिरी नाम भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज अजीत अगरकर का है जो कि निचले क्रम में टीम के भरोसेमंद बल्लेबाज हुआ करते थे। भारतीय टीम के लिये वनडे क्रिकेट में ज्यादा विकेट चटकाने वाले इस खिलाड़ी के नाम टेस्ट क्रिकेट में शतक लगाने का रिकॉर्ड है।

अगरकर ने यह कारनामा साल 2002 में ऑस्ट्रेलिया की मुश्किल विकेट पर नवाब पटौदी सीरीज खेलने के दौरान किया था। यह वह दौर था जब अगरकर मुश्किुल दौर से गुजर रहे थे औक ऑस्ट्रलियाके खिलाफ लगातार 5 पारियों में खाता खोल पाने में नाकाम रहे थे। इसी फेहरिस्त में जब वह लॉर्डस के मैदान पर उतरे तो शायद ही किसी ने सोचा होगा कि अगरकर इतिहास रचने वाले हैं।

जब अगरकर बल्लेबाजी करने उतरे तो भारतीय टीम का स्कोर 568 रनों का पीछा करते हुए 170/6 था जिसके बाद अगरकर ने पारी को संभाला और क्रिकेट के मक्का में नाबाद 109 रनों की नाबाद पारी खेली। हालांकि भारत फिर भी मैच नहीं जीत सका।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, June 1, 2020, 20:57 [IST]
Other articles published on Jun 1, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X