भाई की मौत के सदमे के बीच आर्चर ने इंग्लैंड को जिताया था वर्ल्ड कप, हुआ बड़ा खुलासा

नई दिल्ली: इंग्लैंड के विश्व कप हीरो जोफ्रा आर्चर के इस समय इंग्लैंड के पहली बार विश्व कप जीतने का लुत्फ उठा रहे हैं। आर्चर ने इस टूर्नामेंट में ना केवल 11 पारियों में 20 विकेट लिए थे बल्कि फाइनल मैच में वह चर्चित सुपरओवर भी किया था जिसमें मैच टाई हो गया था और इंग्लैंड बाद में बाउंड्री काउंट के आधार पर जीत गया था। आर्चर ने उस ओवर में न्यूजीलैंड को जीत के लिए 16 रन नहीं बनाने दिए थे। अपना पहला ही विश्व कप खेल रहे आर्चर इंग्लैंड के नए हीरों हैं। इसी बीच एक ऐसी खबर का भी खुलासा हुआ है जिसको जानने के बाद आर्चर की शख्सियत और भी ज्यादा बड़ी हो जाती है। दरअसल विश्व कप के शुरू होते ही आर्चर के भाई की हत्या कर दी गई थी।

भाई की हत्या के दर्द में आर्चर ने जीता विश्व कप

भाई की हत्या के दर्द में आर्चर ने जीता विश्व कप

जिस दिन इंग्लैंड ने विश्व कप में इंग्लैड को हराकर अपना अभियान शुरू किया था उससे अगले ही दिन एशेंटियो ब्लैकमैन नाम के आर्चर चचेरे भाई को उनके घर के बाहर मार दिया गया था। उनकी सेंट फिलिप में गोली मारकर हत्या की गई थी। झंकझोर देने वाली इस घटना के बाद भी आर्चर ने विश्व कप खेलना जारी रखा था। यह उस समय उनके लिए बेहद ही मुश्किल काम था क्योंकि आर्चर अपने भाई के काफी करीबी थी। दोनों का बचपन साथ ही गुजरा था। आर्चर ने खुद कभी भी सार्वजनिक तौर पर अपने दुख का खुलासा नहीं किया। अब उनके पिता ने इस बात को खुलासा किया है।

आर्चर के पिता ने किया खुलासा

आर्चर के पिता ने किया खुलासा

आर्चर के पिता फ्रैंक ने द टाइम्स न्यूजपेपर को बताया- 'आर्चर का कजिन उसका हमउम्र ही था और वे दोनों बहुत करीबी थे। यहां तक की उसने मरने से एक दिन पहले आर्चर को मैसेज भी किया था।' उन्होंने आगे बताया कि आर्चर को इस बात से काफी सदमा लगा था लेकिन उसने तय किया कि वह अपना खेल जारी रखेगा।

'नाइटहुड' उपाधि से नवाजे जा सकते हैं विश्व कप फाइनल के हीरो बेन स्टोक्स

इंग्लैंड के लिए खेलने पर भी उठ चुके हैं सवाल-

इंग्लैंड के लिए खेलने पर भी उठ चुके हैं सवाल-

बता दें कि आर्चर बारबाडोस से ताल्लुक रखते हैं और उनका कजिन भी वहीं रहता था। लेकिन आर्चर के पिता ब्रिटिश हैं जिसके चलते आर्चर को ब्रिटिश पासपोर्ट मिला हुआ है। वह इसी साल मार्च में ही इंग्लैंड की ओर से खेलने के लिए योग्य हुए थे। उनके पिता ने कहा- लोग आर्चर की ब्रिटिश नागरिकता पर सवाल उठाते रहे हैं लेकिन उसने इंग्लैंड के लिए खेलकर यह दिखाया है कि क्रिकेट के लिए किसी को भी प्रेरित करता रहेगा।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Tuesday, July 16, 2019, 22:20 [IST]
Other articles published on Jul 16, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X