'पाकिस्तान की टीम में उन दो खिलाड़ियों को देनी चाहिये थी जगह', पूर्व क्रिकेटर ने WC सेलेक्शन पर उठाये सवाल

नई दिल्ली। यूएई में 17 अक्टूबर से शुरू होने वाले आगामी टी20 विश्वकप 2021 में भारतीय टीम को अपना पहला मैच पाकिस्तान के साथ होना है, जिसको लेकर फैन्स और पूर्व क्रिकेटर्स के बीच काफी माहौल तैयार किया जा चुका है। इस बीच पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अपनी विश्वकप की टी20 टीम में बदलाव करते हुए सरफराज अहमद, हैदर अली, शोएब मलिक और फखर जमान की वापसी करायी है। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने सितंबर में जब अपनी 15 सदस्यीय टीम का ऐलान किया था तो उसे काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था जिसके बाद सेलेक्शन कमिटी ने प्रदर्शन का हवाला देते हुए यह 4 बदलाव किये हैं।

और पढ़ें: DC vs CSK: हेटमायर का विकेट लेते ही ड्वेन ब्रावो ने रचा इतिहास, ऐसा करने वाले पहले गेंदबाज बने

इस बीच पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शोएब महमूद ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की सेलेक्शन पॉलिसी पर सवाल उठाये हैं और कहा है कि टी20 विश्वकप जैसे बड़े टूर्नामेंट के लिये खिलाड़ियों का चयन उसके स्ट्राइक रेट के हिसाब से नहीं होना चाहिये। इस दौरान उन्होंने कुछ खिलाड़ियों का भी नाम लिया जो कि उनके हिसाब से टी20 विश्वकप टीम का हिस्सा बनना चाहिये थे।

और पढ़ें: 'उसे क्यों ढो रहा है पाकिस्तान', विश्वकप टीम में सरफराज को शामिल करने पर नाराज हुए इंजमाम उल हक

मोहम्मद आमिर और वहाब रियाज को भी मिलनी चाहिये थी जगह

मोहम्मद आमिर और वहाब रियाज को भी मिलनी चाहिये थी जगह

शोहेब महमूद का मानना है कि टी20 विश्वकप टीम में पाकिस्तान को तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर और वहाब रियाज को हरफनमौला खिलाड़ी शोएब मलिक के साथ जगह देनी चाहिये। उल्लेखनीय है कि शोएब मलिक को पहले टीम में जगह नहीं दी गई थी लेकिन शोहेब मकसूद के चोटिल होने के बाद उन्हें जगह दी गई।

उन्होंने कहा,'मोहम्मद आमिर, वहाब रियाज और शोएब मलिक को भी टी20 विश्वकप टीम का हिस्सा बनना चाहिये ते। मलिक न सिर्फ शानदार बल्लेबाज हैं बल्कि बेहतरीन फील्डर भी हैं। वह बड़े शॉट खेल सकते हैं और स्ट्राइक रोटेट करने की कला को भी अच्छे से समझते हैं, जबकि मोहम्मद आमिर और वहाब रियाज के पास गेंद को हिलाने की काबिलियत है।'

विश्वकप में युवा के बजाय अनुभव का करना चाहिये चयन

विश्वकप में युवा के बजाय अनुभव का करना चाहिये चयन

पाकिस्तान के इस पूर्व बल्लेबाज ने मिस्बाह उल हक और वकार यूनिस के इस मेगा इवेंट से पहले कोचिंग स्टाफ से इस्तीफा देने पर भी नाराजगी जताई। इस दिग्गज क्रिकेटर का मानना है कि विश्वकप जैसे बड़े टूर्नामेंट में युवा खिलाड़ियों के बजाय टीम को अनुभवी प्लेयर्स का चयन करना चाहिये।

उन्होंने कहा,'मिस्बाह उल हक के सेटअप में टीम की मानसिकता में काफी कमियां थी, जैसे कि फखर जमान को मध्यक्रम में खिलाने का फैसला सवालों के घरे में रहा। भले ही वह क्रिकेट के सबसे बड़े स्तर पर खेल कर आ रहे हैं लेकिन पाकिस्तान के उभरते खिलाड़ियों को देखने पर यही लगता है कि आप टॉप पर रहते हुए स्टूडेंट नहीं हो सकते हैं। मेरी मानसिकता कहती है कि अगर आप अपने देश के लिये खेल रहे हों तो आपको शिक्षक बनना होता है।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 भविष्यवाणी
Match 18 - October 26 2021, 03:30 PM
दक्षिण अफ्रीका
वेस्टइंडीज
Predict Now

Story first published: Sunday, October 10, 2021, 20:48 [IST]
Other articles published on Oct 10, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X