Football: हो गया ISL के 7वें सीजन का ऐलान, जानें कब से कब खेला जायेगा टूर्नामेंट

नई दिल्ली। भारतीय फुटबॉल की सबसे बड़ी फ्रैंचाइजी लीग इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन का ऐलान हो गया है। बेसब्री से इंतजार कर रहे फैन्स के लिये आईएसएल को लेकर सबसे बड़ा सवाल था कि क्या कोरोना वायरस के बीच इस बार यह टूर्नामेंट आयोजित किया जायेगा या फिर आईपीएल की तरह इसे भी अनिश्चित कालीन समय तक टाल दिया जायेगा। फैन्स के सवालों का जवाब देते हुए इंडियन सुपर लीग के आयोजकों ने इस लीग के 7वें सीजन को आयोजित कराने का ऐलान कर दिया है और साफ कर दिया है कि 7वें सीजन का आगाज नवंबर में होगा और इसका अंत मार्च 2021 में होगा।

और पढ़ें: सौरव गांगुली का खुलासा, बताया- क्यों सचिन तेंदुलकर नहीं खेलते थे मैच की पहली गेंद

कोरोना वायरस को देखते हुए आईएसल के आयोजक फुटबॉल स्पोर्टस डेवलेपमेंट लिमिटेड और क्लब के प्रतिनिधियों के बीच सोमवार को बैठक की गई जिसमें आगामी सीजन के रूपरेखा को लेकर चर्चा की गई। महामारी को देखते हुए इस टूर्नामेंट को बिना दर्शकों के खाली स्टेडियम में कराये जाने की तैयारी की जा रही है, जिसकी मेजबानी 2 राज्यों में हो सकती है। रिपोर्ट के अनुसार मेजबान शहरों की दौड़ में केरल और गोवा सबसे आगे हैं।

और पढ़ें: फुटबॉल खेलते-खेलते कैसे भारत की गोल्डन गर्ल बन गई हिमा दास, आसान नहीं था सफर

नवंबर से मार्च के बीच होगा आयोजन

नवंबर से मार्च के बीच होगा आयोजन

न्यूज एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए आईएसएल के एक करीबी सूत्र ने बताया, ‘निश्चित तौर पर लीग का आयोजन खाली स्टेडियम में होगा और इसकी तारीख नवंबर से मार्च के बीच होगी। संभावित स्थलों के रूप में केरल, गोवा, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर पर चर्चा की गई लेकिन इस समय गोवा और केरल को प्रबल दावेदार कहा जा सकता है।'

मेजबानी में इन शहरों का नाम सबसे आगे

मेजबानी में इन शहरों का नाम सबसे आगे

इस दौरान सूत्र ने यह भी बताया कि इस टूर्नामेंट का आयोजन महज 1 या फिर 2 शहरों की मेजबानी में सीमित किया जा सकता है।

उन्होंने कहा, ‘योजना एक या दो राज्य के कई स्थलों पर मेजबानी करने की है। जहां तक कोविड-19 का सवाल है तो केरल और गोवा कई अन्य राज्यों की तुलना में इस समय बेहतर स्थिति में है और यही उन्हें वहां मेजबानी के लिए अनुकूल बनाता है। सभी चीजों में आगे आंतरिक रूप से चर्चा होगी और आईएसएल राज्य तथा केंद्र सरकारों के साथ मिलकर काम करेगा।'

आयोजन से पहले कई बातों का रखना होगा ध्यान

आयोजन से पहले कई बातों का रखना होगा ध्यान

आईएसएल के आयोजन पर सूत्र ने कहा कि राज्यों और मेजबान स्थलों पर आखिरी चर्चा करने के लिये हमें कई पहलुओं पर ध्यान देना होगा जिसके बाद ही इसके आयोजन स्थल पर मुहर लगाई जा सकती है।

उन्होंने कहा, ‘राज्यों और स्थलों को अंतिम रूप देने से पहले वे चिकित्सकीय पहलू, साजो-सामान से जुड़े पहलुओं और सभी के लिए अनुकूल और स्वस्थ्य वातावरण तैयार करने पर भी विचार करेंगे।'

आपको बता दें कि पूर्वोत्तर में आइजोल, इंफाल, शिलांग, गुवाहाटी और गंगटोक के नाम पर संभावित स्थल के रूप में चर्चा की गई जबकि कोलकाता भी चर्चा का हिस्सा था।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, July 6, 2020, 19:54 [IST]
Other articles published on Jul 6, 2020
+ अधिक
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X