टॉस में क्या रखा है, वह तो हारना ही है, पर इस बार जीता तो विराट कोहली रह गए सरप्राइज

लीड्स: भारत के कप्तान विराट कोहली टॉस कम ही जीतते हैं। अब तो उनको भी इस बात पर यकीन हो गया है कि टॉस में क्या रखा है, वह तो हारना ही है, असली मजा तो मैच जीतने के बाद आएगा। इसलिए जब हेडिंग्ले के लीड्स मैदान में उन्होंने टॉस जीता तो हैरान रह गए।

यहां भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की लंबी टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला 25 अगस्त को शुरू हुआ है जहां भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया।

टॉस जीता, कप्तान हैरान-

टॉस जीता, कप्तान हैरान-

विराट कोहली ने तब पहले बैटिंग करने में हिचक नहीं दिखाई जब लीड्स में परिस्थितियां तेज गेंदबाजों के माकूल लग रही थी क्योंकि आसमान में बादल छाए थे। वैसे कोहली के फैसले के बाद भारत को दो तगड़े झटके जिमी एंडरसन ने दिए जिन्होंने केएल राहुल और पुजारा को सस्ते में चलता कर दिया।

खैर, विराट कोहली की किस्मत इंग्लैंड में आकर तब फेल हो जाती है जब मामला लाल गेंद क्रिकेट में टॉस का आता है क्योंकि यह उनका पहला टॉस है जो उन्होंने इंग्लैंड की धरती पर टेस्ट मैचों में जीता है। इस बार जो रूट ने सिक्का उछाला और भारत के कप्तान ने कॉल की जो कि सही जाकर पड़ी। इसके अलावा यह ऐसा पहला मौका भी है जब विराट कोहली ने फरवरी में इंग्लैंड के खिलाफ हुए चेन्नई टेस्ट के बाद टॉस जीता है। जाहिर है कप्तान को सरप्राइस होना ही था और उन्होंने कहा, "यह आश्चर्य की बात है कि मैं टॉस जीत चुका हूं। हम पहले बल्लेबाजी करेंगे। पिच सख्त लग रही है और इस पर घास नहीं है। हम उसी टीम के साथ उतरेंगे जो पहले थी।"

चेतेश्वर पुजारा का धीमापन लारा को पसंद नहीं, बोले- मैं भारत का कोच होता तो ये काम करता

टीम वही उतारी-

टीम वही उतारी-

कोहली के वही टीम उतारने का मतलब यह हुआ कि एक बार फिर से रविचंद्रन अश्विन प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं होंगे और दुनिया का नंबर दो स्पिन गेंदबाज पहले दो टेस्ट मैचों में भी टीम से बाहर रहा था। विराट कोहली मैच से पहले ही कॉन्फ्रेंस में कह चुके थे कि अगर कोई चोट नहीं लगती है तो टीम उसी कॉन्बिनेशन के साथ उतरेगी जिसने पहले मैच जिताया है।

फिलहाल भारत का फंडा चार तेज गेंदबाजों और रविंद्र जडेजा के रूप में एक स्पिन बॉलिंग ऑलराउंडर को उतारने का है। कोहली ने कहा, "हमने अश्विन को टीम में लेने का सोचा था लेकिन इन परिस्थितियों में एक तेज गेंदबाज होना अहम बात है। रविंद्र जडेजा को यहां पर काफी गेंदबाजी करनी होगी क्योंकि परिस्थितियों उनको सूट करती हैं। आप चाहे कुछ भी कहे लेकिन यह लड़कों के ऊपर है कि वह प्रेशर वाली सिचुएशन से मैच को जीता लें। हाईएस्ट लेवल पर सब कुछ प्रेशर हैंडल करने पर टिका है।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं-

दोनों टीमें इस प्रकार हैं-

इंग्लैंड (प्लेइंग XI): रॉरी बर्न्स, हासिब हमनीद, डेविड मलान, जो रूट, जॉनी बेयरस्टो, जोस बटलर, मोइन अली, सैम कर्रन, क्रेग ओवर्टन, ऑली रॉबिन्सन, जेम्स एंडरसन।

भारत (प्लेइंग XI): रोहित शर्मा, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी, ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद सिराज।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Wednesday, August 25, 2021, 16:53 [IST]
Other articles published on Aug 25, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X