शोएब अख्तर का बड़ा खुलासा, बताया- इंग्लैंड दौरे पर रात 12 बजे होती थी परेशानी

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की पसलियों को अपनी गेंदबाजी से परेशान करने वाले पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने हाल ही में 1999 के अपने इंग्लैंड के दौरे को याद किया और खुलासा करते हुए बताया कि उस दौरे पर उन्हें हर रोज रात 12 एक खास तरह की पेरशानी का सामना करना पड़ता था। उल्लेखनीय है कि दुनिया भर में फैली महामारी कोरोना वायरस के बीच पाकिस्तान की क्रिकेट टीम अगस्त-सितंबर में इंग्लैंड के साथ खेली जाने वाली टेस्ट और टी-20 सीरीज के लिय इंग्लैंड पहुंच चुकी है। यहां पहुंचे सभी खिलाड़ियों का कोरोना टेस्ट कराया जिसमें सभी खिलाड़ी नेगेटिव पाये गये हैं। फिलहाल पाकिस्तान दौरे पर गई पूरी टीम 14 दिनों के लिये क्वारंटीन है।

और पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया में पकड़ा गया भारतीय फिक्सिंग रैकेट, बढ़ गई BCCI का टेंशन

अपनी तेज गेंदबाजी से दुनिया भर को परेशान करने वाले शोएब अख्तर ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए बताया कि जब वह इंग्लैंड दौरे पर जाते थे तो उन्हें खाने को लेकर खासा परेशानी का सामना करना पड़ता था।

और पढ़ें: इरफान पठान का खुलासा, बताया- क्यों सफल है रोहित-धवन की जोड़ी

मुश्किल से गुजरने वाला है आइसोलेशन का वक्त

मुश्किल से गुजरने वाला है आइसोलेशन का वक्त

शोएब अख्तर ने इंग्लैंड दौरे पर पहुंची पाकिस्तान टीम की बात करते हुए कहा कि खिलाड़ियों के लिये आइसोलेशन का यह वक्त मुश्किल से गुजरने वाला है। अख्तर का मानना है कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों को खाने का बड़ा शौक होता है और इंग्लैंड में खाना बदलने के चलते काफी परेशानी होने वाली है। इस पर बात करते हुए उन्होंने अपने दौरे को याद किया और बताया कि कैसे उन्हें हर रोज रात 12 बजे भूख लग जाती थी।

उन्होंने कहा,'हम लोगों को रोटी खाने का बड़ा शौक होता है, रोटी खाये बिना पेट नहीं भरता। इंग्‍लैंड जाने पर खाना बदल जाता है। वहां सलाद आदि खाने पड़ते हैं और ये सब चीजें जल्‍दी हजम हो जाती है। जिसके कारण उन्‍हें ठीक 12 बजे के करीब भूख लग जाती थी।'

रात के 12 बजे चिकन बीफ खाते थे अख्तर

रात के 12 बजे चिकन बीफ खाते थे अख्तर

शोएब अख्तर ने आगे बताया कि इससे निपटने के लिये वह रात के 12 बजे इंडियन-पाकिस्तानी रेस्टॉरेंट में कॉल करके चिकन बीफ या शोरमा मंगाते थे।

उन्होंने कहा,' मुझे अक्सर रात को करीब 12 बजे तक भूख लग जाती थी। ऐसे में मैं सीधे फोन करके एक शोरमा लाने का ऑर्डर करता था जिसमें चिकन, बीफ डाला होता था। इसे खाने के बाद ही मुझे नींद आती थी। कई बार रात को पास के हिंदुस्तानी या पाकिस्तानी होटल में भी चला जाता था। जब भी कोई पूछता था कि कहां जा रहे तो कहता था खाना खाने।'

डिफेंसिव एटिट्यूड से बचना होगा

डिफेंसिव एटिट्यूड से बचना होगा

शोएब अख्तर ने पाकिस्तान क्रिकेट टीम के 14 दिनों के आइसोलेशन पर बात करते हुए कहा कि कोई प्रैक्टिस मैच न होने के चलते यह काफी मुश्किल होने वाला है। ऐसे में यही उम्मीद कर सकते हैं कि खिलाड़ियों को अच्छा खाना खाने को मिले। इस दौरान उन्होंने टीम के नये बल्लेबाजी कोच युनूस खान पर भी निशाना साधा और कहा कि उन्हें अपने डिफेंसिव एटिट्यूड को बदलना चाहिये।

उन्होंने कहा, 'युनूस खान ने ऐसा बयान दिया कि जोफ्रा आर्चर ने बचना होगा, वो मारते हैं। मुझे लगता है कि युनूस खान को ऐसा बयान नहीं देना चाहिए। युनूस को अपना ऐसा एटीट्यूड युवाओं के लिये गलत संदेश ले जा सकता है। पाकिस्‍तान बोर्ड ने 43 लोगो का काफी बड़ा दल भेजा। जिसमें 23 के करीब खिलाड़ी, फिर डॉक्‍टर, सपोर्ट स्‍टाफ और भी लोग हैं। हालांकि पाकिस्‍तान बोर्ड ने इंग्‍लैंड के साथ सीरीज करवा ली। इंग्‍लैंड के पास लंबा चौड़ा बैटिंग लाइन अप है। पाकिस्‍तान की टेस्‍ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है, मगर उन्‍हें पॉजिटिव माइंड सेट के साथ खेलने की जरूरत है।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, July 1, 2020, 18:52 [IST]
Other articles published on Jul 1, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X