कानपुर वनडेः लोकल ब्वॉय कुलदीप भारत को जिताएगा तीसरा वनडे, कहा- मौका मिलने का इंतजार

Posted By:

कानपुर। भारत और न्यूजीलैंड के तीन मैचों की वनडे सीरीज का तीसरा व आखिरी मैच रविवार को कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में दोपहर 1 बजकर 30 मिनट से खेला जाएगा। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए पहले मैच में भारतीय टीम को 6 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा था। जिसके बाद पुणे में भारत ने भी 6 विकेट से जीत हासिल कर सीरीज में बराबरी कर ली। अब तीसरे मैच को भारतीय टीम हर हाल में जीतना चाहेंगी।

india vs new zealand 3rd odi: kuldeep yadav excited to play in kanpur
कानपुर का ग्रीनपार्क स्टेडियम चाइनामैन कुलदीप यादव का होम ग्राउंड है

कानपुर का ग्रीनपार्क स्टेडियम चाइनामैन कुलदीप यादव का होम ग्राउंड है

तीसरा वनडे कानपुर में है। गौरलतब है कि कानपुर का ग्रीनपार्क स्टेडियम चाइनामैन कुलदीप यादव का होम ग्राउंड है। पिछले वनडे में कुलदीप की जगह अक्षर पटेल को टीम में शामिल किया गया था। हालांकि कानपुर की पिच से कुलदीप यादव भली-भंति परिचित हैं ऐसे में कोहली एक बार फिर से इस लोकल ब्वॉय को प्लेइंग इलेवन में शामिल करेंगे।

 कुलदीप का बचपन यहां की गलियों में गुजरा

कुलदीप का बचपन यहां की गलियों में गुजरा

कुलदीप यादव का कहना है कि कल यहां भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने तीसरे और अंतिम वनडे में अगर उन्हें प्लेइंग इलेवन में मौका मिलता है, तो वह घरेलू दर्शकों के सामने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिये तैयार हैं। कुलदीप का बचपन यहां की गलियों में गुजरा, इसी ग्रीन पार्क मैदान में क्रिकेट सीखा। उन्होंने कहा, 'अगर कल मुझे अंतिम ग्यारह में चुना गया है तो मैं अपने जीवन का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगा। अपने मैदान में घरेलू दर्शकों के सामने की बात सोचकर बहुत रोमांचित हूं।'

अपने लोगों के सामने खेलना उनके लिए गर्व की बात होगी

अपने लोगों के सामने खेलना उनके लिए गर्व की बात होगी

बता दें कि कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में पहली बार डे-नाइट वनडे मैच होने जा रहा है। इस मैच में कुलदीप यादव आकर्षक का केंद्र होंगे क्योंकि अपने लोगों के सामने खेलना उनके लिए गर्व की बात होगी। उन्होंने कहा, "अगर मुझे अंतिम एकादश में चुना जाता है तो मैं अपनी रणनीति मैदान में ही दिखाऊंगा क्योंकि यह ग्रीन पार्क मेरा घरेलू मैदान है। और मैं इसकी पिच की रग-रग से वाकिफ हूं, क्योंकि मैंने इस मैदान पर बहुत क्रिकेट खेला है।"

मैं जब घर में होता हूं तो क्रिकेट की बात नही करता हूं

मैं जब घर में होता हूं तो क्रिकेट की बात नही करता हूं

14 दिसंबर 1994 को क्रिकेटर कुलदीप का जन्म कानपुर के जाजमऊ इलाके में हुआ था। कुलदीप से जब इस बारे मे पूछा गया कि क्या उनके माता-पिता और उनकी बहनें कल उनका मैच देखने ग्रीन पार्क आयेंगी, इस पर कुलदीप ने कहा 'मैं जब घर में होता हूं तो क्रिकेट की बात नही करता हूं। अगर उनका मन होगा तो आयेंगे नहीं तो नहीं।" बता दें कि उप्र क्रिकेट संघ के सीईओ ललित खन्ना के मुताबिक सभी क्रिकेटरों की तरह कुलदीप के घरवालों के लिए भी बीसीसीआई के पास भिजवा दिए हैं।

Story first published: Saturday, October 28, 2017, 16:52 [IST]
Other articles published on Oct 28, 2017
Please Wait while comments are loading...