Happy B'day: सोशल मीडिया साइट 'ऑरकुट' पर रोमी को दिल दे बैठे थे रिद्धिमान साहा, ऐसे उठाया धोनी की गैरमौजूदगी का फायदा

Posted By:

नई दिल्ली। आज भारतीय टेस्ट टीम के नियमित विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा का जन्मदिन है। साहा अपना 34वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। श्रीलंका के खिलाफ होने वाले तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए साहा को 15 सदस्यी टीम में चुना गया है। 24 अक्टूबर 1984 को जन्में बंगाल के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने वाले साहा सिलिगुड़ी के रहने वाले हैं।

Happy birthday wriddhiman saha: unknown facts of wriddhiman saha life
भारत के दिग्गज साहा को कहते हैं बेस्ट विकेट कीपर

भारत के दिग्गज साहा को कहते हैं बेस्ट विकेट कीपर

भारतीय क्रिकेट के इतिहास के बेस्ट विकेटकीपर के रूप में एमएस धोनी का नाम सबसे आगे आता है। धोनी तो भारत का ही नहीं बल्कि दुनिया का बेस्ट विकेटकीपर कहा जाता है लेकिन धोनी का अब टेस्ट क्रिकेट से कोई नाता नहीं है। महेंद्र सिंह धोनी के टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद साहा ने ही भारतीय विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभाली है और वह बेहद अच्छा कर भी रहे हैं। कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि साहा मौजूदा समय में देश के बेस्ट विकेटकीपर हैं। हाल ही में टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भी साहा को महेंद्र सिंह धोनी से बेहतर विकेटकीपर बताया था। इसके बाद सौरव गांगुली ने धोनी और रिद्धिमान साहा की तुलना करते हुए कहा था कि, टीम इंडिया को ऐसे विकेटकीपर पर नजर रखनी चाहिए जो पहले वाले से बेहतर हो।

तेज गेंदबाज के तौर पर की थी शुरुआत, ऐसे उठाया धोनी की गैरमौजूदगी का फायदा

तेज गेंदबाज के तौर पर की थी शुरुआत, ऐसे उठाया धोनी की गैरमौजूदगी का फायदा

साहा ने अपने क्रिकेटिंग करियर की शुरुआत एक तेज गेंदबाज के तौर पर की थी। लेकिन उन्होंने धीरे-धीरे वो विकेटकीपिंग में अपने हाथ आजमाने शुरू किए और देखते ही देखते देश के विकेटकीपर बल्लेबाज बन गए। रिद्धिमान साहा ने फरवरी 2010 में टीम इंडिया के लिए बतौर बैट्समैन टेस्ट डेब्यू किया था। इस मैच में धोनी के होने की वजह से साहा को कीपिंग का मौका नहीं मिला था। जिसके बाद साल 2012 में धोनी के सस्पेंड होने के कारण साहा को टीम इंडिया के लिए बतौर विकेटकीपर खेलने का मौका मिला था। इसके बाद वापसी में उन्हें करीब 3 साल का समय लग गया। साहा को अगला टेस्ट 2014 में खेलने को मिला था। तब भी धोनी चोटिल हो गए थे और उनकी जगह साहा को टीम में शामिल किया गया था।

और ऐसे बन गए टीम इंडिया के परमानेंट विकेटकीपर

और ऐसे बन गए टीम इंडिया के परमानेंट विकेटकीपर

दिसंबर 2014 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया। जिसके बाद से साहा की जगह टीम में पक्की हो गई। मेलबर्न टेस्ट ड्रॉ होने कुछ ही देर बाद धोनी ने इस फैसले का ऐलान किया था। धोनी ने सीरीज के बीच में संन्यास लिया था। ये क्रिकेट की सबसे बड़ी खबरों में से एक थी। अपने आखिरी टेस्ट मैच में धोनी ने बहुत खराब प्रदर्शन किया। पहली पारी में उन्होंने सिर्फ 11 रन बनाए। दूसरी पारी में वह 24 रन बनाकर नॉट आउट रहे। धोनी के बाद साहा ने भारतीय विकेट कीपिंग की कमान संभाली थी। तब से लेकर आज तक साहा सबकी पसंद बने हुए हैं।

सोशल मीडिया साइट 'ऑरकुट' पर रोमी को दिल दे बैठे थे रिद्धिमान साहा

सोशल मीडिया साइट 'ऑरकुट' पर रोमी को दिल दे बैठे थे रिद्धिमान साहा

रिद्धिमान साहा की लव स्टोरी काफी इंट्रस्टिंग थी। साहा की वाइफ का नाम देब्रती है जिन्हें रोमी के नाम से भी जाना जाता है। इन दोनों की शादी चार साल के अफेयर के बाद साल 2011 में हुई थी। इस कपल की दोस्ती सोशल मीडिया साइट 'ऑरकुट' पर हुई थी। दोस्त बनने के बाद दोनों की लव स्टोरी शुरू हुई और चार साल चले अफेयर के बाद दोनों ने शादी कर ली। साल 2013 में ये दोनों एक बेटी के पेरेंट्स बने। जिसका नाम उन्होंने अन्वी रखा।

आईपीएल के फाइनल में शतक लगाने वाले इकलौते बल्लेबाज

आईपीएल के फाइनल में शतक लगाने वाले इकलौते बल्लेबाज

साहा ने भारत के लिए 28 टेस्ट मैचों में 32.70 की औसत से 1112 रन बनाए हैं। आईपीएल में साहा चेन्नई सुपरकिंग्स, किंग्स इलेवन पंजाब और कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए खेल चुके हैं। साहा आईपीएल के इतिहास में इकलौते ऐसे क्रिकेटर हैं, जिसने फाइनल मैच में सेंचुरी जड़ी। 2014 आईपीएल फाइनल में केकेआर के खिलाफ किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेलते हुए साहा ने 55 गेंद पर 115 रन बनाए थे, जिसमें 10 चौके और 8 छक्के शामिल थे। हालांकि पंजाब फिर भी ये मैच हार गया।

Story first published: Tuesday, October 24, 2017, 17:06 [IST]
Other articles published on Oct 24, 2017
Please Wait while comments are loading...