'जेबकतरे से भी तेज थे एमएस धोनी', जानें माही को लेकर ऐसा क्यों बोले रवि शास्त्री

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान एमएस धोनी ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर को अलविदा कहते हुए शनिवार (15 अगस्त 2020) को संन्यास का ऐलान कर दिया। धोनी के संन्यास लेने के बाद से उनके लाखों फैन उन्हें अलविदा कहते हुए इमोशनल हो गये। इसका मुख्य कारण है कि फैन्स को मैदान पर अब एक धोनी जैसा फिनिशर और स्टंप के पीछे अनोखे अंदाज में गिल्लियां उड़ाने वाला खिलाड़ी देखने को नहीं मिलेगा। धोनी की फुर्तीली स्टंपिंग और थ्रो को बिना देखे स्टंप्स पर सटीक निशाने लगाने को लेकर पूरी दुनिया ही कायल है। धोनी जिस तरह की विस्फोटक बल्लेबाजी करते थे वैसे ही वह मैदान पर विकेट के पीछे खिलाड़ियों की गिल्लियां उड़ाते थे। उनकी इस कला के चाहने वालों में भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री का नाम भी शामिल है जिन्होंने धोनी के संन्यास का ऐलान करने के बाद उनकी इस कला की जमकर तारीफ की है।

चेतन चौहान के निधन पर सचिन-सहवाग-कोहली समेत दिग्गज खिलाड़ी दुखी, जानें क्या बोले

उन्होंने कहा, 'बतौर विकेटकीपर वह नेचुरल नहीं थे लेकिन विरोधी टीम के लिए वह नरक की तरह प्रभावी थे। उन्होंने जो प्रभाव छोड़ा उसे देखिए। मेरे लिए उनकी स्टपिंग और उनके रन आउट मायने रखते हैं। उनके हाथ बहुत तेज चलते हैं, किसी जेबकतरे से भी ज्यादा तेज। बल्लेबाज को यह अहसास भी नहीं हो पाता कि धोनी ने उसकी गिल्लियां बिखेर दी हैं। यह कुछ ऐसा है, जो उनके प्रभाव से जुड़ा हुआ है।'

कोरोना से हुई दिग्गज खिलाड़ी चेतन चौहान की मौत, गंभीर-सहवाग पर भारी थे यह बड़े टेस्ट रिकॉर्ड

धोनी ने बदल दिया पूरा एक युग

धोनी ने बदल दिया पूरा एक युग

इंडिया टुडे को दिए एक इंटरव्यू में भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने धोनी की विकेटकीपिंग स्किल्स की तारीफ करते हुये यह बातें कहीं।

उन्होंने कहा, 'यह आदमी किसी भी दूसरे खिलाड़ी से कहीं कम नहीं है। और जहां से वह आते हैं उन्होंने वहां आने वाले समय के लिए क्रिकेट को पूरी तरह बदल दिया है। और उनकी खूबसूरती यह है कि उन्होंने यह सभी फॉर्मेट में किया।'

धोनी ने बदली भारतीय क्रिकेट की सूरत

धोनी ने बदली भारतीय क्रिकेट की सूरत

रवि शास्त्री ने पिछले 2 दशक के दौरान भारतीय क्रिकेट में जिस तरह का बदलाव आया उसका श्रेय कप्तान धोनी को दिया जिन्होंने अपनी कप्तानी के दौरान युवा खिलाड़ियों को मौका देने और टीम के फिटनेस लेवल पर काम करने पर अधिक जोर दिया।

उन्होंने कहा, 'धोनी ने अपनी लीडरशिप से भारतीय क्रिकेट की सूरत बदल दी। उन्हें हमेशा इस खेल के महान खिलाड़ियों में शुमार किया जाएगा।'

उनके योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता

उनके योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता

रवि शास्त्री ने धोनी की तारीफ करते हुए कहा कि भले ही उन्होंने मैदान पर रहते हुए क्रिकेट को अलविदा नहीं कहा हो लेकिन देश और भारतीय क्रिकेट में उनका योगदान हमेशा याद रखा जायेगा।

उन्होंने कहा, 'टी20 में उन्होंने वर्ल्ड कप जीता और 50 ओवर क्रिकेट में भी वर्ल्ड कप जीता। आईपीएल के कई खिताब अपने नाम किए। टेस्ट क्रिकेट में भी उन्होंने टीम को नंबर 1 की रैंकिंग पर पहुंचाया। उनके योगदान को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Sunday, August 16, 2020, 22:05 [IST]
Other articles published on Aug 16, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X