ना मैं अंधविश्वासी हूं, ना मेरा रन बनाना कोई तुक्का है- शार्दुल ठाकुर ने अपनी बैटिंग पर कही ये बात

नई दिल्लीः शार्दुल ठाकुर ने अपने छोटे से टेस्ट करियर में अब तक बॉलिंग से ज्यादा बैटिंग के लिए शोहरत हासिल की है। वह तेज बल्लेबाजी करके निचले क्रम पर कुछ शानदार साझेदारियों को अंजाम देते हैं और भारत को उस मैच में निर्णायक फायदा मिल जाता है। लेकिन बैटिंग शार्दुल का काम नहीं हैं, वैसे भी जब बल्लेबाजी की बात आती है तो शार्दुल ठाकुर के पास बढ़िया घरेलू नहीं है, लेकिन मुंबई के तेज गेंदबाज राष्ट्रीय टीम के लिए एक ऑलराउंडर के रूप में विकसित हुए हैं।

मुश्किल परिस्थितियों में आसान रन बनाने वाले शार्दुल ने ने कहा कि उन्हें किस्मत पर विश्वास नहीं है लेकिन उन्होंने अपनी बल्लेबाजी पर काफी मेहनत की है। ऑलराउंडर ने कहा कि टीम प्रबंधन उनकी बल्लेबाजी क्षमता पर अधिक भरोसा कर रहा है और उन्हें नेट्स पर बल्लेबाजी करने के लिए अधिक समय मिल रहा है।

भारत के नए 'ऑलराउंडर' शार्दुल ठाकुर-

भारत के नए 'ऑलराउंडर' शार्दुल ठाकुर-

ब्रिस्बेन में भारत की प्रसिद्ध जीत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट में उनके 67 रनों को कोई नहीं भूल सकता है। शार्दुल तब केवल अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे थे, उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजी आक्रमण पर, वाशिंगटन सुंदर के साथ 123 रनों की साझेदारी की, उस समय भारत अपनी पहली पारी में 6 विकेट पर 186 रनों पर सिमट गया था और ठाकुर ने बेड़ा पार कराया।

सितंबर 2021 में शार्दुल ने एक और पारी खेल दी, इस बार ओवल में चौथे टेस्ट में इंग्लैंड के आक्रमण को साफ करते हुए दोनों पारी में पचासा ठोका। शार्दुल ने पहली पारी में इंग्लैंड में सबसे तेज टेस्ट अर्धशतक लगाया और इसके बाद दूसरी पारी में एक और अर्धशतक लगाया क्योंकि भारत ने पहली पारी के घाटे को पार करते हुए एक शानदार जीत हासिल की।

IPL की सबसे बड़ी खूबसूरती क्या है, श्रीलंका के लीजेंड मुथैया मुरलीधरन ने दिया जवाब

रन के पीछे किस्मत नहीं- ठाकुर

रन के पीछे किस्मत नहीं- ठाकुर

शार्दुल का प्रथम श्रेणी का बैटिंग औसत 17.3 है लेकिन उन्होंने सिर्फ 4 टेस्ट में 3 अर्द्धशतक लगाए हैं।

शार्दुल ठाकुर ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया, "अगर किसी को लगा कि मेरी ब्रिस्बेन पारी महज एक झलक थी, तो उन्हें शुभकामनाएं! मुझे पता है कि मैं बल्लेबाजी कर सकता हूं। यह सिर्फ एप्लीकेशन की बात थी।"

"अब मुझ पर और अधिक विश्वास है। मुझे नेट्स पर नियमित रूप से बल्लेबाजी मिलती है। टीम प्रबंधन को मुझ पर भरोसा है कि मैं बल्ले से योगदान दूंगा। मैंने अब तक जो भी रन बनाए हैं, एक प्रक्रिया रही है जिसका मैंने पालन किया है; यह संयोग या किसी भाग्य के कारण नहीं है।"

टोने-टोटके में यकीन नहीं-

टोने-टोटके में यकीन नहीं-

अपनी बात कहने के लिए जाने जाने वाले शार्दुल ने कहा कि वह अंधविश्वास में नहीं बल्कि बल्ले से अपनी क्षमता पर विश्वास करते हैं।

"मैं उस तरह का व्यक्ति नहीं हूं, जो पहले बाएं पैर पर पैड पहनेगा और बस या ड्रेसिंग रूम में एक विशिष्ट स्थान पर बैठेगा। मुझे इन सभी अंधविश्वासी गतिविधियों की तुलना में अपने खेल पर अधिक भरोसा है!"

भारतीय खेमे में कोविड -19 के डर के कारण मैनचेस्टर में 5 वें और अंतिम टेस्ट रद्द होने के बाद शार्दुल यूएई पहुंचे। वह चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलेंगे। शार्दुल में भारत टेस्ट क्रिकेट के ऐसे बॉलिंग ऑलराउंडर की संभावनाएं देखने लगा है जिसकी टीम को सख्त जरूरत है। स्पिन ऑलराउंडर मौजूद हैं और तेज गेंदबाजीं में हार्दिक पांड्या से अब तक निराशा मिली है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 भविष्यवाणी
Match 7 - October 20 2021, 03:30 PM
नामीबिया
Netherlands
Predict Now

Story first published: Thursday, September 16, 2021, 15:21 [IST]
Other articles published on Sep 16, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X