BCCI ने बदला Age Fraud का नियम, गड़बड़ी की तो लगेगा 2 साल का बैन

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने घरेलू क्रिकेट में खिलाड़ियों की ओर से उम्र संबंधी गड़बड़ी मामलों को लेकर सख्ती से पास आने का फैसला करते हुए नई नीति अपनाई है। नये नियम के मुताबिक अगर कोई खिलाड़ी Age फ्रॉड मामले में गड़बड़ी करता हुआ पाया जाता है तो उसे 2 साल तक की सजा दी जा सकती है। अगर खिलाड़ी खुद अपनी गलती मान लेता है तो हो सकता है कि बीसीसीआई उसे माफ कर दे और वह बच जाये लेकिन अगर खिलाड़ी पकड़ा जाता है तो बीसीसीआई उसे 2 साल के लिये बैन कर सकती है।

'गलती से चुन लिया बल्लेबाजी कोच', यूनिस खान पर शोएब अख्तर का बड़ा बयान

उल्लेखनीय है कि बीसीसीआई एज फ्रॉड की इस नीति को 2020-21 सीजन के दौरान सभी आयुवर्ग के घरेलू टूर्नामेंटस पर लागू कर रही है। उम्र संबंधी मामले की जानकारी छिपाने पर भी बीसीसीआई दो साल का लिए बैन लगा सकती है।

2007 में मिस्बाह उल हक के चलते T20 World Cup हारा पाकिस्तान- अजहर महमूद

सही उम्र बताने पर बैन नही होगा खिलाड़ी

सही उम्र बताने पर बैन नही होगा खिलाड़ी

इस नई नीति के तहत जो खिलाड़ी अपने फर्जी दस्तावेज जमा कर यह कबूल करता है कि उसने अपनी जन्मतिथि से छेड़छाड़ की है तो उसे बैन नहीं किया जाएगा और सही आयु बताने पर टूर्नामेंट्स में खेलने दिया जाएगा। खिलाड़ी को अपने हस्ताक्षर किए हुए पत्र/ईमेल दाखिल करना होगा, जिसके साथ उसे 15 सितंबर तक संबंधित विभाग से सत्यापन कराते हुए असली जन्मतिथि के दस्तावेज जमा करने होंगे।

लग सकता है 2 साल का बैन

लग सकता है 2 साल का बैन

अगर रजिस्टर्ड खिलाड़ी सच्चाई नहीं बताता है तो और उसके दस्तावेज फर्जी पाए जाते हैं तो उसे दो साल के लिए बैन कर दिया जाए और दो साल पूरे हो जाने के बाद इस तरह के खिलाड़ियों को बीसीसीआई के आयु वर्ग के टूर्नामेंट में खेलने नहीं दिया जाएगा।

साथ ही जो खिलाड़ी निवास संबंधी गड़बड़ी करता है, जिसमें सीनियर महिला और पुरुष भी शामिल हैं, उस पर दो साल का बैन लगाया जाएगा। यहां स्वयं अपना अपराध कबूल करने की नीति लागू नहीं होगी। बीसीसीआई के अंडर-16 टूर्नामेंट में सिर्फ 14-16 आयु के खिलाड़ी ही हिस्सा ले सकते हैं।

BCCI ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

BCCI ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

बोर्ड ने साथ ही कहा है कि आयु संबंधी गड़बड़ी की जानकारी देने के लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी बनाया गया है।

इस पर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा, 'हम सभी आयु वर्ग में समान मंच मुहैया कराने को लेकर प्रतिबद्ध हैं। बीसीसीआई उम्र संबंधी फजीर्वाड़े को रोकने के लिए काफी कदम उठा रही है और अब उसने आने वाले सीजन के लिए अधिक सख्त नियमों को लागू कर दिया है। जो लोग अपने आप अपनी गलती नहीं मानेंगे उन्हें कड़ी सजा दी जाएगी।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Monday, August 3, 2020, 18:28 [IST]
Other articles published on Aug 3, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X