दीपक चाहर की पारी के पीछे रहा धोनी का अहम रोल, तभी मिल पाई जीत

Deepak Chahar credits MS Dhoni for playing 69 runs knock in pressure situation| Oneindia Sports

नई दिल्ली। भारत के भाग्य पर काले बादल छाने के बाद दीपक चाहर ने श्रीलंका के जबड़े से जीत छीन ली। श्रीलंका के गेंदबाज पूरी ताकत हासिल कर रहे थे लेकिन चाहर के विचार अलग थे और उन्होंने दूसरे छोर पर भुवनेश्वर कुमार के साथ उन्हें पस्त किया। चाहर ने अंत में 69 रनों की नाबाद पारी खेली और भारत को तीन विकेट से जीत दिलाने में मदद की। चाहर की पारी में अहम रोल महेंद्र सिंह धोनी का भी रहा। इसका खुलासा चाहर ने खुद किया।

चाहर ने कहा कि उन्होंने लक्ष्य का पीछा करना धोनी के दिमाग से सीखा और इससे उन्हें कोलंबो में अपनी पारी की योजना बनाने में मदद मिली। इस पेसर ने बताया कि वह धोनी को करीब से देख रहे हैं और जब भी कोई उनसे बात करते हैं तो वह खेल को गहराई तक ले जाने के लिए ही कहते हैं। चाहर ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "एमएस धोनी को करीबी मैच में खेलते देखना एक बड़ा कारक रहा है। मैंने उसे लंबे समय तक देखा है और मैंने उन्हें हमेशा मैच खत्म करते देखा है। जब आप उनसे बात करते हैं, तो वह हमेशा आपको खेल को गहराई से लेने के लिए कहते हैं। हर कोई चाहता है कि हम जीतें, लेकिन जब मैच गहरा होता है, तो इसमें शामिल सभी लोगों के लिए रोमांचकारी होता है।"

पूर्व चयनकर्ता ने कहा- T-20 क्रिकेट में शार्दुल की बजाय चाहर हैं मेरी पहली पसंदपूर्व चयनकर्ता ने कहा- T-20 क्रिकेट में शार्दुल की बजाय चाहर हैं मेरी पहली पसंद

मेरे पिता मेरे कोच रहे हैं
चाहर ने आगे कहा कि अगर लोग उन्हें एक ऑलराउंडर के रूप में नहीं देखते हैं तो इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। सीएसके के तेज गेंदबाज ने कहा कि दूसरे छोर पर बल्लेबाज को सहज होना चाहिए कि वह आसानी से अपना विकेट नहीं फेंके। चाहर ने निकट भविष्य में अपने बल्लेबाजी कौशल को विकसित करने का श्रेय अपने पिता को दिया और वह उनके कोच भी रहे हैं। चाहर ने कहा, "मैंने हमेशा अपनी बल्लेबाजी पर काम किया है और मेरे पिता मेरे कोच रहे हैं। जब मैं उनसे बात करता हूं तो हम हमेशा अपनी बल्लेबाजी के बारे में बात करते हैं। लोग मुझे ऑलराउंडर के रूप में देखते हैं या नहीं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। जो बल्लेबाज मेरे साथ खेल रहा है उसे विश्वास होगा कि मैं टिक सकता हूं और अपना विकेट नहीं दूंगा। एक बल्लेबाज के लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि उसका साथी उसका समर्थन करेगा।"

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, July 22, 2021, 15:15 [IST]
Other articles published on Jul 22, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X