गाबा में चेतेश्वर पुजारा ने किसी ऑस्ट्रेलियाई की तरह बैटिंग की, कंगारू ओपनर ने बताया कारण

Cheteshwar Pujara was like an Australian in gabba test says Marcus Harris | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्लीः ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज मार्कस हैरिस ने इस साल की शुरुआत में ब्रिस्बेन के गाबा में भारत की साहसिक टेस्ट मैच जीत के बारे में बात करते हुए कहा कि मेजबान टीम के लिए यह एक कठिन अनुभव था, लेकिन उन्होंने शानदार प्रयास के लिए भारतीय टीम की तारीफ की।

मार्कस हैरिस ने कहा कि चेतेश्वर पुजारा की पारी ने ऑस्ट्रेलिया के किले में रोमांचक श्रृंखला के निर्णायक मैच के अंतिम दिन अंतर पैदा किया। यह मजबूत गढ़ भारतीय पक्ष ने तोड़ दिया। अजिंक्य रहाणे की टीम 1988-89 सीजन के बाद से ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया को गाबा में हराने वाली पहली टीम बनी।

चेतेश्वर पुजारा ने 56 रन, 211 गेंदों पर बनाए-

चेतेश्वर पुजारा ने 56 रन, 211 गेंदों पर बनाए-

चेतेश्वर पुजारा ने 56 रन, 211 गेंदों पर बनाए और सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल और ऋषभ पंत के साथ महत्वपूर्ण साझेदारी की, क्योंकि भारत ने 329 रनों की रिकॉर्ड तोड़ पारी खेलकर 4 मैचों की श्रृंखला 2-1 से जीत ली। भारत की कभी न हारने वाली भावना पूरी श्रृंखला में प्रदर्शित हुई थी क्योंकि उन्होंने एडिलेड में पहले मैच में करारी हार से वापसी करते हुए 4 टेस्ट मैचों के दौरान अपने कुछ प्रमुख खिलाड़ियों को मुश्किल परिस्थितियों में खोने के बावजूद श्रृंखला जीत ली थी।

गाबा में पांचवें दिन पुजारा का पक्का इरादा उस भावना को दर्शाता था क्योंकि उन्होंने शरीर पर कई वार सहे लेकिन अपना विकेट देने से इनकार कर दिया। यह पुजारा के आसपास ही था कि गिल, रहाणे और पंत ने अपनी आक्रामक पारी खेली और मैच को बाद में टीम इंडिया की ओर मोड़ दिया।

टोक्यो ओलंपिक होकर रहेगा चाहे जापान में COVID-19 इमजेंसी लगी हो, IOC ने कही ये बात

ऋषभ पंत बेस्ट थे लेकिन पुजारा बेजोड़ थे- मार्कस हैरिस

ऋषभ पंत बेस्ट थे लेकिन पुजारा बेजोड़ थे- मार्कस हैरिस

पंत ने गाबा टेस्ट के नायक के रूप में उभरने के लिए नाबाद 89 रन की मैच जिताऊ पारी खेली, लेकिन हैरिस का मानना ​​है कि नाटकीय अंतिम दिन पुजारा का प्रतिरोध दोनों पक्षों के बीच का अंतर साबित हुआ।

मार्कस हैरिस ने 'क्रिकेट लाइफ स्टोरीज' यूट्यूब चैनल को बताया, "अंतिम दिन देखने के लिए अद्भुत था। पूरे दिन विचार प्रक्रिया थी 'क्या वे रनों के लिए जा रहे हैं या नहीं?' मुझे लगता है कि ऋषभ ने उस दिन सबसे अच्छी पारी खेली थी, लेकिन पुजारा ने जो किया उसके बाद मैंने महसूस किया कि उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज की तरह बल्लेबाजी की, सब कुछ सीने पर लिया और आगे बढ़ गए। बाकी सभी ने उनके आसपास बल्लेबाजी की।"

'ऋषभ पंत की पारी अविश्वसनीय'

'ऋषभ पंत की पारी अविश्वसनीय'

हैरिस ने ऋषभ पंत की भरपूर प्रशंसा करते हुए कहा कि युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ने अपनी मैच जिताऊ पारी से साबित कर दिया कि वह एक 'जादुई प्रतिभा' है। विशेष रूप से, पंत ने तीसरे टेस्ट में 97 रनों की तेज पारी खेली थी, लेकिन ठीक उसी समय आउट हो गए जब भारत 407 के लक्ष्य का पीछा करते हुए एक असंभव जीत की तलाश में था। भारत 5 विकेट पर 334 रन बनाकर समाप्त हुआ क्योंकि तीसरा टेस्ट ड्रॉ पर समाप्त हुआ।

हैरिस ने कहा, "ऋषभ पंत की पारी अविश्वसनीय थी। हर कोई कहता है कि उसके पास जादू है, और उसने यह एक दो बार दिखाया है। श्रृंखला हारना निराशाजनक था लेकिन कभी-कभी क्रिकेट में आप विपक्षी को उसके खेल की दाद भी देते हो।"

ऑस्ट्रेलिया में अपनी वीरतापूर्ण जीत के बाद, भारत ने इस साल की शुरुआत में इंग्लैंड को 3-1 से हराकर पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली। फाइनल 18 जून को कीवियों के खिलाफ इंग्लैंड की जमीन पर होगा।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Saturday, May 22, 2021, 8:08 [IST]
Other articles published on May 22, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X