अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास के बाद यह करेंगे आशीष नेहरा

Written By:

नई दिल्ली। 18 साल से अधिक समय तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के बाद टीम इंडिया के दिग्गज गेंदबाज आशीष नेहरा ने संन्यास की घोषणा कर दी, न्यूजीलैंड के खिलाफ 1 नवंबर को खेले अपने आखिरी अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच में आशीष नेहरा को शानदार फेयरवेल दिया गया। आखिरी मैच में टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को 53 रनों से हराया था। आशीष नेहरा ने अपना आखिरी मैच अपने घरेलू मैदान में दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में खेला, यह वही मैदान था जहां नेहरा ने 1997 में अपना मैच खेला था। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद नेहरा ने क्रिकेट के बाद अपने कैरियर के बारे में भी योजना बनानी शुरू कर दी है।

अभी थोड़ा आराम करुंगा

अभी थोड़ा आराम करुंगा

आशीष नेहरा को टीम के खिलाड़ी नेहराजी के नाम से बुलाते थे, जिस तरह से बतौर तेज गेंदबाज उन्होंने इतना लंबा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला उसके लिए उनक हमेशा ही तारीफ होती है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद अपने भविष्य की योजना के बारे में नेहरा ने कहा कि अभी मैं थोड़ा आराम करूंगा किसी भी तरह का कोई दबाव नहीं लुंगा, परिवार के साथ समय बिताउंगा। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में भी क्रिकेट से जुड़ा कोई काम करुंगा।

पिछले 25 सालों में क्रिकेट ही खेला है

पिछले 25 सालों में क्रिकेट ही खेला है

नेहरा ने कहा कि मैं भविष्य में आगे क्रिकेट से जुड़ा ही कुछ करुंगा क्योंकि पिछले 25 सालों में मैने ही किया है और इसी के बारे में मुझे जानकारी है। हालांकि नेहरा ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि वह क्या करेंगे। उन्होंने कहा कि कमेंट्री, कोचिंग या कुछ जल्द ही आपको इस बारे में सूचित करुंगा। मौजूदा टीम इंडिया के बारे में बात करते हुए नेहरा ने कहा कि यह टीम काफी मजबूत है, विराट कोहली की टीम विदेश में भी अच्छा प्रदर्शन करेगी।

विराट कोहली की जमकर तारीफ की

विराट कोहली की जमकर तारीफ की

विराट कोहली की तारीफ करते हुए नेहरा ने कहा कि विराट कोहली खुद बेहतर प्रदर्शन करके टीम के सामने उदाहरण पेश करते हैं और टीम का नेतृत्व करते हैं। हमे विराट की बतौर भारतीय टीम के कप्तान के तौर पर जरूरत है, मैं यह देश सकता हूं कि भारत की टीम विदेशी जमीन पर भी बेहतर प्रदर्शन करेगी। फुटबॉल के शौकीन नेहरा ने कहा कि वह विराट की चैरिटी टीम से फुटबाल मैच भी खेलना चाहेंगे क्योंकि अब उन्हें इंजरी का डर नहीं है, अगर चोट भी लगती है तो आराम से लेटा रह सकता हूं।

कई अहम पारियां खेली

कई अहम पारियां खेली

गौरतलब है कि तकरीबन दो दशक के लंबे कैरियर के दौरान नेहरा ने कई बार टीम इंडिया के लिए शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए टीम को जीत दिलाई है। 2003 के विश्वकप मे इंग्लैंड के खिलाफ नेहरा ने अपने कैरियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 23 रन देकर 6 विकेट अपने नाम किए थे, जिसकी वजह से टीम को आसान जीत हासिल हुई थी। नेहरा 2011 की विश्वकप विजेता टीम का भी हिस्सा थे, उन्होंने इस विश्वकप जीत को अपने कैरियर की सबसे बड़ी उपलब्धि बताई है।

इसे भी पढ़ें- तेज गेंदबाज उमेश यादव ने बनवाया खास टैटू, कहा 'इससे मिलती है मेरी कहानी'

Story first published: Thursday, November 9, 2017, 13:06 [IST]
Other articles published on Nov 9, 2017
Please Wait while comments are loading...