आज ही के दिन युवराज ने लिया था वो फैसला, जिसने फैंस की आंखों में ला दिए आंसू

नई दिल्ली। युवराज सिंह... वो खिलाड़ी जिसने कभी हिम्मत हारना नहीं सीखा। उनकी जुबां पर हमेशा तीन शब्द रहते थे- Neve Give Up यानी कि कभी हार मत मानों। 'सिक्सर किंग' नाम से मशहूर ने आज ही के दिन यानी कि 10 जून को एक ऐसा फैसला लिया था जिसे सुन उनके फैंस आंसू बहाने पर मजबूर हो गए थे। दरअसल, युवराज ने पिछले साल इसी दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था। संन्यास का ऐलान करते समय युवराज पूरी तरह से भावुक हो उठे थे। मैदान पर हंसी वाले चेहरे के साथ विरोधियों को चिंता में डालने वाले युवी अपने क्रिकेट करियर पर बोलते हुए डगमगाते दिखे। उन्होंने संन्यास की घोषणा करते समय उस सपने का जिक्र भी किया जो पूरा हो नहीं सका। युवराज ने बताया कि उनका क्या सपना था जो मुंबई इंडियंस की टीम में रहकर पूरा नहीं हो सका।

शोएब अख्तर ने भारत और पाकिस्तान को मिलाकर चुने ODI के टाॅप-10 बल्लेबाज

यह सपना रहा अधूरा

यह सपना रहा अधूरा

संन्यास का ऐलान करते दाैरान युवराज ने कहाथा कि उन्होंने पिछले साल ही मन बना लिया था कि आईपीएल 2019 उनका आखिरी विश्व कप होगा। युवराज भावुक हो गए और उन्हें उम्मीद थी कि आईपीएल 2019 में खेलने के लिए अधिक अवसर मिलेंगे व उच्च स्तर पर गेंदबाजी करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ क्योंकि उन्होंने मुंबई इंडियंस के लिए केवल 4 मैच खेले। युवराज ने कहा था, "मेरा करियर 2000 में शुरू हुआ था और इसे 19 साल हो चुके हैं। मैं अपने करियर को लेकर उलझन में था और मैं इसे कैसे खत्म करूंगा। अगर आईपीएल 2019 में मैं और मैच खेलता तो मुझे खुशी होती और मैं इस खेल को छोड़कर ज्यादा खुश होता। यह मेरा सपना था लेकिन आपको जीवन में सब कुछ नहीं मिलता है। मैंने पिछले साल फैसला किया था कि यह आईपीएल मेरा आखिरी होगा और मैं इसे अपना सर्वश्रेष्ठ शॉट दूंगा।"

हालांकि टीम बनी थी विजेता

हालांकि टीम बनी थी विजेता

बता दें कि युवराज ने 4 मैच खेले थे जिसमें 98 रन बने। हालांकि मुंबई ने फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स को हराकर खिताब पर चाैथी बार कब्जा कर लिया था। आईपीएल में युवराज नीलामी के दाैरान बिकने वाले सबसे महंगे खिलाड़ी हैं जिनकी बोली 16 करोड़ तक लगी है। इनके नाम आईपीएल में खेले 132 मैचों में 2750 रन दर्ज हैं जिसमें 13 अर्धशतक दर्ज हैं। युवराज को भारतीय टीम से विदाई ना मिलने का दुख रहेगा, हालांकि वीरेंद्र सहवाग, गाैतम गंभीर जैसे नामी खिलाड़ियों को विदाई मैच नहीं मिला था।

क्रिकेट करियर

क्रिकेट करियर

37 वर्षीय युवराज ने आखिरी बार जून 2017 में भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था और 304 एकदिवसीय मैचों में 36.56 की औसत से 8701 रन बनाए जिसमें 14 शतक और 52 अर्द्धशतक रहे। उन्होंने 40 टेस्ट खेले जिसमें उन्होंने तीन शतकों के साथ 33.92 की औसत से 1900 रन बनाए जबकि 58 टी20 में उन्होंने 28.02 की औसत से 8 अर्धशतक के साथ 1177 रन बनाए हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, June 10, 2020, 6:14 [IST]
Other articles published on Jun 10, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X