साल 2021 का बेस्ट टेस्ट कप्तान, एक खिलाड़ी जो कप्तानी में सबको पछाड़ देता है

नई दिल्लीः एक और साल कुछ दिनों बात बीतने वाला है। 2021 में भी हमको बेहतरीन क्रिकेट एक्शन देखने को मिला। रेड बॉल फॉर्मेट में सबसे पहली वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप भी इसी साल हुई और न्यूजीलैंड ने पहली ही बार आईसीसी की विश्व खिताब सरीखी प्रतियोगिता में टाइटल हासिल करके दिखाया।

जब 2021 बीत रहा है तो ये सवाल उठना लाजिमी है कि इस साल का बेस्ट टेस्ट कप्तान कौन था? यहां पर केन विलियमसन आगे निकलते हुए दिखाई देते हैं। आखिर उन्हीं की कप्तानी में कीवियों ने इतना बड़ा खिताब अपने नाम करके आईसीसी विश्व कप सरीखी प्रतियोगिता में अपना ढंका बजाया था।

कोहली-रोहित के बीच क्या चल रहा है? विराट के ODI सीरीज छोड़ने पर BCCI आधिकारी ने दिया बयानकोहली-रोहित के बीच क्या चल रहा है? विराट के ODI सीरीज छोड़ने पर BCCI आधिकारी ने दिया बयान

केन विलियमसन लीडर बनकर उभरे-

केन विलियमसन लीडर बनकर उभरे-

दिलचस्प बात यह है कि केन विलियमसन की अगुवाई में न्यूजीलैंड ने इस साल एक भी टेस्ट मैच नहीं हारा है। कीवियों ने इस बार चार मैच खेले जहां तीन मुकाबले घर से बाहर थे और 2 मैच जीते। दो मैच ड्रा रहे और एक मुकाबला पारी की जीत से जीता। यह शानदार रिकॉर्ड है।

यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि न्यूजीलैंड ने इस साल दो और टेस्ट मैच खेले थे लेकिन वह टॉम लॉथम की कप्तानी में थे। कीवियों ने पूरे साल में केवल एक ही मैच घर में खेला और यहां पर उन्होंने पाकिस्तान को एक पारी और 176 रनों से मात दी।

इंग्लैंड और भारत के मुश्किल दौरों पर खुद को साबित किया-

इंग्लैंड और भारत के मुश्किल दौरों पर खुद को साबित किया-

इस साल न्यूजीलैंड ने दो बहुत ही मुश्किल दौरे किए- इंग्लैंड और भारत। इंग्लैंड के खिलाफ विलियमसन ने पहले टेस्ट में अगुवाई की थी जहां पर मुकाबला ड्रा रहा। दूसरे टेस्ट में विलियमसन खेल नहीं पाए।

इसके बाद न्यूजीलैंड के खाते में वह खिताब आया जब केन विलियमसन ने पहली बार कीवियों को आईसीसी का विश्व स्तरीय खिताब दिलाया। उन्होंने इंग्लैंड में हुई वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप में भारत को 8 विकेट से मात दी जहां पर केन विलियमसन ने अंडर प्रेशर में कुछ शानदार रन बनाकर कप्तानी पारी का भी मुजायरा पेश किया।

और दूसरा मुश्किल दौरा भारत का था। यहां पर भी केन विलियमसन ने पहले टेस्ट मैच में कमान संभाली थी जो कानपुर में हुआ था और विलियमसन ने ड्रा हासिल करके दिखाया। इंग्लैंड और भारत में दो टेस्टों में बनाए गए मुश्किल ड्रा और एक वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप केन विलियमसन को 2021 का बेस्ट कप्तान साबित करती है।

बल्ले की फॉर्म ने योगदान को दोगुना कर दिया-

बल्ले की फॉर्म ने योगदान को दोगुना कर दिया-

इसके अलावा महत्वपूर्ण बात यह है कि केन विलियमसन ने कप्तानी के साथ-साथ बैटिंग ने भी अहम योगदान किया। उन्होंने इस साल खेली गई 7 पारियों में 65.83 की औसत से 395 रन बनाए। सबसे खास बात यह रही कि यह पारियां बहुत ही नाजुक मौके पर आई जिसकी वजह से विलियमसन के रनों की अहमियत और भी ज्यादा पड़ जाती है। उन्होंने इस साल पाकिस्तान के खिलाफ 238 रनों की मास्टरक्लास पारी खेलकर दिखाई थी जहां पर विपक्षी टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ केवल एक पारी और 176 रनों पर ढेर हो गई। इसके बाद उनकी दो नाजुक पारियां वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में भारत के खिलाफ साउथेंप्टन में आई। भारतीय टीम का कोई भी खिलाड़ी इस मुकाबले में अर्धशतक नहीं लगा सका था लेकिन केन विलियमसन ने पहली पारी में 49 और दूसरी पारी में नाबाद 52 रन बनाकर मुश्किल मौके पर अपनी अहमियत पर से साबित कर दी।

इस तरह से हम देखते हैं कि केन विलियमसन 2021 में टेस्ट क्रिकेट के बेहतरीन बल्लेबाज और लीडर साबित हुए हैं। न्यूजीलैंड ने केन विलियमसन की कप्तानी के अंतर्गत अपने बेहतरीन पलों को संजोया है जिनमें वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब कब्जाना शामिल है। केन विलियमसन की बैटिंग के सभी कायल रहे हैं और यह साल भी इसका अपवाद नहीं रहा है। विलियमसन ने एक बार फिर से अपनी प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी करने वाला साल देखा जिसने उनके कद को और अधिक मैच्योरिटी और सम्मान प्रदान किया।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Tuesday, December 14, 2021, 17:29 [IST]
Other articles published on Dec 14, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X