कोहली ने 2015 में ही बता दिया था, वे भारत को धरती की महानतम टीम बनाना चाहते हैं- डोनाल्ड

नई दिल्लीः अपने जमाने में बल्लेबाजों को डराने में खास मजा हासिल करने वाले महान एलन डोनाल्ड मौजूदा बल्लेबाज विराट कोहली का सम्मान करते हैं। कोहली ने अपने खेल और बर्ताव से कई लोगों को अपना मुरीद बनाया है, जिनमे विव रिचर्ड्स जैसे महानतम भी शामिल हैं। यह कोहली की बड़ी उपलब्धि है कि वे ऐसे क्रिकेटरों के दिल में जगह बना पाए जो बहुत ही प्योर किस्म के खिलाड़ी थे, जिनकी प्रतिभा समयकाल की सीमा से परे थे। डोनाल्ड भी एक ऐसी प्रतिभा रहे।

आज विराट कोहली की कप्तानी में भारत दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीमों में से एक के रूप में है। उनको यह रुतबा विशेष रूप से ऑस्ट्रेलिया में बैक-टू-बैक टेस्ट सीरीज जीतकर मिला है, जबकि टेस्ट रैंकिंग के शीर्ष पर 42 महीने बिताने ने भी इस सम्मान को दिलाने में रोल अदा किया। भारत वर्तमान में दोनों टीमों के बीच पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला में इंग्लैंड को 1-0 से पछाड़ रहा है। अगर यहां पर कोहली को सीरीज जीत मिली तो भारत टेस्ट इतिहास की सर्वकालिक महान टीमों में एक होने जा रही है।

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज एलन डोनाल्ड ने यूट्यूब चैनल क्रिकेट लाइफ स्टोरीज पर एक वीडियो में कहा कि कोहली ने 2015 में भारत के प्रभुत्व की कल्पना की थी। डोनाल्ड ने कहा, "मुझे 2015 में विराट के शब्द याद हैं जब उन्होंने मुझसे कहा था कि भारत दुनिया की नंबर 1 टेस्ट टीम बन जाएगा और वह गलत नहीं था।"

'सहवाग-लारा को हमेशा डरकर बॉलिंग की, सचिन तो मेरे सामने फिर भी कमजोर थे''सहवाग-लारा को हमेशा डरकर बॉलिंग की, सचिन तो मेरे सामने फिर भी कमजोर थे'

2014 में एमएस धोनी से कप्तान के रूप में पदभार संभालने से पहले के वर्षों में भारत के फॉर्म में एक खतरनाक गिरावट आई थी। 2011 और 2014 के बीच, भारत ने 22 में से केवल दो टेस्ट जीते थे और धोनी की कप्तानी में 13 हारे थे। धोनी के अंडर में भारत कभी एक टेस्ट ताकत नहीं बन सकता था क्योंकि कप्तान खुद एक अच्छे टेस्ट खिलाड़ी नहीं थे, ना ही यह फॉर्मेट उनके लिए वनडे जैसा लुभावना था। धोनी ने सीमित ओवरों के क्रिकेट में देश के लिए महान काम किया।

पर कोहली ने टेस्ट में जो किया उसके बाद वह वास्ताविक सम्मान के हकदार हैं। यह फॉर्मेट मुश्किल है, यहां शॉर्ट कट नहीं है, और यही पर कोहली-शास्त्री की जोड़ी ने बहुत मेहनत और पैशन दिखाया है।

डोनाल्ड ने कहा, "कोहली जानते थे कि वह कहां जा रहे थे। उन्होंने कहा: 'मैं चाहता हूं कि यह सबसे फिट टीम हो, मैं चाहता हूं कि हम धरती पर सबसे महान टीम बनें, चाहे हम घर से दूर खेलें, हम बस यह जानें कि हम किसी को भी हरा सकते हैं, और ऐसा करने के लिए एक बहुत अच्छा गेंदबाजी आक्रमण होने की जरूरत है।"

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Saturday, August 21, 2021, 12:47 [IST]
Other articles published on Aug 21, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X