दुखद! सबसे बड़ा रिकॉर्ड बनाने वाले प्रणव धनावड़े ने छोड़ा क्रिकेट, ये है वजह?

Posted By:
Pranav Dhanawade quits Cricket, reason will left you Shock | वनइंडिया हिंदी
दुखद! सबसे बड़ा रिकॉर्ड बनाने वाले प्रणव धनावड़े ने छोड़ी क्रिकेट, ये है वजह?

नई दिल्ली। पिछले साल एक पारी में 1009 रनों की रिकॉर्डतोड़ पारी खेलने वाले मुंबई के बल्लेबाज प्रणव धनावड़े ने क्रिकेट छोड़ दिया है। एक समय सभी के आंखों के तारा बने प्रणव का क्रिकेट छोड़ना बेहद दुख देने वाल घटना है। जब प्रणव ने 1009 रनों की पारी खेली थी तब कहा जा रहा था कि ये भविष्य का सचिन बनेगा। लेकिन ऐसा शायद ही संभव हो पाए? क्योंकि खबरें आ रही हैं कि इस युवा प्रतिभा ने क्रिकेट छोड़ दिया है। प्रणव के पिता ऑटो रिक्शा चलाते हैं हालांकि प्रणव के क्रिकेट छोड़ने के पीछे की वजह गरीबी नहीं बल्कि अवसाद बताया जा रहा है।

महज 15 साल की उम्र में अंतर स्कूल टूर्नामेंट में नाबाद 1009 रन जड़ चुके प्रणव धनवाड़े क्रिकेट इतिहास में चार अंकों का स्कोर बनाने वाले दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं। अब खबरें हैं कि खराब फॉर्म से परेशान होकर इस बल्लेबाज ने क्रिकेट खेलना बंद कर दिया है। जब प्रणव वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाकर चर्चा में आए थे तब मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने उन्हें हर महीने 10 हजार रु. की स्कॉलरशिप देने का ऐलान भी किया था लेकिन अब इस खिलाड़ी ने बैट भी पकड़ने से इनकार कर दिया है।

खराब फॉर्म के चलते प्रणव को एआईआर इंडिया और दादर यूनियर ने भी अपने यहां नेट प्रेक्टिस से रोक दिया। इसके चलते गहरे अवसाद में आ चुके इस बल्लेबाज ने क्रिकेट खेलना ही छोड़ दिया। पहले फॉर्म खराब होने के चलते उन्हें एमसीए ने अंडर 16 टीम से बाहर कर दिया। इसके बाद प्रणव ट्रेनिंग के लिए बेंगलुरू चले गए। प्रणव उसी क्लब में ट्रेनिंग के लिए गए जहां पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ का बेटा ट्रेनिंग करता है। लेकिन प्रणव यहां राहुल द्रविड़ से मुलाकात नहीं कर सके।

हालांक प्रणव के कोच मोबिन शेख के मुताबिक वो प्रणव को दोबारा खेलने के लिए प्रेरित करने की कोशिश कर रहे हैं। प्रणव अभी महज 16 साल के हैं और अभी उनके अंदर क्रिकेट बाकी है। कोच का मानना है कि सुर्खियों में छाने के बाद प्रणव अपना फोकस काफी हद तक खो चुका है। लगातार आलोचना भी इसकी अहम वजह है।

Read more about: cricket mumbai प्रणव
Story first published: Friday, December 29, 2017, 10:23 [IST]
Other articles published on Dec 29, 2017
Please Wait while comments are loading...