क्रिकेट में सबसे महंगा बैट है धोनी का ये बल्ला, 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में इससे ही लगा था छक्का

नई दिल्ली: विश्व कप 2011 फाइनल मुकाबले में धोनी ने छक्का मारकर भारत को जीत दिलाई थी और तब से यह क्षण भारतीय क्रिकेट के सबसे प्रतिष्ठित लम्हों में एक बना हुआ है। 2 अप्रैल की तारीख भारतीय प्रशंसकों के दिल में हमेशा के लिए दर्ज हो गई। उसी दिन, भारत ने 28 साल के लंबे इंतजार के बाद विश्व कप जीता। एमएस धोनी और गौतम गंभीर ने फाइनल की रात में मैच जीतने वाली पारियां खेली और टीम को एक विशाल स्कोर और इतिहास रचने में मदद की।

खास है धोनी का 2011 वर्ल्ड फाइनल बैट-

खास है धोनी का 2011 वर्ल्ड फाइनल बैट-

मुथैया मुरलीधरन का सामना करने के लिए तब भारतीय कप्तान ने युवराज सिंह से आगे खुद को प्रमोट किया था और सबने इस फैसले की बहुत प्रशंसा की, यह एक खेल-बदलने वाला निर्णय साबित हुआ क्योंकि धोनी नाबाद 91 रनों की पारी खेल गए और खेल को जिताने के लिए उनका छक्का हर किसी को याद है।

धोनी के बचपन के दोस्त ने बताया, माही ने स्वतंत्रता दिवस पर क्यों लिया संन्यास का फैसला

धोनी ने जिस बल्ले से यह विजयी छक्का लगाया था, वह क्रिकेट इतिहास में सबसे महंगा बैट है और ऐसा इसलिए नहीं है कि इस बैट को किसी बेशकीमती लकड़ी से बनाया गया था बल्कि ऐसा इसलिए है क्योंकि बाद में इस बैट की एक तरह से नीलामी हुई थी जहां इसको मोटी रकम में खरीदा गया था।

क्रिकेट इतिहास का सबसे महंगा बल्ला-

क्रिकेट इतिहास का सबसे महंगा बल्ला-

दरअसल 2011 फाइनल के तीन महीने बाद ही लंदन में हुए चैरिटी डिनर के दौरान यह बैट £100 000 (पाउंड) में खरीदा गया था। तब के हिसाब से यह रकम लगभग 72 लाख है और आज के हिसाब से यह लगभग 98 लाख बैठती है। इस बैट को ब्रोकरेज फर्म आर.के. ग्लोबल ने खरीदा था। बैट बेचने से हुई कमाई को धोनी की पत्नी साक्षी की चैरिटेबल संस्था को दिया गया था।

फाइनल में सचिन ने दी थी धोनी को ऊपर आने की सलाह-

फाइनल में सचिन ने दी थी धोनी को ऊपर आने की सलाह-

आपके बता दें कि उस मैच को जिताने में सचिन की भी अहम भूमिका थी। कुछ महीने ही सचिन तेंदुलकर ने खुलासा किया था कि यह वह थे जिन्होंने 2011 विश्व कप फाइनल में भारतीय कप्तान एम.एस. धोनी को युवराज से ऊपर आने के लिए सलाह दी थी। यह सलाह इसलिए दी गई थी जाकि दाएं-बाएं हाथ के बल्लेबाज का मेल क्रीज पर बना रहे। तेंदुलकर ने महसूस किया कि श्रीलंका दो गुणवत्ता के ऑफ स्पिनरों को गेंदबाजी पर लगा रहा था और इसलिए बल्लेबाजी संयोजन को जीवंत बनाए रखना था।

कोरोना ने पलट दिया धोनी का प्लान-

कोरोना ने पलट दिया धोनी का प्लान-

अगर कोरोनावायरस के चलते सब कुछ उलट-पलट ना हुआ होता तो धोनी शायद ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड की तैयारियों में इस समय लगे होते। धोनी अब भी क्रिकेट की तैयारियों में लगे हैं लेकिन यह वर्ल्ड कप के लिए नहीं बल्कि आईपीएल के लिए है जो 19 सितंबर को यूएई में होने जा रहा है। इसी के चलते धोनी चेन्नई सुपर किंग्स के कैम्प में चेन्नई में ही है। चेन्नई से ही धोनी ने अपने संन्यास की घोषणा की। यह घोषणा इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट करके हुई।

धोनी के वीडियो की शुरुआत एक गाने से होती है- मैं पल दो पल का शायर हूं....यह वह गीत है जिसको धोनी ने पहले भी गुनगुनाया है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Sunday, August 16, 2020, 13:46 [IST]
Other articles published on Aug 16, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X