संन्यास के बाद अंबाती रायडू की हुई वापसी, मिली इस टीम की कप्तानी

नई दिल्ली: संन्यास से बाहर आने के फैसले के बाद अंबाती रायडू की घरेलू क्रिकेट में पूरी तरह से वापसी हो चुकी है। मध्यक्रम के इस बल्लेबाज को हैदराबाद की टीम के कप्तान के तौर पर नियुक्ति मिली है। उनको 50 ओवर के घरेलू टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी के लिए यह कप्तानी मिली है। यह ट्रॉफी इसी महीने (सितंबर) के अंत में शुरू होगी।

हैदराबाद के कप्तान बने रायडू

हैदराबाद के कप्तान बने रायडू

बता दें कि अंबाती रायडू ने इंग्लैंड एंड वेल्स में हुए आईसीसी विश्व कप में जगह ना मिल पाने के कारण नाराज होकर अचानक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। लेकिन 33 वर्षीय रायडू ने एक बार फिर मैदान में वापसी के संकेत दिए थे। रायडू ने इशारा दिया था कि वो फिर से टी20 क्रिकेट में वापसी कर सकते हैं। हालांकि बाद में रायडू ने क्रिकेट में वापसी के लिए ना केवल हामी भरी बल्कि वे क्रिकेट के सभी फार्मेट में वापसी करने के लिए पूरी तरह से तैयार हो गए।

'विश्व कप के लिए छोड़ दिया लाल गेंद क्रिकेट'

'विश्व कप के लिए छोड़ दिया लाल गेंद क्रिकेट'

रायडू विश्व कप में जगह ना मिलने को लेकर काफी निराश थे और उन्होंने तेलंगाना टूडे के साथ बातचीत करते हुए बताया था- 'मैंने विश्व कप के लिए काफी मेहनत से तैयारियां की थी। मैंने विश्व कप के लिए लाल गेंद क्रिकेट छोड़ दिया था। मैं बहुत ही फिट था और अपना रोल निभा रहा था, जब टीम आपको नंबर 4 के लिए रेडी करती है और फिर अचानक आप टीम में नहीं होते हैं, ये बहुत ही हैरानी भरा था। टीम के सदस्यों के बीच भी कोई वार्तालाप नहीं था।' रायडू ने आईपीएल में भी खेलने को लेकर अपनी इच्छा जाहिर की थी और कहा था- "मैं बहुत खुश हूं कि सीएसके हमेशा से बहुत सहयोगी रही है। आईपीएल के लिए अच्छी तैयारी करना और सीएसके का प्रतिनिधित्व करना वास्तव में मे लिए खुशी होगी। निश्चित रूप से मैं आईपीएल खेल रहा हूं।"

कगिसो रबाडा के 'मीडिया हाइप' बयान पर जसप्रीत बुमराह ने किया पलटवार

रायडू का रिकॉर्ड शानदार-

रायडू का रिकॉर्ड शानदार-

रायडू ने भारत के लिए 55 एकदिवसीय मैच खेले और 47.05 पर तीन शतक और 10 अर्द्धशतक के साथ 1,694 रन बनाए। उन्होंने छह T20I भी खेले हैं, जिसमें 42 रन बनाए हैं। रायडू ने कहा था, "मैंने बहुत सोचा नहीं था, लेकिन मैं जल्द से जल्द सफेद गेंद क्रिकेट में वापस आने के लिए अच्छी तरह से तैयार करूंगा। जाहिर है, मुझे खेल से प्यार है। महत्वाकांक्षा और लक्ष्य एक चीज है लेकिन यह अभी भी खेल है जिसे मैं प्यार करता हूं। यह क्रिकेट खेलने के बारे में है। तो, मैंने सोचा कि इसे आगे क्यों नहीं बढ़ाया जाए? लक्ष्य जैसा कुछ भी नहीं। लेकिन मेरी पहली प्राथमिकता पूरी तरह से फिट होना होगा।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Saturday, September 14, 2019, 13:38 [IST]
Other articles published on Sep 14, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X