जीत के बाद राहुल के लिए कोहली ने कही बड़ी बात, सोशल मीडिया को भी नसीहत

राजकोटः आखिरकार वैसा ही हुआ जैसा की भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हाई-प्रोफाइल सीरीज से उम्मीद की जाती है। मुंबई में पहला वनडे मुकाबला कंगारूओं ने हैरतअंगेज भरे अंदाज में जीत लिया। 10 विकेट की उस हार को पचाना भारत के लिए बहुत मुश्किल था लेकिन कोहली एंड कंपनी ने राजकोट में बताया कि क्यों टीम इंडिया की दुनिया की सबसे आला टीमों में शामिल किया जाता है। उन्होंने कंगारूओं पर 36 रनों से जीत दर्ज करके सीरीज को 1-1 से बराबर कर दिया है।

जीत के बाद राहुल की मुरीद हुए कप्तान

जीत के बाद राहुल की मुरीद हुए कप्तान

इस मुकाबले में भी ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया था जिसके जवाब जवाब में भारत ने बढ़िया बल्लेबाजी का उदाहरण पेश करते हुए कंगारूओं को जीत के लिए 341 रनों का लक्ष्य दिया। विशाल लक्ष्य के दबाव में कंगारू बल्लेबाजी 304 रनों पर ढेर हो गई और भारत ने 36 रनों से मुकाबला अपने नाम कर लिया। भारत की इस जीत में लोकेश राहुल ने उल्लेखनीय योगदान दिया और पांचवें नंबर पर आकर 52 गेंदों में 80 रनों की पारी खेल दी। एक ऐसी पारी जो पिछले 7 साल में किसी भारतीय ने इस नंबर पर नहीं खेली।

IND vs AUS: 36 रनों से दूसरा ODI जीतकर भारत ने 1-1 से बराबर की सीरीज

'3-D नहीं बल्कि M-D प्लेयर हैं राहुल'

'3-D नहीं बल्कि M-D प्लेयर हैं राहुल'

मैच के बाद कप्तान ने भी राहुल की तारीफ में बड़ी बात कही है और उनको मल्टी डाइमेंशनल खिलाड़ी बताया है। साथ ही कप्तान ने सोशल मीडिया के नुकसान को भी गिनाया है। कोहली ने कहा, "हम सोशल मीडिया के दिनों में रहते हैं और पैनिक बटन बहुत जल्दी दबा दिया जाता है। केएल जैसे खिलाड़ी को बाहर नहीं छोड़ना महत्वपूर्ण है। आपने देखा कि उन्होंने आज कैसी बल्लेबाजी की। यह संभवतः उनकी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेली गई सर्वश्रेष्ठ पारी है है। उन्होंने परिपक्वता और क्लास दिखाई, और हम जानते हैं कि ड्रेसिंग रूम में हम क्या कर रहे हैं।"

धवन के बारे में भी की बात

धवन के बारे में भी की बात

कोहली ने 4 रनों से शतक से चूकने वाले शिखर धवन के बारे में भी बात की और कहा, "शिखर के लिए एक दो खेल काफी महत्वपूर्ण हैं। वह लंबे समय से चोटिल थे और वनडे में वह हमारे सबसे लगातार और आक्रामक प्रदर्शनों में से एक रहे हैं, और वह टीम के लिए स्थिति बदल सकते हैं। यह अच्छी तरह से होता है जब दो सलामी बल्लेबाज एक साथ इतने अच्छे होते हैं। रोहित का बायां कंधा एक दो बार बाहर निकल जाता है, और उन्हें अगले गेम में जाने के लिए अच्छा होना चाहिए।"

राजकोट में ये खास रिकॉर्ड बनाने वाले भारत के पहले स्पिनर बने कुलदीप यादव

'शमी के ओवर ने सब बदल दिया'

'शमी के ओवर ने सब बदल दिया'

कोहली ने गेंदबाजों के बारे में भी बात की और कहा, "मैंने गेंदबाजों से पूछा कि वे क्या करना चाहते हैं और उन्होंने कहा कि यह समय यॉर्कर्स को अंजाम देने का था। ये तीनों वास्तव में यॉर्कर के साथ अच्छे थे, विशेषकर शमी जिन्होंने उस ओवर में सब कुछ बदल दिया।"

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, January 17, 2020, 22:30 [IST]
Other articles published on Jan 17, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X