मार्टिन गुप्टिल की हालत हो गई थी पतली, 93 रनों की पारी खेलने के बाद कम हुआ 4.4 किलो वजन

नई दिल्लीः मार्टिन गुप्टिल न्यूजीलैंड के एक शानदार ओपनर हैं और उन्होंने खुलासा किया है कि वे स्कॉटलैंड के खिलाफ मुकाबले में लगभग साढे़ चार किलो वजन कम करा बैठे थे। उन्होंने उस मुकाबले में मैच विजेता पारी खेली लेकिन दुबई की गर्मी के चलते उनको 4.4 किलो वजन की कमी का भी पता लगा।

गुप्टिल ने तब 56 गेंदों पर 93 रनों की पारी खेली थी और 6 चौके व 7 छक्के जड़ते हुए कीवियों को 5 विकेट पर 172 रन बनान में मदद की थी। हालांकि स्कॉटलैंड ने भी बढ़िया करते हुए रनों का पीछा किया और 156 रन बनाकर 16 रनों से ही हार का सामना किया।

गर्म और उमस भरी परिस्थितियों में बैटिंग-

गर्म और उमस भरी परिस्थितियों में बैटिंग-

गुप्टिल ने 92 मिनट तक गर्म और उमस भरी स्थितियों में बैटिंग की और वे 19वें ओवर में आउट हुए। 35 साल के खिलाड़ी ने यह बात स्वीकार की है कि इतनी देर तक बैटिंग करने के बाद उनकी हालत पतली हो गई थी। इस पारी ने गुप्टिल के टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 3 हजार रन भी पूरे कराए थे और वे विराट कोहली के बाद ऐसा करने वाले केवल दूसरे बल्लेबाज बने थे।

TVNZ's Breakfast hours पर बात करते हुए कहा, जब मैं बैटिंग करके मैदान के बाहर आया, मेरा 4.4 किलो वजन कम हो चुका था तो मुझे पानी की कमी को पूरा करने की प्रक्रिया जल्दी शुरू करनी पड़ी।

मुदस्सर नजर ने कोहली को लेकर की ये भविष्यवाणी, गावस्कर और तेंदुलकर से बेहतर बताया

टी20 क्रिकेट के बड़े बल्लेबाज हैं गुप्टिल-

टी20 क्रिकेट के बड़े बल्लेबाज हैं गुप्टिल-

गुप्टिल ऐसे पहले बल्लेबाज भी बने हैं जिन्होंने टी20 इंटनरेशनल में 150 छक्के मारे हैं। भारत के रोहित शर्मा इस लिस्ट में 137 छक्के लगाकर दूसरे नंबर पर हैं जिसके बाद क्रिस गेल का नंबर आता है जिन्होंने 122 छक्के लगाए हैं। इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन 119 छक्के लगा चुके हैं।

गुप्टिल ने टी20 इंटरनेशनल में रोहित शर्मा के 90 प्लस स्कोर बनाने के रिकॉर्ड की भी बराबरी कर ली है। दोनों ओपनिंग बल्लेबाजों ने इस फॉर्मेट के इंटरनेशनल लेवल पर 5 बार 90 प्लस का स्कोर किया है।

गर्मी में टी20 खेलना चुनौतीपूर्ण- गुप्टिल

गर्मी में टी20 खेलना चुनौतीपूर्ण- गुप्टिल

गुप्टिल ने मैच के बाद कहा था, "वहां गर्मी थी। मेरी हालत पतली थी लेकिन हमारे एक डे ऑफ है तो मैं ज्यादा कुछ नहीं करूंगा। ये काफी चुनौतीपूर्ण है, खासकर तब जब ग्लैन हर गेंद पर दो रन लेने की कोशिश कर रहे हैं। जब आप पारी के अंत तक जाते हो तो ज्यादा से ज्यादा रन बनाने की कोशिश करते हो, बल्लेबाज को तेजी से घुमाते हो, और दो रनों को चुराने की भी कोशिश करते हो।

"इन सब चीजों में आपका दम निकल जाता है। मुझे फील्डिंग के दौरान क्रैम्प आ गए थे। यह मुश्किल था। मैं पहले भी गर्मी में खेल चुका हूं लेकिन टी20 क्रिकेट में आपको लगातार एक्टिव रहना होता है तो यह घर की तुलना में ज्यादा थकाने वाला काम है।"

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, November 5, 2021, 12:19 [IST]
Other articles published on Nov 5, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X