IND vs AUS: राजकोट वनडे में जीत के लिये भारत को करने होंगे यह 5 बदलाव, नहीं तो हार जायेगी सीरीज

नई दिल्ली। मुंबई के वानखेड़े में पहले मैच के दौरान करारी हार झेलने के बाद भारतीय टीम राजकोट में सीरीज के दूसरे वनडे मैच में भिड़ने को तैयार है। आज (17 जनवरी) राजकोट के मैदान पर होने वाले इस मैच से पहले भारतीय टीम उन सभी गलतियों को दूर करना चाहेगी जिसके चलते उसे पहले मैच में 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया का सारा गेम प्लान फेल हुआ था, जिसके बाद राजकोट में भारतीय टीम और भी अधिक चौकन्नी हो गई है और दूसरे वनड में नए गेम प्लान के साथ उतरना पसंद करेगी।

BCCI contracts: सालाना करार से बाहर होते ही मैदान पर वापस पहुंचे एमएस धोनी

सीरीज में 0--1 से पीछे चल रही भारतीय टीम को अपने गेम प्लान में कुछ अहम बदलाव करके दूसरे मैच जीत हासिल कर वापसी कर सकती है। आइये एक नजर डालते हैं उन 5 बदलावों पर जिसे गेम प्लान में बदलकर भारतीय टीम राजकोट को जीतने का मौका नहीं गंवायेगी।

सिर्फ धोनी ही नही इन दिग्गज खिलाड़ियों से भी छिना है BCCI Contract, जानें क्या होता है यह करार

टीम में नवदीप सैनी को मिले जगह

टीम में नवदीप सैनी को मिले जगह

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में जहां भारतीय टीम की बल्लेबाजी लड़खड़ा गई थी वहीं गेंदबाजी भी फुस्स साबित हुई। भारतीय गेंदबाज एक भी विकेट निकाल पाने में नाकामयाब रहे।

ऐसे में भारतीय टीम प्लेइंग इलेवन में बदलाव कर नवदीप सैनी को मौका देना चाहिये। विराट कोहली इसके लिये शार्दुल ठाकुर या मोहम्मद शमी दोनों में किसी भी एक खिलाड़ी को आराम दे सकते हैें।

शार्दुल बॉलिंग के साथ-साथ कुछ बड़े शॉट्स खेल लेते हैं और शायद इसी वजह से उन्हें प्लेइंग इलेवन में तरजीह मिली हुई है, लेकिन सैनी की गेंदबाजी में काफी पैनापन है और ऐसे में उनकी वापसी से टीम की गेंदबाजी मजबूत हो सकती है।

श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज में इन दोनों गेंदबाजों ने 5-5 विकेट हासिल किये लेकिन शार्दुल के मुकाबले सैनी की लेंथ ज्यादा बेहतर दिखाई दी।

इसके अलावा सैनी काफी तेज गेंदबाजी करते हैं और वेरिएशन के मामले में भी शार्दुल से बेहतर हैं। ऐसे में उन्हें प्लेइंग इलेवन में शामिल करना एक अच्छा फैसला साबित हो सकता है।

बल्लेबाजी क्रम में बदलाव न करें विराट कोहली

बल्लेबाजी क्रम में बदलाव न करें विराट कोहली

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में भारत ने बल्लेबाजी क्रम में कई एक्सपेरिमेंट किये जिसका खामियाजा उसे भुगतना पड़ा। तीन नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले कप्तान विराट कोहली 4 नंबर पर आये तो ज्यादा रन बना न सके। वहीं 4 नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले श्रेयस अय्यर पर भी इसका प्रभाव पड़ा और वह 5 नंबर पर टिक न सके।

ऐसे में भारतीय टीम चाहेगी कि विराट कोहली नंबर तीन पर ही बल्लेबाजी करें क्योंकि आंकड़े को अनुसार नंबर 3 पर बल्लेबाजी करते हुए विराट कोहील ज्यादा रन बनाते हैं। ऐसे में केएल राहुल या शिखर धवन को नंबर 5 पर बल्लेबाजी के लिये भेजना चाहिये। क्योंकि आप एक साथ तीन सलामी बल्लेबाजों को नहीं खिला सकते। विराट और अय्यर को नंबर-3 और नंबर-4 पर ही बल्लेबाजी करनी चाहिए।

जसप्रीत बुमराह की फॉर्म पर बड़ा सवाल

जसप्रीत बुमराह की फॉर्म पर बड़ा सवाल

चोट की वजह से लंबे समय तक मैदान से दूर रहने वाले जसप्रीत बुमराह ने इसी महीने श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज में वापसी की है। हालांकि उनकी वापसी में अभी वो पैनापन नजर नहीं आ रहा जिसके लिये वो जाने जाते हैं।

जब से बुमराह वापस लौटे हैं, काफी रन लुटा रहे हैं और विकेट निकाल पाने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। ऐसे में भारतीय टीम को जसप्रीत बुमराह की फॉर्म में सुधार काफी जरूरी है।

बुमराह की फॉर्म में वापसी से टीम इंडिया की एक चौथाई मुश्किलें खत्म हो सकती हैं। श्रीलंका के खिलाफ दो टी20 इंटरनेशनल मैचों में बुमराह ने दो ही विकेट लिए थे और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे इंटरनेशनल में वो महंगे भी साबित हुए थे।

केदार जाधव को टीम में मिले मौका

केदार जाधव को टीम में मिले मौका

राजकोट में होने वाले दूसरे वनडे में चोट की वजह से ऋषभ पंत टीम से बाहर चल रहे हैं, ऐसे में विराट कोहली के पास उनकी जगह एक ऑलराउंडर को खिलाने का मौका है।

विराट कोहली ऋषभ पंत की जगह प्लेइंग इलेवन में केदार जाधव या शिवम दुब को मौका दे सकते हैं। ऑलराउंडर के आने से टीम की बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों को मजबूती मिल सकती है।

हालांकि ज्यादा अनुभवी होने के कारण केदार जाधव के पक्ष में ज्यादा फैसला जा सकता है। ऐसे में उनके प्लेइंग इलेवन में शामिल होने से टीम का बैलेंस बेहतर हो सकता है।

विकेटकीपिंग में सुधार की दरकार

विकेटकीपिंग में सुधार की दरकार

वानखेड़े में ऋषभ पंत के चोटिल हो जाने के चलते केएल राहुल को विकेटकीपिंग करनी पड़ी और सीरीज में दूसरा कोई बैकअप विकेटकीपर न होने के चलते इसमें भी यही करना पड़ेगा।

ऐसे में केएल राहुल को अपनी विकेटकीपिंग में काफी सुधार करना होगा क्योंकि पहले मैच के दौरान वह काफी असहज नजर आ रहे थे और उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, January 17, 2020, 11:28 [IST]
Other articles published on Jan 17, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X