IND vs SA : मोहम्मद शमी ने पूरे किए 200 विकेट, इस मामले में कपिल देव को छोड़ा पीछे

सेंचुरियन : साउथ अफ्रीका के खिलाफ बाॅक्सिंग डे टेस्ट की पहली पारी में 5 विकेट लेकर भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने अपने नाम कई रिकाॅर्ड किए। शमी की बदाैलत साउथ अफ्रीका की पहली पारी महज 197 पर ढेर हो गई। इस दाैरान शमी 200 टेस्ट विकेट लेने वाले तीसरे सबसे तेज भारतीय तेज गेंदबाज बन गए। 31 वर्षीय तेज गेंदबाज शमी ने 28 दिसंबर को सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट पार्क में पहले टेस्ट के तीसरे दिन 5 विकेट लेने के बाद यह मील का पत्थर हासिल किया।

कपिल देव को छोड़ा पीछे
शमी ने सबसे कम गेंदों में 200 विकेट लेने के मामले में कपिल देव को पीछे छोड़ दिया है। साथ ही रविचंद्रन अश्विन को भी पीछे छोड़ दिया। शमी ने टेस्ट में 9.896 गेंदें फेंकते हुए 200 विकेट पूरे कर लिए। वहीं अश्विन ने 10,248 गेंदों में 200 विकेट लिए तो कपिल देव ने 11,066 गेंदें फेंकते हुए यह आंकड़ा छुआ है। चाैथे नंबर पर इस मामले में रविंद्र जडेजा हैं, जिन्होंने 11,989 गेंदों में 200 टेस्ट विकेट पूरे किए थे।

इसके अलावा मोहम्मद शमी ने अपने 55वें टेस्ट में 200वां विकेट हासिल किया। वह सबसे तेज 200 टेस्ट विकेट लेने वाले भारत के तीसरे तेज गेंदबाज बने। कपिल देव ने 1983 में अपने 50वें टेस्ट मैच में यह मील का पत्थर हासिल किया था, जबकि जवागल श्रीनाथ 2001 में अपने 54वें टेस्ट में 200 विकेट के क्लब में शामिल हुए थे। श्रीनाथ ने भी अपने 200वां विकेट साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलते हुए पूरे किए थे। इसके अलावा शमी 200 विकेट के क्लब में जगह बनाने वाले कुल नौवें सबसे तेज भारतीय हैं। आर अश्विन ने अपने 37वें टेस्ट में सबसे तेज 200 टेस्ट विकेट लेने का भारतीय रिकॉर्ड बनाया है, जबकि पाकिस्तान के लेग स्पिनर यासिर शाह ने अपने 33वें टेस्ट में मील का पत्थर हासिल करने का विश्व रिकॉर्ड बनाया है।

यह भी पढ़ें- IND vs SA : ऋषभ पंत ने तोड़ा धोनी का बड़ा रिकाॅर्ड, अब इसका टूटना है मुश्किल

मैच में जब जसप्रीत बुमराह टखने की चोट के साथ एक घंटे से अधिक समय तक आउट रहे, तो शमी ने गेंदबाजी आक्रमण का नेतृत्व किया क्योंकि दक्षिण अफ्रीका को 197 रनों पर आउट कर दिया गया, जिससे भारत की पहली पारी 130 रनों से पीछे हो गई।

टेस्ट में 200 या इससे अधिक विकेट लेने वाले भारतीय तेज गेंदबाज-
कपिल देव - 227 पारियों में 434
जहीर खान - 165 पारियों में 311
इशांत शर्मा - 185 पारियों में 311
जवागल श्रीनाथ - 121 पारियों में 236
शमी - 103 पारियों में 200

2013 में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने वाले शमी को हमेशा भारत के प्रमुख तेज गेंदबाजों में से एक माना जाता है। हालांकि, 2018 के बाद से सीनियर पेसर एक नए स्तर पर पहुंच गया है, जो भारतीय पेस अटैक का मुख्य आधार बन गया है। उन्होंने व्यक्तिगत मुद्दों को पीछे छोड़ दिया और अपनी फिटनेस पर काम किया और सबसे घातक तेज गेंदबाजों में से एक के रूप में खुद को विकसित किया। पूर्व गेंदबाजी कोच भरत अरुण के साथ काम करते हुए, शमी 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया में भारत की टेस्ट सीरीज जीत और 2021 में इंग्लैंड में उनके प्रभावशाली प्रदर्शन का एक अभिन्न हिस्सा थे, जिसमें भारत ने अधूरी 5-टेस्ट सीरीज में 2-1 की बढ़त बना ली थी। शमी ने 2018 में 47 टेस्ट विकेट लिए, 2019 में 33 विकेट लिए थे। उन्होंने जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव और इशांत शर्मा के साथ मिलकर एक घातक जोड़ी बनाई।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Tuesday, December 28, 2021, 22:03 [IST]
Other articles published on Dec 28, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X