ड्रेसिंग रूम में तोड़फोड़: सीसीटीवी फुटेज में नहीं मिला सबूत लेकिन गवाह ने खोल दी बांग्लादेश की पोल

Posted By:
ड्रेसिंग रूम में तोड़फोड़: सीसीटीवी फुटेज में नहीं मिला सबूत लेकिन गवाह ने खोल दी बांग्लादेश की पोल

कोलंबो। निदहास ट्रॉफी के वर्चुअल सेमीफाइनल में बांग्लादेश ने श्रीलंका को 2 विकेट से हराकर फाइनल में जगह बना ली है। हालांकि इस मैच में काफी विवाद हुआ। फील्ड पर विवाद के अलावा एक और बड़ा मामला सामने आया है। वो है ड्रेसिंग रूम में तोड़फोड़ का। सीरीज मैच में हुई नोकझोंक और बाद में ड्रेसिंग रूम में तोड़फोड़ का मामला तूल पकड़ सकता है। आपको बता दें कि इसमें दोषी के खिलाफ ICC के नियमों के तहत कार्रवाई भी हो सकती है।

ड्रेसिंग रूम की तरफ सीसीटीवी कैमरे ही नहीं थे

ड्रेसिंग रूम की तरफ सीसीटीवी कैमरे ही नहीं थे

आर प्रेमदासा स्टेडियम के ग्राउंड स्टाफ ने मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड को बताया है कि सीसीटीवी फुटेज में ऐसा कोई संकेत नहीं मिला है ड्रेसिंग रूम का शीशा किसने तोड़ा। बता दें कि मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड ने ग्राउंड मैनेजमेंट को वीडियो फुटेज देखकर उन्हें रिपोर्ट करने को कहा था। लेकिन शनिवार की सुबह उन्हें सूचित किया गया कि सीसीटीवी कैमरे ड्रेसिंग रूम की तरफ घूमे हुए नहीं थे जिससे पता चल पाता कि किसने तोड़फोड़ की है।

गवाह ने बताई सच्चाई!

गवाह ने बताई सच्चाई!

हालांकि वहां मौजूद प्रत्यक्षदर्शी (ड्रेसिंग रूम अटेंडेंट) ने जरूर बांग्लादेश की मुश्किलें बढ़ाई हैं। प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि एक सीनियर बांग्लादेशी खिलाड़ी ने कांच के दरवाजे को मजबूती से नुकसान पहुंचाया था। हालांकि मैच रेफरी ने तीसरे पक्ष के बयान पर ध्यान देने से इनकार कर दिया है। रेफरी ने कहा है कि वेन्यू के अधिकारियों बताएं कि क्या हुआ है। चूंकि अधिकारियों में से कोई भी इस घटना के वक्त मौजूद नहीं था, इसलिए उन्होंने किसी भी खिलाड़ी के नाम से इनकार कर दिया। क्रिकबज के मुताबिक यह घटना महमदुल्लाह रियाद द्वारा विजयी छक्का लगाने के तुरंत बाद हुई है नाकि सेलीब्रेशन के दौरान।

भरपाई को तैयार बांग्लादेश की टीम

भरपाई को तैयार बांग्लादेश की टीम

विवाद के बाद बांग्लादेशी कप्तान शाकिब अल हसन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि वे आगे से अपनी भावनाओं पर काबू रखेंगे। वहीं इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक बांग्लादेश टीम मैनेजमेंट ने नुकसान की भरपाई का प्रस्ताव भी दिया है।

ये थी विवाद की जड़

ये थी विवाद की जड़

दरअसल श्रीलंका के 160 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए बांग्लादेश ने 19 ओवर में 7 विकेट खोकर 148 रन बना लिए थे। आखिरी ओवर में उन्हें जीत के लिए 12 रन चाहिए थे। लेकिन विवाद की शुरुआत 20वें ओवर की दूसरी गेंद के बाद तब हुई जब बांग्लादेशी कप्तान शाकिब अल हसन अचानक अपने खिलाड़ियों को वापस पवेलियन बुलाने लगे। इस दौरान मैदान पर बांग्लादेशी और श्रीलंकाई क्रिकेटरों के बीच गर्मागर्म बहस भी हुई। श्रीलंकाई खिलाड़ियों का कहना था कि आखिरी ओवर की शुरुआती दोनों गेंदें कंधे से ऊपर थीं और फील्ड अंपायर ने नो-बॉल नहीं दिया। बाद में कमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने कहा कि गेंद जरूर कंधे से ऊपर थी, लेकिन बल्लेबाज के हेलमेट से नीचे होकर निकली। हालांकि काफी विवाद के बाद बांग्लादेश के खिलाड़ी वापस मैदान पर उतरे और 20वें ओवर की पांचवी गेंद पर महमदुल्लाह ने छक्का लगाकर जीत हासिल कर ली।

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Saturday, March 17, 2018, 15:19 [IST]
Other articles published on Mar 17, 2018

MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट