IPL 2020: टूर्नामेंट के बीच में किसी खिलाड़ी को हुआ कोरोना, तो आगे क्या होगा? जानें पूरी जानकारी

नई दिल्ली: भारत सरकार से मंजूरी के अधीन, यूएई में 19 सितंबर से 10 नवंबर तक होने वाले आईपीएल 2020 को सफल बनाने के लिए बीसीसीआई अपनी ओर से कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। किसी को कोरोनोवायरस ना हो उसके लिए बीसीसीआई ने पहले ही अपने विस्तृत मानक ऑपरेटिंग (एसओपी) आईपीएल की सभी फ्रेंचाइजी के पास भेज दिए हैं। साथ ही वायरस फैलने के जोखिम को कम करने के लिए नियमित टेस्ट कराना आम बात होने जा रही है।

लेकिन अगर किसी खिलाड़ी का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव निकलता है तो क्या होगा। आइए देखते हैं कि आईपीएल 2020 के दौरान संदिग्ध / सकारात्मक कोविद -19 मामलों के प्रबंधन के लिए एसओपीएस क्या कहता है-

दो चरणों में होगा कोरोना पॉजिटिव खिलाड़ी का मैनेजमेंट-

दो चरणों में होगा कोरोना पॉजिटिव खिलाड़ी का मैनेजमेंट-

  • BCCI दिशानिर्देशों ने संदिग्ध / सकारात्मक कोविद -19 मामलों के प्रबंधन को दो कैटेगरी में बांटा है- पहला तुरंत प्रतिक्रिया देना और दूसरा फॉलो-अप मैनेजमैंट
  • तुरंत रेस्पॉन्स देने वाली कैटेगरी में कोरोना से ग्रसित खिलाड़ी को तुरंत ही बाकी टीम से अलग कर दिया जाएगा।
  • टीम का डॉक्टर तुरंत ही आईपीएल मेडिकल मैनेजर को सूचना देगा।
  • सभी पॉजिटिव केस को सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्स के द्वारा संभाला जाएगा जो उस समय मौजूद क्षेत्र में लागू होती है।
  • खिलाड़ी किस किस के संपर्क में रहा है उसका पता लगाने की प्रक्रिया तुरंत शुरू करा दी जाएगी।
  • उस खिलाड़ी की देखरेख करने वाले पूरे सपोर्ट स्टाफ को पूरी पीपीई किट पहननी होगी।
फॉलो-अप मैनेजमेंट

फॉलो-अप मैनेजमेंट

तुरंत करने वाली चीजों के बाद यह दूसरा चरण शुरू हो जाएगा जिसके तहत-

  • अगर वायरस से ग्रसित खिलाड़ी को हल्के फुल्की ही समस्या है तो उसको 2 हफ्ते के लिए क्वारेंटाइन किया जाएगा जो जैव सुरक्षित बबल से दूर स्थान होगा।
  • इस दौरान खिलाड़ी को जरूरी आराम करना होगा और किसी भी तरह की ट्रेनिंग रोकनी होगी।
  • मेडिकल इन्चार्ज लगातार खिलाड़ी का आकर मुआयना करता रहेगा।
  • अगर इस अलगाव पीरियड में खिलाड़ी की हालत में सुधार नहीं दिखता है तो उसको तुरंत अस्पताल में भर्ती कराना होगा।
  • दो हफ्तों का अलगाव समय गुजारने के बाद खिलाड़ी को 24 घंटे के अंतराल पर दो पीसीआर टेस्ट कराने होंगे। अगर ये टेस्ट नेगेटिव आए तो खिलाड़ी को वापस बॉयो-सिक्योर बबल में एंट्री करने की इजाजत होगी।
  • रिकवरी के बाद खिलाड़ी को दिल की जांच करानी होगी और उसके बाद ही टीम से जुड़ी गतिविधियों का हिस्सा वो बन पाएगा।

  • होटल में टीमों के लिए क्या कहता है नियम-

    होटल में टीमों के लिए क्या कहता है नियम-

    सभी टीमों को अलग-अलग होटलों में रखा जाएगा।

    टीम के सदस्यों को होटल के एक अलग विंग में कमरे आवंटित किए जाने चाहिए, जिसमें होटल के बाकी हिस्सों की तुलना में एक अलग केंद्रीकृत एयर कंडीशनिंग (एसी) इकाई हो।

    राम मंदिर भूमि पूजन पर बोला पूर्व पाकिस्तानी बॉलर- ये दुनिया में हिंदुओं के लिए ऐतिहासिक दिन

    तीसरे नकारात्मक परीक्षण के बाद, टीम के सदस्यों को जैव-सुरक्षित वातावरण में एक-दूसरे से मिलने की अनुमति दी जा सकती है। हालांकि, हर समय एक फेस मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए।

    व्यक्तिगत कमरों में भोजन का आदेश दिया जाना चाहिए और सामान्य भोजन क्षेत्रों के उपयोग तो रोकना चाहिए।

    मैच के दिन के लिए गाइडलाइन्स-

    मैच के दिन के लिए गाइडलाइन्स-

    मैच के दिन के लिए भी खिलाड़ियों को मैच के स्थल पर पहुंचने से पहले अपने दैनिक तापमान की जांच को पूरा करना होगा।

    यूएई के लिए खिलाड़ियों के साथ यात्रा करने वाले परिवारों और करीबी लोगों के लिए

    बीसीसीआई ने परिवारों कोअनुमति दी है। हालांकि, परिवार के सदस्यों को जैव-सुरक्षित बुलबुले में होने सहित सभी प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।

    परिवारों को टीम बस में खिलाड़ियों और सहायक कर्मचारियों के साथ यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, August 6, 2020, 12:47 [IST]
Other articles published on Aug 6, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X