रवि शास्त्री ने बताया, आर अश्विन अब क्यों नहीं है टेस्ट मैचों में टीम की पहली पसंद

नई दिल्ली: कुछ समय पहले तक भारतीय टीम के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन टेस्ट मैचों में टीम के बहुत ही महत्वपूर्ण सदस्य माने जाते थे। 65 टेस्टों में 342 विकेट चटकाने वाले इस गेंदबाज की जगह पिछले कुछ समय से टेस्ट टीम में नियमित नहीं रही है। 33 साल के इस ऑलराउंडर का ऐसा हाल देखकर क्रिकेट फैंस ही नहीं इस खेल के पंडित भी ताज्जुब में है। जिस समय अश्विन अपने खेल के चरम पर चल रहे थे उस समय बिना किसी शोर शराबे में टीम इंडिया में कुलदीप यादव और चहल जैसे युवा कलाई के स्पिनरों की एंट्री हुई और देखते ही देखते इन स्पिनरों ने वनडे क्रिकेट से अश्विन को साइड कर दिया। अब टेस्ट मैचों में भी अश्विन युवा स्पिनरों के सामने अपनी जगह बनाने के लिए जूझ रहे हैं।

क्यों रखा गया अश्विन को बाहर?

क्यों रखा गया अश्विन को बाहर?

विश्व कप 2019 के बाद खेली गई दो मैचों की कैरेबियाई टेस्ट सीरीज में भी अश्विन को जगह नहीं दी जा सकी। हालांकि उनको दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आने वाली घरेलू टेस्ट सीरीज में जगह दी गई है लेकिन बड़ा सवाल यह है कि क्या अश्विन को अंतिम ग्यारह में जगह दी जाएगी? इन सब सवालों के बीच टीम के हेड कोच रवि शास्त्री ने अश्विन पर बात की है। अश्विन को टीम से बाहर रखने के सवाल पर शास्त्री ने कहा है, 'अश्विन को बाहर रखना रणनीति का हिस्सा था जिसके बारे में मैं आपको ज्यादा नहीं बता सकता हूं। आपने वेस्टइंडीज में देखा कि क्या हुआ और नतीजा सबके सामने है।'

बुमराह की चोट पर अमूल ने शेयर किया डूडल, लिखी दिल छूने वाली बात

'अश्विन वर्ल्ड क्लास हैं लेकिन..'

'अश्विन वर्ल्ड क्लास हैं लेकिन..'

शास्त्री ने आगे कहा, 'आप मुझसे ये नहीं पूछ सकते कि प्लेयिंग इलेवन में कौन खेलेगा क्योंकि प्रत्येक खिलाड़ी हमारा हिस्सा है।' शास्त्री ने हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए यह कहा। शास्त्री ने माना है कि अश्विन एक विश्व स्तरीय स्पिनर हैं लेकिन उनको जडेजा और यादव जैसे गेंदबाजों ने टक्कर देनी शुरू कर दी है। शास्त्री ने कहा, 'तीन मैचों की टेस्ट सीरीज शुरू होगी और आपको आपके फैसले करने के लिए एक मौका मिलेगा। अश्विन विश्वस्तरीय हैं, हमारे पास रविंद्र जडेजा हैं वे भी वर्ल्ड क्लास है, कुलदीप यादव भी इसी श्रेणी के साबित होंगे, वह अभी भी युवा हैं।'

आंकड़े बयां करते हैं दूसरी तस्वीर-

आंकड़े बयां करते हैं दूसरी तस्वीर-

बता दें कि अश्विन भारत की ओर से सबसे तेज 300 टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं और सबसे ज्यादा टेस्ट विकेटों में मामले में भारत के चौथे सबसे सफल गेंदबाज हैं। उनसे ज्यादा विकेट अनिल कुंबले (619), कपिल देव (434), हरभजन सिंह (417) ने लिे हैं। इतना ही नहीं, अश्विन एक लोअर ऑर्डर बल्लेबाज भी हैं जो अच्छी तकनीक के साथ बैटिंग कर सकते हैं। अश्विन ने चार टेस्ट शतकों के साथ कुल मिलाकर 2,361 रन बनाए हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, September 27, 2019, 18:25 [IST]
Other articles published on Sep 27, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X