आखिर कैसे टी20 विश्वकप में कप्तानी का शानदार अंत कर सकते हैं विराट कोहली, सुनील गावस्कर ने दिया सुझाव

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर का मानना है कि यूएई में खेले जाने वाले टी20 विश्वकप में जीत के साथ भारतीय कप्तान विराट कोहली अपने टी20 प्रारूप की कप्तानी करियर का अंत शानदार तरीके से कर सकते हैं। रविवार से शुरू होना वाला आगामी मल्टीनेशन टी20 टूर्नामेंट विराट कोहली की कप्तानी करियर का आखिरी टूर्नामेंट होने वाला है जिसके बाद वो संन्यास लेने वाले हैं, ऐसे में वो इसका अंत जीत के साथ करना चाहेंगे। उल्लेखनीय है कि हाल ही में विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम एलिमिनेटर मैच में केकेआर के हाथों हार कर बाहर हो गई है।

और पढ़ें: IPL 2022 के मेगा ऑक्शन के लिये रिकी पोंटिंग ने बताया प्लान, कहा- ज्यादातर टीम की करायेंगे वापसी

टी20 प्रारूप से कप्तानी छोड़ने का ऐलान करने के बाद विराट कोहली ने आरसीबी की कप्तानी छोड़ने का भी ऐलान कर दिया था और जिस तरह से उनकी टीम प्रदर्शन कर रही थी उससे लगा था कि शायद वो विजेता बनकर उभरेगी लेकिन कप्तान कोहली आईपीएल कप्तानी में खिताब का सूखा मिटा पाने में नाकाम रहे।

और पढ़ें: रोहित नहीं बल्कि इस खिलाड़ी के इर्द गिर्द भारत को बनानी चाहिये टीम, ब्रेट ली ने बताया WC जीतने का फॉर्मूला

खिताब के साथ करियर का अंत करना होगा शानदार

खिताब के साथ करियर का अंत करना होगा शानदार

हालांकि सुनील गावस्कर का मानना है कि विराट कोहली के पास अभी भी परियों की कहानी वाला अंत करने का मौका है और अपनी कप्तानी के करियर का अंत टी20 विश्वकप के खिताबी जीत के साथ कर सकते हैं।

स्टार स्पोर्टस के साथ बात करते हुए गावस्कर ने कहा,'अगर ऐसा हुआ तो शानदार होगा क्योंकि किसी भी कप्तान के करियर का अंत खिताबी ट्रॉफी के साथ होना सबसे यादगार होता है। किसी फ्रैंचाइजी के लिये खेलना एक चीज है लेकिन देश के लिये खेलना एकदम अलग अनुभव होता है। तो देश के लिये ऐसा वैश्विक टूर्नामेंट जीतना काफी शानदार रहेगा।'

गावस्कर ने दिया क्लाइव लॉयड का उदाहरण

गावस्कर ने दिया क्लाइव लॉयड का उदाहरण

सुनील गावस्कर ने इस दौरान क्लाइव लॉयड का उदाहरण दिया जिन्हें विश्वकप में जीत मिलने के बाद बड़ी सीरीज में हार का सामना करना पड़ा। गावस्कर का मानना है कि चीजें उलट भी हो सकती हैं और कोहली के लिये दूसरी तरह से चीजें हो सकती हैं।

उन्होंने कहा,'मैंने पहले भी यह कहा है कि भगवान के यहां से यह कहानियां पहले लिखी हुई आती हैं। बस हमें नहीं पता होता कि इन स्क्रिप्ट में क्या लिखा होता है। आप क्लाइव लॉयड का उदाहरण देख लीजिये, उन्होंने वेस्टइंडीज के लिये 1975 और 1979 में विश्वकप जीता और 1983 में भारत के हाथों फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद जब 1985 में चैम्पियन्स ऑफ चैम्पियन्स हुआ तो वो फिर से हार गये, वह टेस्ट क्रिकेट और वनडे क्रिकेट में अपने आखिरी सालों में जीत नहीं हासिल कर सके।'

भूलना होगा कि आरसीबी की टीम के साथ क्या हुआ

भूलना होगा कि आरसीबी की टीम के साथ क्या हुआ

गावस्कर ने आगे बात करते हुए कहा,'यहां पर चीजें बिल्कुल उसके उलट हो सकती हैं, भूल जाओ कि आरसीबी की टीम के साथ क्या हुआ, यहां पर आप विश्वकप ट्रॉफी का खिताब उठा सकते हैं। यह सबसे बेहतरीन तरीका होगा कप्तानी का अंत करने का, जरा सोचिये कितना शानदार होगा अगर ऐसा हुआ तो।'

गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट टीम को टी20 विश्वकप के लिये 24 अक्टूबर से अपना पहला मैच पाकिस्तान के खिलाफ खेलना है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, October 14, 2021, 20:35 [IST]
Other articles published on Oct 14, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X