'लोगों ने कहा भारत अश्विन को मिस करेगा, विराट कोहली ने कहा, 'नहीं, हम नहीं करेंगे'

लंदनः भारतीय टीम विदेशों में जब लोकप्रिय टेस्ट जीत हासिल करती है तो कई सारी चीजें सामने आती हैं। टीम का मनोबल बहुत ऊंचा होता है और फैंस के लिए क्रिकेट का असली प्रारूप एक बार फिर अपनी महिमा दिखा चुका होता है। विदेशी धरती पर एक टेस्ट जीत कई सालों तक यादगार रहती है इसलिए उसके इर्द-गिर्द विचारों का इतना बड़ा समूह बन जाता है कि कई दिन तक बातें चलती रहती हैं। भारत को एक लोकप्रिय और साहसिक जीत द ओवल में मिली है और इस पर दुनिया के हर कोने से बातें हो रही हैं। दुनिया मान रही है कि भारत हार नहीं मानता। भारत असली क्रिकेट में असली जीवटता दिखा जाता है।

कोहली ने एक्जाम पास कर लिया- नासिर हुसैन

कोहली ने एक्जाम पास कर लिया- नासिर हुसैन

ये सब बातें एक टीम के आसपास आभा का निर्माण करती हैं जिसके तले कई युवा खिलाड़ियों को लगातार बेहतर करने की प्रेरणा मिलती है। भारत दुनिया के लिए टेस्ट क्रिकेट में एक मिसाल तो बनता ही जा रहा है। आप इस देश में क्रिकेट को कितना भी प्यार करें और कितनी भी आलोचना लेकिन टीम इंडिया से उसकी ये उपलब्धि कोई कमतर करके छीन नहीं सकता। टेस्ट क्रिकेट को लेकर कभी भी दुनिया में ओलंपिक का आयोजन नहीं हो पाएगा लेकिन टीम इंडिया इस समय गोल्ड मेडलिस्ट सरीखी है।

एक बार फिर से रविवार को ओवल में भारत की जीत ने खेल के कई विशेषज्ञों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस बीच, इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने डेली मेल के लिए अपने नवीनतम कॉलम में कोहली की कप्तानी के बारे में लिखा। क्रिकेटर से कमेंटेटर बने नासिर ने कहा कि कोहली ने ऐतिहासिक टेस्ट जीत दिलाई।

18 महीने में पहली बार श्रीलंका ने जीती कोई ODI सीरीज, दक्षिण अफ्रीका को हराया

ऑस्ट्रेलिया के बाद भारत एक और फेमस सीरीज से एक कदम दूर-

ऑस्ट्रेलिया के बाद भारत एक और फेमस सीरीज से एक कदम दूर-

हुसैन ने डेलीमेल में अपने कॉलम में लिखा, "मैंने पांचवें दिन की शुरुआत में कहा था कि यह विराट कोहली की कप्तानी की एक बड़ी परीक्षा होने जा रही है और उन्होंने उस परीक्षा को पूरे रंग के साथ पास किया।"

"उस ओवल पिच ने सीमर के लिए बहुत कम पेशकश की और रवींद्र जडेजा के बाएं हाथ की स्पिन के लिए केवल थोड़ी ही खुरदरी सतह थी। लेकिन किसी तरह उन्होंने आखिरी दिन इंग्लैंड के 10 विकेट झटक लिए। हर गेंदबाजी बदलाव ने काम किया, और इसी तरह मैदान में हर बदलाव किया। और जब उन्होंने चाय के बाद दूसरी नई गेंद ली, तो इसने सीधे एक विकेट लिया, जिसमें उमेश यादव को क्रेग ओवरटन का मिला। "

"एक तरह से या कोहली का मिडास टेस्ट था, जिसे उन्होंने छुआ, वह सब कुछ सोने में बदल गया, और भारत अब एक प्रसिद्ध श्रृंखला जीत से एक गेम दूर है, उन्होंने कुछ ही समय पहले ऑस्ट्रेलिया को उनके घर में हराया है।

'कोहली ने साफ कर दिया, 'हम नहीं करेंगे अश्विन को मिस'

'कोहली ने साफ कर दिया, 'हम नहीं करेंगे अश्विन को मिस'

नासिर हुसैन आगे रविचंद्रन अश्विन पर बात करते हुए कहते हैं कि कोहली ने साबित कर दिया कि टीम इंडिया इस स्पिनर को मिस नहीं करने जा रही है।

हुसैन लिखत हैं, "यहां तक ​​​​कि टेस्ट क्रिकेट में शीर्ष क्रम के स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का चयन न होना भी अब साइड की बात हो गई। लोगों ने कहा कि भारत उन्हें मिस करेगा। कोहली ने कहा: 'नहीं, हम मिस नहीं करेंगे। मैं अपने तेज गेंदबाजों का समर्थन कर रहा हूं।' और वह सही साबित हुए। "

अश्विन गैर मौजूदगी ने कुछ भौंहें चढ़ा दीं लेकिन मेहमान टीम एक यादगार जीत हासिल करने में सफल रही। हुसैन ने उल्लेख किया कि कोहली ने जडेजा का सबसे अच्छा उपयोग किया।

हुसैन ने कहा, "कोहली ने जडेजा को भी चतुराई से इस्तेमाल किया। अपने स्पिनर को एक छोर पर रखकर, भारत के कप्तान दूसरे छोर पर तेज गेंदबाजों को घुमा सकते थे, उन्हें शॉर्ट, शार्प बर्स्ट में इस्तेमाल कर सकते थे और उन्हें तरोताजा रख सकते थे। मोईन को नजरअंदाज करके रूट ने अपने तेज गेंदबाजों को मैदान में फेंक दिया।"

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Wednesday, September 8, 2021, 10:26 [IST]
Other articles published on Sep 8, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X