आईपीएल में ना बिकने पर हनुमा विहारी ने दिया बयान, कोहली के लिए कही बड़ी बात

नई दिल्ली: हनुमा विहारी को इस बार आईपीएल में कोई खरीददार नहीं मिला है। पिछली बार उनको दिल्ली कैपिटल द्वारा 2 करोड़ रुपये में खरीदा गया था, जबकि विहारी ने अपना बेस प्राइस 50 लाख रुपये रखा था। लेकिन इस बार यह लाल गेंद का बेजोड़ बल्लेबाज खुद को अनसोल्ड प्लेस पर पा रहा है।

हालांकि विहारी अब आईपीएल के बारे में सोचना नहीं चाहते हैं और उनका अगला ध्यान भारत के न्यूजीलैंड दौरे पर टिका हुआ है।

IPL में ना बिकने पर बोले विहारी-

IPL में ना बिकने पर बोले विहारी-

इस बारे में बात करते हुए विहारी ने कहा, "यह मेरे नियंत्रण में नहीं है और मैं वास्तव में इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहता। मेरा काम अच्छी तरह से खेलना और मैच जीतना है। मैंने सफेद गेंद के क्रिकेट में राज्य की टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है। इसलिए जब भी मुझे मौका मिलता है मैं भारत टीम के लिए भी अच्छा करूंगा।

11 साल के शानदार करियर के बाद पीटर सिडल ने कहा इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा

"अब, मैं वास्तव में न्यूजीलैंड की यात्रा का इंतजार कर रहा हूं। मेरे पास दो भारत ए गेम हैं जिनके बाद टेस्ट श्रृंखला (फरवरी-मार्च में) है। यह हमारे लिए एक महत्वपूर्ण श्रृंखला होगी क्योंकि हमारे पास लंबे समय तक टेस्ट श्रृंखला नहीं होगी। हमको बहुत समय बाद फिर ऑस्ट्रेलिया जाना है। इसलिए यह एक अच्छी श्रृंखला होगी और मैं वास्तव में भारत ए का नेतृत्व करने के लिए उत्सुक हूं। "

पूरा फोकस अब कीवीलैंड पर-

पूरा फोकस अब कीवीलैंड पर-

विहारी ने पिछली बार न्यूजीलैंड दौरा तब किया था जब अजिंक्य रहाणे की अगुवाई वाली भारत ए टीम दो प्रथम श्रेणी मैच खेलने के लिए पिछले साल नवंबर में न्यूजीलैंड गई थी। इसलिए विहारी परिस्थितियों से अवगत हैं।

उन्होंने माउंट मंगनुई में पहले अनौपचारिक टेस्ट में अपनी दोनों पारियों (86 और नाबाद 51) में अर्धशतक बनाए थे।

विहारी ने कहा, "हवा तेज होने के कारण, स्विंग गेंदबाजी को सहायता मिलेगी। यह एक चुनौती होगी। लेकिन सभी को भारतीय टीम में अच्छी तकनीक मिली है और हमने बल्लेबाजी इकाई के रूप में विदेशों में अच्छा प्रदर्शन किया है।"

फिलहाल टेस्ट प्लेइंग इलेवन में भी जगह पाने की चुनौती

फिलहाल टेस्ट प्लेइंग इलेवन में भी जगह पाने की चुनौती

मध्यक्रम के बल्लेबाज, विहारी को भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर बॉक्सिंग डे टेस्ट में ओपनिंग के लिए कह दिया गया था और वहां उन्होंने उन्होंने मिशेल स्टार्क, जोश हेज़लवुड और पैट कमिंस के खिलाफ एमसीजी परिस्थितियों को चुनौती देने से पहले अच्छी तकनीक दिखाई थी।

विहारी के जोड़ीदार मयंक अग्रवाल (76) ने उस मैच में डेब्यू किया था और चेतेश्वर पुजारा ने शतक जड़ा, जबकि कप्तान विराट कोहली ने 82 रन बनाए और भारत ने 443/7 पर घोषित किया और उनको 137 रन की जीत हासिल हुई थी।

धोनी के संन्यास पर गांगुली ने कोहली के पाले में डाली गेंद, भारतीय टी-20 टीम में बताई एक कमी

विहारी ने कहा, "यह एकमात्र मैच था जिसमें मैंने ओपनिंग की ... अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आपको जो भी मौका मिला है, आपको यह सुनिश्चित करना है कि आप उसमें अपना प्रभाव छोड़ों क्योंकी यहां पर काफी ज्यादा प्रतिस्पर्धा है।"

विराट कोहली के लिए कही ये बात

विराट कोहली के लिए कही ये बात

26 वर्षीय विहारी ने वेस्टइंडीज दौरे पर सबसे ज्यादा रन बनाए थे और किंग्सटन टेस्ट में अपना पहला शतक (111) बनाया था। भारत ने वह सीरीज 2-0 से जीत ली थी। वेस्टइंडीज दौरे में 96.33 की औसत से 289 रन बनाने वाले विहारी को लगता है कि उनके अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शन से उनकी टीम में काफी सुधार हुआ है।

विहारी ने कहा कि उन्होंने कप्तान कोहली से बहुत कुछ सीखा है और हर कोई टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में एक-दूसरे की सफलता का आनंद लेता है। "वह (कोहली) एक बहुत दृढ़ और प्रतिबद्ध क्रिकेटर है और अपने खेल के बारे में भावुक है। वह हमेशा चाहते हैं कि टीम नंबर एक पर रहे और इसलिए हम हैं। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है।"

उन्होंने कहा, "मैदान पर वह जो रवैया दिखाते हैं और वह जिस अनुशासन से मैदान में उतरते हैं, वह वास्तव में आश्चर्यजनक है। "

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Sunday, December 29, 2019, 9:01 [IST]
Other articles published on Dec 29, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X