विराट कोहली ने बताया कैसे धोनी ने कप्तान बनने में निभाया अहम रोल

नई दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान एमएस धोनी के दीवानों की कमी नहीं है, मैदान के बाहर हो या मैदान के अंदर, फैन्स से लेकर खिलाड़ी तक धोनी का सम्मान करते हैं और अभी उन्हें खेलते हुए देखना चाहते हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली फिलहाल धोनी की ही विरासत को आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं और एक सफल कप्तान की तरह टीम के साथ नये-नये कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। इस बीच शनिवार को भारतीय कप्तान विराट कोहली ने एमएस धोनी की जमकर तारीफ की है। सोशल मीडिया पर अपने साथी खिलाड़ी आर अश्विन के साथ इंस्टाग्राम पर लाइव चैट के दौरान विराट कोहली ने बताया कि वह हमेशा से टीम में जिम्मेदारी लेना चाहते थे और कप्तान बनने की जिम्मेदारी उसी प्रक्रिया का हिस्सा थी।

विराट कोहली ने अपनी कप्तानी की सफलता के पीछे का श्रेय धोनी को देते हुए कहा,' धोनी की देख-रेख में 6 साल तक खेलने के चलते वह आज बेहतर कप्तान बनकर उभरे हैं। मुझे लगता है कि इसका बहुत बड़ा कारण यह है कि लंबे समय तक मैं एम एस धोनी की देखरेख में खेला । ऐसा नहीं है कि उनके जाते ही चयनकर्ताओं ने मुझसे कहा कि चलो अब तुम कप्तान हो ।'

और पढ़ें: खेल रत्न के लिये BCCI ने भेजा रोहित शर्मा का नाम, अर्जुन अवॉर्ड के लिये चुने यह क्रिकेटर

इस बातचीत के दौरान कोहली ने बताया कि कैसे एमएस धोनी ने ही उन्हें टीम के अगले कप्तान के रूप में तैयार किया और चयनकर्ताओं के सामने उनके नाम की पेशकश की।

उन्होंने कहा ,'जो कप्तान है , वह जिम्मेदारी लेता है और कहता है कि यह अगला कप्तान हो सकता है और मैं आपको बताऊंगा कि यह कैसे उस दिशा में बढ़ रहा है। इसके बाद धीरे धीरे जिम्मेदारी लेने की ओर बढा जाता है। मुझे लगता है कि इस मामले में उनकी काफी बड़ी भूमिका रही। छह सात साल में विश्वास बना, यह रातोंरात नहीं होता ।'

और पढ़ें: बिना विदेशी खिलाड़ियों के नहीं हो सकता आईपीएल, Kings XI पंजाब के मालिक ने दिया बड़ा बयान

कोहली ने कहा कि मैदान पर हमेशा धोनी के आस-पास ही खड़ा होता था और उस दौरान हमारे बीच जो बात चीत होती थी उसी से उन्हें अहसास हुआ कि मैं टीम की जिम्मेदारी ले सकता हूं।

उन्होंने कहा ,'मैं हमेशा उनके बगल में खड़ा होता था । वह कहते रहते थे कि ये कर सकते हो, वो कर सकते हो । तुम्हे क्या लगता है। कई चीजों पर बात होती थी। धीरे धीरे उन्हें लगा कि मैं उनके बाद कप्तानी कर सकता हूं। मुझे जिम्मेदारी लेना पसंद है। मैने सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं भारत का कप्तान बनूंगा। हमने एक समय पर खेलना शुरू किया। उसके बाद खेलते रहना ही मकसद था।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Saturday, May 30, 2020, 21:50 [IST]
Other articles published on May 30, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X