220 करोड़ रुपए के फर्जीवाड़े में फंसी यह आईपीएल की टीम और कई कंपनियां

Written By:

नई दिल्ली। आईपीएल में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है, ईडी इस मामले में रॉदेवू स्पोर्ट्स वर्ल्ड प्राइवेट कंपनी के चीफ फाइनेंसियल ऑफिसर, 2011 के आईपीएल में खेलने वाली कोची टस्कर टीम के मालिक, पीजी फॉइल्स लिमिटेड, एस्सेल श्याम टेक्नोलॉजीस प्राइवेट लिमिटेड सहित कई कंपनियों की जांच करना चाहती है। इन तमाम कंपनियों के खिलाफ ईडी की टीम प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉड्रिंग एक्ट के तहत 220 करोड़ रुपए के फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है जिसमें मुंबई स्थित देना बैंक के वरिष्ठ अधिकारी का नाम भी सामने आया है सूत्रों के अनुसार ईडी को इस बात की जानकारी मिली है कि विमल बरोत जोकि शोमैन ग्रुप के वरिष्ठ वाइस प्रेसिडेंट का नाम भी इस मामले हैं, जोकि मौजूदा समय में मुंबई के देना बैंक में एफडी में गड़बड़ करने को लेकर जेल के भीतर हैं।

बैंक मैनेजर की मिलीभगत

बैंक मैनेजर की मिलीभगत

जानकारी के अनुसार बरोत का बैंक के मैनेजर से मिलीभगत थी, जिनकी मदद से इन कंपनियों के एफडी खाते खोले गए और उन्हें 220 करोड़ रुपए का लोन दिया गया। यह फर्जीवाड़ा उस समय सामने आया जब उन लोगों ने बैंक से संपर्क किया जिन्होंने बैंक में एफडी कराई थी। इसके बाद सीबीआई ने इस मामले को अपने हाथ में लिया, जिसके बाद ईडी ने भी इस मामले की जांच शुरू कर दी। सूत्रों की मानें तो ईडी को इस मामले की जानकारी मिलने के बाद जांच शुरू कर दी, जिसके बाद तमाम कंपनियों के खिलाफ जांच शुरू हुई। जांच में यह भी बात सामने आई कि बरोत ने इन कंपनियों के नाम से बैंक खाते खोले और इन कंपनियों को इस बारे में जानकारी भी नहीं दी, फर्जी दस्तावेजों की मदद से यह खाते खोले गए।

पैसों की हेराफेरी

पैसों की हेराफेरी

सूत्रों की मानें तो ईडी को इस बारे में जानकारी मिली कि बरोत ने कोची टस्कर के नाम से 2015 में 6 करोड़ रुपए निवेश किए , इसके अलावा उसने 9 करोड़ व 7 करोड़ रुपए पीजी फॉइल्स और तुलसीदास गोपालजी नाम की कंपनी में निवेश किए। जांच एजेंसी इसकी जांच करना चाहती हैं कि कैसे फर्जीवाड़ा करके फर्जी दस्तावेजों की मदद से पैसों की हेराफेरी की। जांच में यह बात भी सामने आई है कि बरोत ने कई और बैंकों से भी पैसों का लेनदने फर्जी तरीके से किया।

आईपीएल से बाहर हो गई थी कोची की टीम

आईपीएल से बाहर हो गई थी कोची की टीम

हालांकि इस पूरे मामले में देना बैंक ने चुप्पी साध रखी है और इसपर कोई सफाई नहीं दी है। आपको बता दें कि कोची टस्कर की टीम 2011 में आईपीएल का हिस्सा थी, इसके बाद इस टीम को बीसीसीआई ने नियमों का उल्लंघन करने की वजह से आईपीएल से बाहर का रास्ता दिखा दिया था, जिसके बाद से कोची की टीम अपनी वापसी की कोशिश कर रही है।

इसे भी पढ़ें- शराब की कंपनी के प्रचार के बारे में आखिरकार विराट कोहली ने दिया जवाब

Story first published: Monday, November 13, 2017, 12:09 [IST]
Other articles published on Nov 13, 2017
POLLS

MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट