कैसे 26 साल के धोनी को दी गई थी टीम इंडिया की कप्तानी, पढ़िए उन्हीं की जुबानी

Posted By:
MS Dhoni told How he Became Captain Of team India In 2007

नई दिल्ली। पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने खुद को कप्तानी मिलने को लेकर कई बातें कही हैं। उन्होंने बताया कि कैसे वे टीम इंडिया के कप्तान बन गए। भारतीय क्रिकेट के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी ने जब वनडे और टी-20 की कप्तानी को छोड़ा था तो हर कोई हैरान था। धोनी ने अपनी कप्तानी में ऐसे कारनामे कर दिखाए हैं, जोकि अब तक कोई भी भारतीय कप्तान नहीं कर सका है। धोनी ने न सिर्फ टी-20 वर्ल्ड कप दिलाया बल्कि भारत को वनडे में वर्ल्ड कप का विजेता भी बनाया। इतना ही नहीं, चैंपियंस ट्रॉफी में जीत के अलावा टीम इंडिया को टेस्ट में नबंर वन भी बना चुके हैं।

जब उन्हें टीम इंडिया की कप्तानी सौपी गई

जब उन्हें टीम इंडिया की कप्तानी सौपी गई

इतनी सफलताओं को पाने के बाद अब धोनी पर टी20 में औसत बल्लेबाजी के लिए संन्यास का दबाव डाला डाला रहा है। हालांकि धोनी के समर्थन में खुद भारतीय कोच रवि शास्त्री और विराट कोहली खुलकर आ चुके हैं। धोनी ने तमाम सफलताओं के बाद उस राज का खुलासा किया है जब उन्हें टीम इंडिया की कप्तानी सौपी गई थी।

धोनी की कप्तानी की काफी तारीफ हुई थी

धोनी की कप्तानी की काफी तारीफ हुई थी

आपको बता दें कि 2007 में युवराज सिंह, हरभजन सिंह और वीरेंदर सहवाग जैसे खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद धोनी को टीम का कप्तान बनाया गया था और उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने 2007 का टी20 वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम किया था। उस प्रतियोगिता में धोनी की कप्तानी की काफी तारीफ हुई थी और उसके बाद से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। धोनी का कहना है कि इसके लिए सीनियर खिलाड़ियों ने उनका साथ दिया, इसके अलावा क्रिकेट को लेकर उनकी जानकारी और उनका स्वभाव इसमें काफी मददगार रहा।

शायद ये भी कारण रहा कि टीम के बाकी खिलाड़ियों के साथ मेरे अच्छे संबंध थे

शायद ये भी कारण रहा कि टीम के बाकी खिलाड़ियों के साथ मेरे अच्छे संबंध थे

'द प्रिंट' नाम के वेब पोर्टल को दिए गए इंटरव्यू में धोनी ने बताया कि मैं उस वार्तालाप या बैठक में नहीं था जब मुझे भारतीय टीम के कप्तान के रूप में चुना गया था। यह सबकुछ मेरे योग्यता और गेम को परखने की निर्भरता पर मिली। धोनी ने कहा- "मुझे लगता है कि मेरी ईमानदारी और खेल के प्रति मेरी जानकारी को लेकर मुझे टीम की कप्तानी मिली। धोनी ने आगे कहा कि गेम को पढ़ना काफी अहम होता है। हालांकि उस समय टीम में मैं एक युवा खिलाड़ी था और जब एक सीनियर खिलाड़ी ने मेरी राय पूछी तो मैंने खुलकर अपनी राय दी। शायद ये भी कारण रहा कि टीम के बाकी खिलाड़ियों के साथ मेरे अच्छे संबंध थे।"

विराट कोहली धोनी की सलाह लेते रहते हैं

विराट कोहली धोनी की सलाह लेते रहते हैं

धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। अब वह केवल वनडे और टी20 खेलते हैं। मैदान पर कई बार देखा गया है जब मौजूदा कप्तान विराट कोहली धोनी की सलाह लेते रहते हैं। धोनी की विकेट कीपिंग अभी भी पूरी दुनिया कायल है।

इसे भी पढ़ेंः- कुलदीप यादव से सचिन तेंदुलकर ने कही बड़ी बात, जानर चौंक जाएंगे आप

Story first published: Saturday, November 18, 2017, 15:28 [IST]
Other articles published on Nov 18, 2017
Please Wait while comments are loading...