IND vs AUS: 'हार' हुई तो पेन को हुआ अफसोस, अश्विन को स्लेज करने के लिए मांगी माफी

India vs Australia Tim Paine नई दिल्लीः भारत ने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट का जो मुजायरा किया है वह इस खेल के विशुद्ध प्रारूप का ढंका आने वाले कई सालों तक बजाएगा। दरअसल टेस्ट विजय, हार या ड्रा बहुत लंबे समय तक असर रखती हैं, बर्शते उनको बड़ी ही पेचीदा परिस्थितियों में हासिल किया गया हो। भारतीय टीम से ज्यादा जटिल स्थिति इस समय किसी टीम की नहीं है लेकिन टीम इंडिया ने शेरों की मानिंग लड़कर हर भारतीय को गर्व का अनुभव कराया और इसी दौरान विपक्षी कप्तान हताश होकर ना केवल क्रिकेटियां गलतियां कर रहा था बल्कि बर्ताव में भी सीमाएं लांघ चुका था।

'शेर बनाम कंगारू' मुकाबला साबित हुआ-

'शेर बनाम कंगारू' मुकाबला साबित हुआ-

असल में यह वास्ताविक अर्थों में शेर बनाम कंगारू मुकाबला साबित हुआ। कंगारू टीम हालांकि अपने लड़ाकू स्वभाव के लिए दुनिया में प्रसिद्ध भी है और कुख्यात भी लेकिन जब हार मिलती है सिवाए माफी मांगने के लिए कुछ बचता नहीं है। यह ड्रा भी ऑस्ट्रेलिया के लिए हार जैसा चुभा है और टिम पेन ने आर अश्विन के साथ किए गए व्यवहार पर माफी मांगी है। उन्होंने विकेट के पीछे ऑफ स्पिनर को स्लेज करना जारी रखा और बदले में उनके तीन कैच भी छोड़ दिए।

इसके 24 घंटे के अंदर ही पेन ने सार्वजनिक तौर पर मैदान पर अपने खराब रवैये के लिए माफी मांग ली।

Ind Vs Aus: टिम पेन ने बताया आखिर क्यों वह टीम इंडिया के हडल में हुए शामिल

पेन ने अपने खराब रवैये के लिए माफी मांग ली-

पेन ने अपने खराब रवैये के लिए माफी मांग ली-

पेन ने कहा," इंटरनेशनल क्रिकेट इस समय बबल जीवन में है और इस दौरान आपके साथ कुछ ऐसा समय आ जाता है जो मैदान में दिखता है और मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ। जिस तरह की चीजें हुई उसके लिए मैं माफी मांगता हूं। मैं वो हूं जिसे टीम को लीड करने में गर्व का अनुभव होता है और कल इस बात को दर्शाने का यह खराब तरीका था।"

उन्होंने कहा, "मेरा नेतृत्व काफी अच्छा नहीं था, मैंने खेल का दबाव अपने ऊपर ले लिया। इससे मेरा मूड प्रभावित हुआ और फिर वहां से मेरे प्रदर्शन पर असर पड़ा। कल जब मैं मैदान से बाहर आया तो मेरा प्रतिबिंब पूरी तरह से मेरी विकेटकीपिंग पर था। मुझे लगता है कि मैंने कल अपने खिलाड़ियों से कहा कि मैंने एक नेता के रूप में बहुत खराब खेल किया है, एक कप्तान के रूप में इतना नहीं, लेकिन निश्चित रूप से एक नेता के रूप में।

अपनी और टीम की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा- पेन

अपनी और टीम की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा- पेन

"मैं एक कप्तान हूं जो खेल का आनंद लेना चाहता हूं। मैं एक कप्तान हूं जो खेल को अपने चेहरे पर मुस्कान के साथ खेलना चाहता है और कल मैं अपनी उम्मीदों और हमारी टीम के मानकों से कम हो गया। इसलिए मैं इंसान हूं, और मैं कल की गई गलतियों के लिए माफी मांगना चाहता हूं। यह निश्चित रूप से इस टीम का नेतृत्व करने के तरीके का प्रतिबिंब नहीं है। हमने पिछले 18 महीनों में वास्तव में बहुत ऊंचे मानक स्थापित किए हैं और कल रडार पर एक झटका था। कुछ ऐसा जो मुझे लगा कि मुझे बाहर आकर पता करने की जरूरत है। "

पेन ने माना कि मैच के समापन से पहले उनका मूड कई दिनों तक खराब रहा था, जब भारत की पहली पारी के दौरान DRS के माध्यम से नॉट आउट के फैसले पर सवाल उठाते हुए उन्होंने अपने असंतोष को प्रकट किया। शुक्रवार को शुरू होने वाले श्रृंखला के निर्णायक मैच से पहले वे ब्रिस्बेन में फिर से जुड़ने के बाद टीम से बात करेंगे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Tuesday, January 12, 2021, 8:52 [IST]
Other articles published on Jan 12, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X