कोरोना से हुई दिग्गज खिलाड़ी चेतन चौहान की मौत, गंभीर-सहवाग पर भारी थे यह बड़े टेस्ट रिकॉर्ड

Chetan Chauhan के निधन, Yogi Government में Minister और Former cricketer थे चेतन | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ी और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान का आज (16 अगस्त) 73 साल की उम्र में कोरोना वायरस संक्रमण एवं शरीर के कई अंगों के फेल हो जाने के चलते निधन हो गया। कोरोना वायरस के संक्रमण में पॉजिटिव पाये जाने के बाद वह लखनऊ में अपना इलाज करा रहे थे, लेकिन किडनी में संक्रमण बढ़ जाने के चलते उन्हें 15 अगस्त को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां पर उनकी तबियत ज्यादा बिगड़ गई और अंत में अंगों के काम न करने की हालत में उन्होंने अपनी आखिरी सांसे ली।

'मैं पल दो पल का शायर हूं'-कहते हुए धोनी ने लिया संन्यास, जानें क्यों 7:29 पर लिया रिटायरमेंट

भारतीय क्रिकेट टीम का यह सितारा पहले लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर के साथ सलामी बल्लेबाजी करने उतरता था जहां पर इसने गावस्कर के साथ कई शानदार साझेदारियां कर अपना नाम सुनहरे अक्षरों में लिखवाया। उल्लेखनीय है कि गावस्कर और चेतन की सलामी जोड़ी भारतीय बल्लेबाजी के खतरनाक ओपनर्स की पहली जोड़ी कहा जाये तो गलत नहीं होगा। आइये एक नजर इन खिलाड़ियों के रिकॉर्ड पर डालते हैं:

धोनी-रैना के संन्यास पर जुड़ा '73' का अजब संयोग, जान कर हो जायेंगे हैरान

गंभीर-सहवाग पर भारी है गावस्कर-चेतन की जोड़ी

गंभीर-सहवाग पर भारी है गावस्कर-चेतन की जोड़ी

उल्लेखनीय है कि जब भी भारत की सफलतम ओपनिंग जोड़ियों की बात की जाती है तो उसमें विस्फोटक और आक्रामक बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग और गौतम गंभीर की जोड़ी का नाम जरूर लिया जाता है। इस जोड़ी ने भारतीय टीम के लिये 52.52 की औसत से रन बनाने का काम किया। हालांकि आप यह सुनकर हैरान हो जायेंगे कि टेस्ट क्रिकेट में सुनील गावस्कर और चेतन चौहान की जोड़ी इस मजबूत पेयर पर भारी पड़ती है। चेतन चौहान और सुनील गावस्कर की जोड़ी ने अपने करियर के दौरान 10 शतकीय साझेदारियां करते हुए 53.75 की औसत से रन बनाये।

तोड़ा था सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड

तोड़ा था सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर के लिये चेतन चौहान न सिर्फ सलामी बल्लेबाजी में जोड़ीदार थे बल्कि बेहद करीबी दोस्त भी थे। इन दोनों के बीच 1979 के ओवल टेस्ट में हुई सबसे बड़ी ओपनिंग साझेदारी को आज भी याद किया जाता है।

इंग्लैंड के खिलाफ खेले गये इस मैच में भारतीय टीम 438 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी थी जिसको चेज करते हुए दोनों खिलाड़ियों ने पहले विकेट के लिए 213 रन जोड़े थे। तब चौहान 80 रन बनाकर आउट हुए, जबकि गावस्कर ने दोहरा शतक (221) जड़ा था। हालांकि भारतीय टीम 429/8 रन ही बना पाई और जीत हासिल करने से वंचित रह गई।

इस दौरान इस जोड़ी ने इंग्लैंड के खिलाफ ओवल के मैदान पर दूसरी पारी में 213 रनों की भी साझेदारी की जो कि उस समय का सबसे ज्यादा पार्टनरशिप करने का रिकॉर्ड था।

अपने करियर में नहीं लगा सके थे एक भी शतक

अपने करियर में नहीं लगा सके थे एक भी शतक

टेस्ट करियर में बिना शतक लगाए सबसे ज्यादा रन बनाने के रिकॉर्ड की बात करें, तो इस सूची में दूसरा नाम चेतन चौहान का है। भारत के इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने 40 टेस्ट मैचों में 2084 रन बनाए और उनका उच्चतम स्कोर 97 रहा। करियर में बिना शतक लगाए (1969-1981) दो हजार रन बनाने वाले वह दुनिया के पहले क्रिकेटर हैं। वैसे बिना शतक लगाए सबसे ज्यादा रन बनाने के रिकॉर्ड शेन वॉर्न के नाम है। उन्होंने (1992-2007) 145 टेस्ट मैचों में 3154 रन बनाए और उनका उच्चतम स्कोर 99 रहा था।

यूपी सरकार में मंत्री थे चेतन चौहान

यूपी सरकार में मंत्री थे चेतन चौहान

चेतन चौहान का जन्म 21 जुलाई 1947 को हुआ था। भारतीय क्रिकेट टीम में बल्लेबाज रह चुके चेतन चौहान अमरोहा जिले की नौगांवा विधानसभा के विधायक थे। क्रिकेट से संन्यास लेकर वह राजनीति में सक्रिय भूमिका निभा रहे थे। वर्तमान में वे योगी सरकार में सैनिक कल्याण, होम गार्ड, पीआरडी, नागरिक सुरक्षा विभाग के मंत्री थे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Sunday, August 16, 2020, 19:34 [IST]
Other articles published on Aug 16, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X