B'day Special: 39वें जन्मदिन पर पेश हैं धोनी के 47 खास रिकॉर्ड, जानकर रह जायेंगे हैरान

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट फैन्स के लिये आज का दिन (7 जुलाई) बेहद खास है क्योंकि आज ही के दिन टीम इंडिया के सबसे सफलतम कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का जन्म हुआ था। धोनी आज अपना 39वां जन्मदिन मना रहे हैं। धोनी ने न सिर्फ अपने बल्ले से बल्कि अपनी कप्तानी, अपने व्यक्तित्व और फैन्स के बीच अपनी सादगी से सभी का दिल जीता है। धोनी युवा खिलाड़ियों को मौका देने के लिये जाने जाते हैं। धोनी के जन्मदिन उनके फैन्स के लिये किसी त्यौहार से कम नहीं है। पिछले एक साल से मैदान से दूर चल रहे धोनी की जगह अभी तक कोई खिलाड़ी नहीं भर पाया है। मैदान पर न सिर्फ फैन्स को बल्कि खिलाड़ियों को भी उनकी कमी का एहसास साफ नजर आता है।

और पढ़ें: सौरव गांगुली का खुलासा, बताया- क्यों सचिन तेंदुलकर नहीं खेलते थे मैच की पहली गेंद

धोनी ने अपने करियर के दौरान सीमित ओवर्स प्रारूप में भारतीय क्रिकेट का एक अलग ही रूप दिखाया और साबित किया कि भारतीय टीम किसी से कम नहीं है। अगर आप धोनी के फैन नहीं भी हैं तो मैं शर्त लगा सकता हूं कि आगे आने वाले आंकड़े आपको उनका फैन बनाने की पूरी कूवत रखते हैं। धोनी को क्रिकेट इतिहास में सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला खिलाड़ी कहना गलत नहीं होगा। उनके 39वें जन्मदिन के मौके पर आइये आपको हम उनके 47 रिकॉर्ड से रूबरू कराये जो आपको माही का दीवाना बना देगा।

और पढ़ें: ICC टूर्नामेंट में भारतीय टीम के चयन पर नासिर हुसैन ने उठाये सवाल, जानें क्या कहा

टेस्ट क्रिकेट में धोनी के आंकड़े

टेस्ट क्रिकेट में धोनी के आंकड़े

एमएस धोनी टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाज को सबसे ज्यादा पवेलियन भेजने वाले विकेटकीपर हैं, उनके नाम 256 कैच और 38 स्टंपिंग्स के साथ 294 विकेट का रिकॉर्ड है। वह इकलौते भारतीय विकेटकीपर हैं जिसके नाम टेस्ट में 200 से ज्यादा कैच पकड़ने का रिकॉर्ड है। इतना ही नहीं धोनी के नाम 60 मैचों के साथ सबसे ज्यादा टेस्ट मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी करने का रिकॉर्ड है, हालांकि जल्द ही विराट कोहली (55) उन्हें पीछे छोड़ देंगे। इतना ही नहीं बतौर विकेटकीपर कप्तान भी उनके नाम सबसे ज्यादा मैच खेलने का रिकॉर्ड है।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगाया था दोहरा शतक, बने थे कई रिकॉर्ड

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगाया था दोहरा शतक, बने थे कई रिकॉर्ड

साल 2013 में एमएस धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चेन्नई में 224 रनों की पारी खेली थी। उनकी इस पारी के साथ ही वह टेस्ट क्रिकेट में 4000 रन पूरा करने वाले पहले विकेटकीपर बल्लेबाज बनें थे। उनसे पहले कोई भी भारतीय विकेटकीपर 4000 के आंकड़े को छू भी नहीं सका है। इसके अलावा वह चौथे भारतीय कप्तान बनें थे जिसके नाम दोहरा शतक लगाने का रिकॉर्ड है। धोनी पहले भारतीय कप्तान हैं जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दोहरा शतक लगाने का कारनामा किया है।

वनडे में धोनी के रिकॉर्ड

वनडे में धोनी के रिकॉर्ड

वनडे प्रारूप में धोनी की जितनी तारीफ की जाये उतनी कम है। धोनी 444 विकेटस के साथ वनडे में भारत के लिये सबसे ज्यादा बल्लेबाजों को पवेलियन भेजने वाले विकेटकीपर हैं, इस दौरान उन्होंने 321 कैच और 123 स्टंपिंग की है। वह इकलौते भारतीय विकेटकीपर बनें जिसके नाम वनडे में 200 और 300 कैच पकड़ने का रिकॉर्ड है। इतना ही नहीं इंग्लैंड के खिलाफ साल 2007 में एक पारी में 6 विकेट लेने वाले वह इकलौते विकेटकीपर है, इस दौरान उन्होंने 5 कैच और एक स्टंपिंग भी की थी।

2007-08 में खेली गई कॉमनवेल्थ सीरीज के दौरान उन्होंने कुमार संगकारा के एक सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले एशियाई विकेटकीपर के रिकॉर्ड को तोड़ा था। इस सीरीज में धोनी ने 21 विकेट हासिल किये थे जबकि संगकारा के नाम 17 विकेट का रिकॉर्ड है।

स्टंपिंग का शतक लगाने वाले इकलौते खिलाड़ी

स्टंपिंग का शतक लगाने वाले इकलौते खिलाड़ी

जहां सचिन तेंदुलकर के नाम शतकों का शतक है वहीं एमएस धोनी वनडे क्रिकेट इतिहास में पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने स्टंपिंग के जरिये आउट करने का शतक बनाया है। धोनी के नाम 123 स्टंपिंग का रिकॉर्ड है जबकि 99 स्टंपिंग के साथ संगकारा दूसरे पायदान पर काबिज हैं। वह इकलौत भारतीय विकेटकीपर हैं जिसने एक पारी में 3 खिलाड़ियों को स्टंप करने का रिकॉर्ड बनाया हो। इतना ही नहीं उन्होंने अपने करियर के दौरान यह कारनामा भी 3 बार करके दिखाया है। वह भारत के इकलौते कप्तान हैं जिसने 200 वनडे मैच में टीम की कमान संभाली है।

2019 विश्व कप के दौरान धोनी ने 24 रन बाई के रूप में दिये थे जो कि किसी भी विकेटकीपर की ओर से दिये गये सबसे ज्यादा रनों का रिकॉर्ड है। इतना ही नहीं वह भारत के इकलौते ऐसे कप्तान हैं जिसने अपनी कप्तानी में 100 मैच जीतने का रिकॉर्ड बनाया है। उनके नाम भारत के लिये 110 वनडे मैच जीतने का रिकॉर्ड है।

नंबर 6 पर कमाल करते थे धोनी

नंबर 6 पर कमाल करते थे धोनी

एक विकेटकीपर के रूप में धोनी के नाम सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी है। वह इकलौते ऐसे भारतीय विकेटकीपर हैं जिसके नाम एक वनडे सीरीज में 300 से ज्यादा रनों का रिकॉर्ड है। धोनी ने कॉमनवेल्थ सीरीज के दौरान 347 रन बनाये थे। धोनी के नाम छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय कप्तान का भी रिकॉर्ड है। वनडे क्रिकेट में धोनी दूसरे ऐसे विकेटकीपर बल्लेबाज हैं जिसने 10 हजार रनों के आंकड़े को पार किया है और 50 की औसत से ऐसा करने वाले पहले बल्लेबाज का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम दर्ज है।

इतना ही नहीं धोनी वनडे क्रिकेट में 200 छक्के लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज भी बनें, साथ ही तिलकरत्ने दिलशान और ब्रायन लारा के बाद सबसे ज्यादा उम्र में 10 हजार रनों को पार करने वाले खिलाड़ी भी बनें। धोनी आईसीसी की ओर से जारी वनडे रैंकिंग में सबसे तेजी से पहले नंबर पर पहुंचने वाले खिलाड़ी हैं जिन्होंने महज 42 पारियों के बाद दुनिया का नंबर 1 खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल कर लिया था।

टी20 में धोनी के आंकड़े

टी20 में धोनी के आंकड़े

धोनी ने टी20 प्रारूप में भी अपना लोहा मनवाया और वह इस प्रारूप में सबसे ज्यादा बल्लेबाजों को पवेलियन भेजने वाले विकेटकीपर बनें। धोनी ने टी20 प्रारूप में 91 विकेट हासिल किये जिसमें 57 कैच और 34 स्टंपिंग शामिल है। बतौर विकेटकीपर धोनी के नाम सबसे ज्यादा कैच पकड़ने और सबसे ज्यादा स्टंपिंग करने का रिकॉर्ड भी है। धोनी के नाम एक पारी में सबसे ज्यादा 5 कैच पकड़ने का रिकॉर्ड है। एक कप्तान के तौर पर भी धोनी ने सबसे ज्यादा 72 मैचों में टीम की कमान संभाली है और इस दौरान सबसे ज्यादा 41 मैच जीतने का रिकॉर्ड भी बनाया है। इतना ही नहीं धोनी के नाम बतौर कप्तान सबसे ज्यादा मैच हारने का रिकॉर्ड भी दर्ज है। वह इस दौरान 28 मैच हारे हैं।

धोनी ने की है बतौर विकेटकीपर सबसे ज्यादा गेंदबाजी

धोनी ने की है बतौर विकेटकीपर सबसे ज्यादा गेंदबाजी

शायद यह बात आपको सुनने में अजीब लगे की एमएस धोनी विकेटकीपिंग छोड़कर गेंदबाजी करने गये हैं लेकिन यह सच है। इतना ही नहीं बतौर विकेट कीपर वह सबसे ज्यादा बार गेंदबाजी करने वाले विकेटकीपर का रिकॉर्ड भी रखते हैं। धोनी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 9 बार गेंदबाजी की है। धोनी इकलौते ऐसे भारतीय विकेटपर हैं जिनके नाम 829 विकेटस है, जिसमें उन्होंने 634 बार कैच पकड़ा है तो 195 बार स्टंप किया है। इतना ही नहीं धोनी अतंर्राष्ट्रीय क्रिकेट में खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा बार स्टंप आउट करने वाले विकेटकीपर भी हैं।

धोनी की कप्तानी में पहली बार भारतीय टीम ने टेस्ट में नंबर 1 टीम का सम्मान हासिल किया। धोनी दुनिया के इकलौते ऐसे कप्तान हैं जिसके नाम आईसीसी के सारे खिताब जीतने का रिकॉर्ड है, इसमें 2007 टी20 विश्व कप, 2011 वनडे विश्व कप और 2013 चैम्पियंस ट्रॉफी शामिल है।

आईपीएल में भी कायम है धोनी का जलवा

आईपीएल में भी कायम है धोनी का जलवा

धोनी ने न सिर्फ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में बल्कि आईपीएल में भी जलवा दिखाया है। उनकी कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने 3 बार आईपीएल और 2 बार चैम्पियंस लीग का खिताब जीता है। धोनी ने 10 बार सीएसके की कप्तानी की है और हर बार इस टीम ने प्लेऑफ में जगह बनाने का रिकॉर्ड कायम किया है। आईपीएल में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा मैच खेलने का रिकॉर्ड धोनी के नाम है जिन्होंने अब तक 174 मैचों में टीम की कमान संभाली है।

इतना ही नहीं बतौर कप्तान धोनी आईपीएल में 100 मैच जीतने वाले पहले कप्तान भी हैं, उनके नाम 104 मैच जीतने का रिकॉर्ड है। इसके अलावा धोनी के नाम सबसे ज्यादा मैच हारने वाले कप्तान का रिकॉर्ड भी है, वह अब तक 69 मैच हारे हैं। बतौर विकेटकीपर धोनी यहां भी नंबर 1 है और सबसे ज्यादा 132 विकेट हासिल किये हैं। इस दौरान धोनी ने 94 कैच और 38 स्टंपिंग की है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Tuesday, July 7, 2020, 6:45 [IST]
Other articles published on Jul 7, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X