इस युवा को हार्दिक का विकल्प बनते देखना चाहते हैं गावस्कर, ज्यादा मौका देने की मांग की

नई दिल्लीः भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज और कप्तान सुनील गावस्कर को लगता है कि भारत की सीनियर टीम के पास वेंकटेश अय्यर को तराशने का बढ़िया मौका है। वेंकटेश अय्यर भारतीय क्रिकेट में नई युवा सनसनी है जो बाए हाथ से तूफानी बैटिंग करते हैं। अगर वे चल गए तो उनमें युवराज सिंह और सुरेश रैना के बेहतर दिन दिखाई देते हैं। भारत को अय्यर में संभावनाएं दिखती हैं कि क्योंकि टीम के पास बाए हाथ के आक्रामक बल्लेबाज की कमी हमेशा रही है। यहां पर अय्यर के सामने भी युवराज सिंह की परंपरा को आगे बढ़ाने का मौका आया है।

चयन पर सवाल, सुनील गावस्कर ने कहा- राहुल चाहर यही सोच रहें होंगे उन्होंने क्या गलत कर दियाचयन पर सवाल, सुनील गावस्कर ने कहा- राहुल चाहर यही सोच रहें होंगे उन्होंने क्या गलत कर दिया

वेंकटेश अय्यर को तराशने को मौका- गावस्कर

वेंकटेश अय्यर को तराशने को मौका- गावस्कर

भले ही अय्यर ने कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए आईपीएल में ओपनिंग करते हुए झंडे गाड़े हों लेकिन गावस्कर का मानना है कि टीम इंडिया नंबर छह या सात पर वेंकटेश का इस्तेमाल कर सकती है और वे मध्यम तेज गति से गेंदबाजी करके भी योगदान दे सकते हैं।

गावस्कर ने इंडिया टुडे से बातचीत करते हुए बताया कि, निश्चित तौर पर अय्यर को तराशा जा सकता है। अगर आप उनको नंबर छह या सात पर खिलाने के लायक बना सकते हैं और फिर गेंदबाजी में भी सुधार कर सकते हैं तो आपके पास एक बढ़िया विकल्प मौजूद रहेगा।

'विजय शंकर, शिवम दुबे से ज्यादा मौका मिले'

'विजय शंकर, शिवम दुबे से ज्यादा मौका मिले'

बल्लेबाजी दिग्गज ने कहा कि भारत पिछले तीन चार सालों से एक विकल्प पर ही टिका रहा है और विजय शंकर व शिवम दुबे जैसे खिलाड़ियों को पर्याप्त मौका नहीं दिया गया है। इन खिलाड़ियों को टी20 वर्ल्ड कप की रेस में कुछ मौकों पर चमकने का भी मौका मिला लेकिन पूरी तरह कोई भी चमक बिखेर नहीं सका।

भारतीय टीम प्रबंधन ने हार्दिक पांड्या पर काफी निवेश किया है जिनको 2016 से टी20 वर्ल्ड कप तक 54 मैच खिलाए गए, विजय शंकर को 2016 से 2018 तक 9 ही मैच खिलाए और शिवम दुबे ने तो 13 ही मैच खेले। हार्दिक पांड्या की गेंदबाजी करने की क्षमता खो जाने के बावजूद भारत लगातार उनको मौका देता रहा। हार्दिक पर ही अधिक निर्भरता भारत को भारी पड़ी और यह टी20 वर्ल्ड कप के जरिए पता लग गया।

गावस्कर ने कहा, भारत एक ही विकल्प में उलझा रहा

गावस्कर ने कहा, भारत एक ही विकल्प में उलझा रहा

इसलिए गावस्कर कहते हैं कि पिछले तीन चार साल में बस एक ही विकल्प पर भारत उलझा रहा है जबकि बाकी खिलाड़ियों पर अधिक ध्यान नहीं दिया गया है। अब गावस्कर को उम्मीद है कि वेंकटेश अय्यर एक ऐसे ऑलराउंड विकल्प साबित हो सकते हैं जो हार्दिक पांड्या की क्षमता वाले हरफनमौला खिलाड़ी का उम्दा विकल्प साबित हो जाएं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, November 10, 2021, 17:56 [IST]
Other articles published on Nov 10, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X