धारा 370 टूटने पर बाैखलाए अफरीदी को गंभीर ने दिया जवाब, बताया अब क्या है अगला 'टारगेट'

नई दिल्ली। आखिर जिस बात का इंतजार देशवासियों को लंबे समय से था वो केंद्र सरकार ने अब खत्म कर दिया है। यह इंतजार था जम्मू-कश्मीर में धारा 370 खत्म होने का। इसके टूटने से ना ही सिर्फ आतंक पर लगाम लगेगी बल्कि हमलों को अंजाम देने वालों पर एक्शन लेने में भी अब कोई देरी नहीं लगेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जम्मू-कश्मीर का स्पेशल स्टेटस खत्म करने से पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान शाहिद अफरीदी ने ट्वीट करते हुए अपनी बाैखलाहट जाहिर की जिसका जवाब क्रिकेटर से राजनेता बने गौतम गंभीर ने देरी ना करते हुए दिया और साथ में यह भी बताया कि अब उनका अगला 'टारगेट' क्या रहने वाला है।

अफरीदी ने संयुक्त राष्ट्र को हस्तक्षेप करने को कहा

अफरीदी ने पहले ट्वीट करते हुए लिखा, 'कश्मीर वासियों को संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के आधार पर उनके अधिकार दिए जाने चाहिए। आजादी का अधिकार हम सभी को है। संयुक्त राष्ट्र की रचना क्यों की गई है और यह क्यों सो रहा है? कश्मीर में लगातार जो मानवता विरोधी अनुत्तेजित आक्रामता और अपराध हो रहे हैं, उस पर ध्यान दिया जाना चाहिए। अमेरिका के राष्ट्रपति को इस मामले में जरूरी रूप से मध्यस्थ की भूमिका अदा करनी चाहिए।' अफरीदी के इस ट्वीट का जवाब फिर गभीर ने गंभीरता से दिया।

केविन पीटरसन ने बताया किसे बनाना चाहिए दक्षिण अफ्रीकी टीम का नया कोच

गंभीर ने दिया जवाब

गंभीर ने लिखा, ' शाहिद अफरीदी बिल्कुल ठीक हैं। वहां पर अनुत्तेजित आक्रामकता है, वहां मानवता के खिलाफ अपराध हो रहे हैं। वह यह मामला सामने लाए, इसलिए उनकी तारीफ की जानी चाहिए। बस वह इसमें एक बात लिखना भूल गए वह यह है कि यह सब 'पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर' में हो रहा है। चिंता मत कीजिए, हम इसका भी हल निकालेंगे बेटा।

 जम्मू कश्मीर के अब दो हिस्से होंगे

जम्मू कश्मीर के अब दो हिस्से होंगे

केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले धारा 370 के प्रावधानों को सोमवार को खत्म कर दिया और राज्य सभा में जम्मू-कश्मीर के लिए पुनर्गठन बिल पास हो गया। जम्मू कश्मीर के अब दो हिस्से होंगे। जम्मू-कश्मीर व लद्दाख दो अलग-अलग केंद्रशासित प्रदेश होंगे। जम्‍मू-कश्‍मीर का क्षेत्रफल के हिसाब से बड़ा डिविजन लद्दाख है। काफी समय से वहां के लोगों की मांग थी कि इसे अलग केंद्र शासित प्रदेश की मान्‍यता मिले। वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए इसे जम्‍मू-कश्‍मीर से अलग कर केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Read more about: gautam gambhir shahid afridi bjp
Story first published: Tuesday, August 6, 2019, 17:34 [IST]
Other articles published on Aug 6, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X