देरी से जागा BCCI, कोरोना के खिलाफ जंग में शामिल होने के लिए अब आया आगे

नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस का कहर अभी जारी है, हालांकि इस महामारी से लड़ने के लिए सभी एकजुट हैं। कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका है, लेकिन उससे भी निपटने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। कई बड़ी हस्तियां भी पीड़ितों व अस्पतालों की मदद के लिए आगे आईं, जिस कारण दूसरी लहर को अब कम करने के लिए सहयोग मिला। इसी बीच दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) ने भी मदद के लिए बड़ा ऐलान किया है। हालांकि वह देरी से जागा है।

बोर्ड ने सोमवार को एक बयान में कहा, ''बीसीसीआई कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में 10 लीटर के 2000 ऑक्सीजन कनसंट्रेटर्स का योगदान देगा। अगले कुछ महीनों में, बीसीसीआई देश भर में जरूरतमंद लोगों को ऑक्सीजन वितरित करने के लिए तैयार है।'' सभी को उम्मीद थी कि जब दूसरी लहर खतरनाक साबित हो रही है तो बीसीसीआई मदद के लिए आगे आएगा लेकिन ऐसा तब नहीं हुआ।

सागर की मां बोलीं- सुशील कुमार को फांसी दो, वो गुरु कहलाने के लायक नहीं है

गांगुली ने डाॅक्टरों को बताया असली योद्धा

गांगुली ने डाॅक्टरों को बताया असली योद्धा

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा, "बीसीसीआई ने चिकित्सा और स्वास्थ्य सेवा समुदाय द्वारा निभाई गई तारकीय भूमिका को सराहा है और इनकी भूमिका जारी है क्योंकि हम वायरस के खिलाफ इस लंबी लड़ाई से लड़ रहे हैं। वे वास्तव में इस समय असली योद्धा रहे हैं और हमें बचाने के लिए हर संभव प्रयास किया है। बोर्ड हमेशा स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। ऑक्सीजन कनसंट्रेटर्स प्रभावित लोगों को तत्काल राहत प्रदान करेगी और उनके शीघ्र स्वस्थ होने में मदद करेगी।"

आखिर क्या बोले सचिव

आखिर क्या बोले सचिव

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने कहा, "हम वायरस के खिलाफ इस सामूहिक लड़ाई में कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं। बीसीसीआई संकट की इस घड़ी में चिकित्सा उपकरणों की सख्त जरूरत को समझता है और उम्मीद करता है कि इस प्रयास से देश भर में पैदा हुई मांग-आपूर्ति के अंतर को कम करने में मदद मिलेगी। हम सभी बहुत कुछ कर चुके हैं लेकिन मुझे विश्वास है कि टीकाकरण अभियान चल रहा है। मैं सभी पात्र लोगों से टीकाकरण कराने का आग्रह करता हूं।"

वहीं कोषाध्यक्ष अरुण सिंह धूमल ने कहा, "संकट के समय में, क्रिकेट समुदाय हमेशा समर्थन देने के लिए आगे आया है। सभी को एक साथ आते और अपना काम करते हुए देखना खुशी की बात है। बीसीसीआई सामाजिक जिम्मेदारी के प्रति अपने प्रयासों में दृढ़ है और हमेशा केंद्र और राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करेगा ताकि वायरस के प्रसार को रोकने के उनके प्रयासों में उनकी मदद की जा सके। हमारा मानना ​​है कि ये ऑक्सीजन कनसंट्रेटर्स स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देंगे।''

कई क्रिकेटर्स कर चुके हैं मदद

कई क्रिकेटर्स कर चुके हैं मदद

इससे पहले भी कई क्रिकेटर्स कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मदद के लिए आगे आ चुके हैं। इनमें पैट कमिंस, ब्रेट ली, निकोलस पूरन, जेसन बेरेनडॉर्फ जैसे विदेशी खिलाड़ी शामिल हैं। साथ ही कई भारतीय खिलाड़ियों ने मदद का हाथ बढ़ाया है। विराट कोहली और उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा ने एक अभियान शुरू किया था। इस अभियान के तहत उन्होंने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में 11 करोड़ रुपए से अधिक का दान दिया है। उन्होंने इस अभियान के लिए 2 करोड़ रुपए का दान दिया है। इस अभियान में युजवेंद्र चहल का भी योगदान है। इसके अलावा हार्दिक और क्रिनल पांड्या ने 200 ऑक्सीजन कनसंट्रेटर्स डोनेट किए हैं।

ऋषभ पंत, सचिन तेंदुलकर, इरफान और यूसुफ पठान, गौतम गंभीर, जयदेव उनादकट, शिखर धवन, लक्ष्मीरतन शुक्ला, आर अश्विन जैसे कई भारतीय क्रिकेटरों ने भी मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। इतना ही नहीं, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और एस्टोनिया क्रिकेट बोर्ड ने भी कोरोना के खिलाफ भारत की लड़ाई में योगदान दिया है। इसके अलावा आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स, राजस्थान रॉयल्स, पंजाब किंग्स, चेन्नई सुपर किंग्स, सनराइजर्स हैदराबाद जैसी कई टीमों ने भी मदद का हाथ बढ़ाया है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Read more about: bcci coronavirus sourav ganguly
Story first published: Monday, May 24, 2021, 14:39 [IST]
Other articles published on May 24, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X